Asianet News HindiAsianet News Hindi

भाजपा के इस मंत्री का दावा, NPR नहीं भरने पर चुनाव नहीं लड़ पाएंगे अखिलेश

 समाजवादी पार्टी एनआरसी और एनपीआर का विरोध कर रही है। अखिलेश यादव ने कहा था कि बीजेपी के लोग तय नहीं करेंगे कि हम नागरिक हैं या नहीं। साथ ही कहा था कि मैं कोई फॉर्म नहीं भरने जा रहा।

This BJP minister claims, Akhilesh will not contest elections if he does not fill NPRASA
Author
Saharanpur, First Published Jan 12, 2020, 12:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सहरानपुर (Uttar Pradesh) । केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने सपा मुखिया अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला है। अखिलेश के एनपीआर ( नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर) फॉर्म नहीं भरने के दावे पर पलटवार करते हुए कहा कि वो अगर इस फार्म को नहीं भरेंगे तो चुनाव नहीं लड़ पाएंगे, क्योंकि कानूनी तौर पर भी यही नियम है। इस नियमों का जो पालन नहीं करेगा उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी

सपा कर रही है विरोध
बता दें कि समाजवादी पार्टी एनआरसी और एनपीआर का विरोध कर रही है। अखिलेश यादव ने कहा था कि बीजेपी के लोग तय नहीं करेंगे कि हम नागरिक हैं या नहीं। साथ ही कहा था कि मैं कोई फॉर्म नहीं भरने जा रहा।

रैली को किए संबोधित
केंद्रीय मंत्री व भाजपा नेता संजीव बालियान सहारनपुर में संशोधन नागरिकता कानून के समर्थन में आयोजित रैली को संबोधित किए। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने सभी को एनपीआर के बारे में समझाया भी। साथ ही कहा कि अगर आप इसे नहीं भरेंगे तो आपको चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं मिलेगी।

जानिए, क्या है एनपीआर
एनपीआर भारत में रहने वाले सामान्य निवासियों का एक रजिस्टर है। यह यहां रहने वाले लोगों (निवासियों) का रजिस्टर है। इसे ग्राम पंचायत, तहसील, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर तैयार किया जाता है। नागरिकता कानून, 1955 और सिटिजनशिप रूल्स, 2003 के प्रावधानों के तहत यह रजिस्टर तैयार होता है। समय-समय पर अपडेट करना एक सामान्य प्रक्रिया है। इसका उद्देश्य देश में रह रहे लोगों का अपडेटेड डेटाबेस तैयार करना है, ताकि उसके आधार पर योजनाएं तैयार की जा सकें।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios