Asianet News HindiAsianet News Hindi

उन्नाव: ऑनलाइन मंगाई मूर्ति और जमीन में दिया छिपा, भगवान के प्रकट होने की बात कह पिता-पुत्रों ने किया बड़ा खेल

उन्नाव पुलिस ने आस्था के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले पिता पुत्रों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों ने ऑनलाइन मूर्ति मंगवा उनके जमीन से प्रकट होने का दावा किया था। 

unnao purchased online idols and said it came out of ground police arrested
Author
First Published Sep 1, 2022, 3:54 PM IST

उन्नाव: जनपद से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां पिता-पुत्रों ने ऑनलाइन देवी-देवताओं की मूर्तियां मंगवाकर उसे चुपचाप खेत में दबा दिया। इसके कुछ देर बाद ही दोनों ने खेत की खुदाई शुरू कर दी। दोनों ने खेत से दबी हुई मूर्तियों को निकाला और लोगों के बीच जाकर अफवाह फैला दी की मूर्तियां 500 साल पुरानी हैं। इसके बाद गांव में उन मूर्तियों के दर्शन और चढ़ावे के लिए मेला सा लग गया। 

unnao purchased online idols and said it came out of ground police arrested

सैकड़ों लोगों ने पहुंचकर किए दर्शन, चढ़ाया चढ़ावा
गांव महमूदपुर निवासी अशोक कुमार ने मंगलवार को अपने खेत में खुदाई शुरू की। इस दौरान उनके द्वारा धार्मिक मूर्तियां निकलने का दावा किया गया। इस दावे को सुनकर आसपास के ग्रामीण भी वहां पहुंच गए। पूरे दिन सैकड़ों की संख्या में भक्तों ने वहां पहुंचकर पूजा-अर्चना की और चढ़ावा चढ़ाया। वहीं खेत से पीली धातु की हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियां निकलने की खबर सुनते ही एसडीएम और आसीवन थाना प्रभारी भी मौके पर पहुंच गए। मामले की सूचना पुरातत्व विभाग को दी गई और मूर्तियों को अशोक के ही घर में रखवा दिया गया। मौके से अधिकारियों के जाते ही दूसरे दिन अशोक के बेटे रवि गौतम, विजय गौतम उन मूर्तियों को लेकर खेत में खोदे गए गड्ढे के पास लाल रंग कपड़े पर रखकर बैठ गए। इस बीच पिता और दोनों बेटों ने झोले से प्रसाद वितरण भी शुरू कर दिया। लोग वहां चढ़ावा चढ़ाने लगे और प्रसाद वितरण जारी रहा। 

unnao purchased online idols and said it came out of ground police arrested

डिलीवरी मैन ने थाने पहुंचकर बताई पूरी सच्चाई
मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन भीड़ को देखकर वह भी शांत हो गई। इस बीच शांति व्यवस्था बनाए रखने को लेकर दो पुलिसकर्मियों को वहां पर तैनात कर दिया गया। लोग पुलिस के सामने ही मूर्तियों पर चढ़ावा चढ़ाते रहे। इस बीच अशोक और उसके बेटे के द्वारा पास में रखा प्रसाद का वितरण किया जाता रहा। इस बीच डिलीवरी मैन गोरेलाल ने सोशल मीडिया पर फोटो देखकर मूर्ति और पिता-पुत्र को पहचान लिया। वह सीधे आसीवन थाने पहुंचा और पूरा सच पुलिस को बताया। बताया कि रवि गौतम में यह मूर्तियों का सेट मीशू कंपनी से 169 रुपए में मंगवाया था। इस सेट को 29 अगस्त को डिलीवर किया गया था। इससे जुड़ी रसीद भी उसने साझा की। इसके बाद पुलिस ने पिता पुत्रों को गिरफ्तार कर लिया। 

सीतापुर में 7 बच्चों का पिता करने जा रहा था 5वां निकाह, पत्नी समेत बेटे-बेटियों ने मिलकर कर डाली ऐसी हालत

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios