अमरोहा (Uttar Pradesh) । दो नर्स आपस में समलैंगिक शादी करने की जिद पर अड़ गईं हैं। परिजन और पुलिस ने किसी तरह दोनों को अलग कर दिया तो वह फोन पर एक-दूसरे से बात कर रही हैं। इससे परेशान एक युवती के परिजन एएसपी अजय प्रताप सिंह से मिले। आरोप लगाया कि दूसरी युवती उनके घर भी पहुंच जाती है और लगातार कॉल कर रही है। उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए, अन्यथा वह बेटी को पूरी तरह बिगाड़ कर रख देगी। 

ढाई साल से रहती हैं एक साथ
डिडौली कोतवाली क्षेत्र के की निवासी किसान की बेटी ढाई साल पहले अमरोहा के एक प्राइवेट अस्पताल में बतौर नर्स काम सीखने आई थी। यहां उसकी मुलाकात अमरोहा नगर के ही एक मोहल्ला की निवासी युवती से हुई। वह भी अस्पताल में बतौर नर्स काम करती थी। दोनों पक्की सहेली बन गईं। इस बीच दोनों सामाजिक मर्यादा लांघ कर एक दूसरे के साथ रहने लगीं। बताया जाता है की बीते दो साल से दोनों साथ ही रहती थीं। दोनों ने एक-दूसरे को पति-पत्नी के रूप में स्वीकार लिया था।

इस तरह खुला राज
दोनों युवतियां एक सप्ताह पहले अचानक गांव पहुंच गईं। अमरोहा निवासी युवती ने दूसरी युवती के परिजनों के सामने आपस में शादी करने की बात कही। इस पर परिजनों के होश उड़ गए। उन्होंने दोनों को समझाया, लेकिन वह टस से मस नहीं हुईं। लिहाजा परिजनों को पुलिस बुलानी पड़ी। डिडौली पुलिस गांव पहुंची तथा उन्हें समझाया। 

अब लगातार कर रही कॉल
लगभग दो घंटे तक जद्दोजहद चलती रही। पुलिस और परिजनों के समझाने पर अमरोहा निवासी युवती वापस लौट गई, लेकिन गांव में रहने वाली युवती ने हंगामा शुरू कर दिया। युवती ने परिजनों से साफ कह दिया कि वह अपनी सहेली से शादी करेगी तथा उसके बिना नहीं रहेगी। बाद में बामुश्किल देर शाम परिजनों ने समझा-बुझाकर उसे शांत किया, लेकिन वह उसके पास लगातार कॉल कर रही है। 

साहब मेरी बेटी को बचा लो..
अब एक युवती के परिजन एएसपी अजय प्रताप सिंह से मिले हैं। गुहार लगाते हुए कहा कि साहब, हमारी बेटी हमारे साथ घर है। अमरोहा निवासी युवती उसे परेशान कर रही है। कई बार घर आ चुकी है तथा लगातार फोन कर बरगला रही है। उन्होंने अमरोहा निवासी युवती के खिलाफ कार्रवाई कराने की मांग की है। 

(प्रतीकात्मक फोटो)