Asianet News HindiAsianet News Hindi

UP Election 2022: BJP ने जीत के लिए बड़े नेताओं को दी जिम्मेदारी, शाह, राजनाथ और नड्‌डा को बनाया प्रभारी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 ( UP Assembly Election 2022) में जीत के लिए भाजपा ( BJP) ने तैयारियां तेज कर दी हैं। पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) की अध्यक्षता में मिशन 2022 को लेकर गुरुवार को दिल्ली (Delhi) में यूपी चुनाव की रणनीति बनाने के लिए अहम बैठक हुई। इसमें बड़े नेताओं को बड़ी जिम्मेदारियां सौंपी गईं।
 

up election 2022 bjp high level meeting Delhi strategy for victory decides to vijay sankalp Yatra Prabhari UDT
Author
Lucknow, First Published Nov 19, 2021, 7:59 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ। भाजपा (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 ( UP Assembly Election 2022) को लेकर दिल्ली (Delhi) में एक बड़ी बैठक की और राज्य के चार हिस्सों से विजय संकल्प यात्रा आयोजित करने का फैसला लिया। बैठक में उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan), यूपी भाजपा प्रभारी राधा मोहन सिंह (Radha Mohan Singh), प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh), संगठन महामंत्री सुनील बंसल (Sunil Bansal) समेत पार्टी के अन्य सदस्य मौजूद थे। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बैठक के बाद कहा कि पार्टी ने उत्तर प्रदेश के चार हिस्सों से ‘विजय संकल्प यात्रा’ (Vijay Sankalp Yatra) आयोजित करने का फैसला किया है। उनके लिए प्रभारी भी नियुक्त किए गए हैं। गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) को बृज क्षेत्र और पश्चिम का प्रभारी बनाया गया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) को अवध और काशी क्षेत्र की जिम्मेदारी दी गई है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा को गोरखपुर और कानपुर क्षेत्र का प्रभारी बनाया गया है। क्षेत्र प्रभारी बूथ अध्यक्षों की निगरानी करेंगे।

दिल्ली में करीब 3 घंटे तक चलने वाले भाजपा के मंथन में चुनावी कार्यक्रमों को लेकर गहन चर्चा की गई। भाजपा में ऐसा पहली बार हुआ है कि दिग्गज चेहरों को क्षेत्रवार प्रभारी बनाया गया है। स्वतंत्र देव सिंह ने बताया कि इसमें यूपी चुनाव रणनीति और कार्यक्रमों को लेकर चर्चा हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के कार्यक्रमों को लेकर भी बातचीत हुई। बैठक में भाजपा का पूरा फोकस 'बूथ जीता तो चुनाव जीता' के फॉर्मूले पर रहा।

घोषणा पत्र को लेकर भी तैयारी
सिंह ने कहा कि सभी सदस्यों को पार्टी की संगठनात्मक गतिविधियों के प्रति अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए। सूत्रों ने बताया कि इससे पहले बुधवार को भाजपा घोषणा पत्र समिति ने भी घोषणा पत्र की रूपरेखा पर चर्चा के लिए लखनऊ में अपनी पहली बैठक की थी। 

विजय संकल्प यात्राओं के रूट तय हुए
बूथ अध्यक्षों की बैठक में विजय संकल्प यात्राओं के रूट तय किए गए हैं। उसके प्रभारी बना दिए गए हैं। जल्द ही तारीख भी तय कर दी जाएगी। बीजेपी दिसंबर के पहले हफ्ते में यूपी में रथ यात्रा (BJP Rath Yatra) निकालेगी। ये रथ यूपी के चार अलग-अगल रूटों पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पूर्वांचल, बुंदेलखंड, अवध, ब्रज क्षेत्रों से गुजरेंगे, जिनमें भाजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार की उपलब्धियों को जनता को बताई जाएंगी। इन रथयात्राओं में केंद्र और प्रदेश सरकार के मंत्री भी शामिल होंगे। मिशन उत्तर प्रदेश 2022 के लिए भाजपा पूरी तैयारी में जुटी हुई है। पार्टी के शीर्ष नेताओं ने राज्‍य के दौरे शुरू कर दिए हैं। भाजपा का खास जोर इस बार पूर्वांचल पर है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपनी यूपी यात्रा के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को 300 प्लस का मंत्र दिया है। अगले आम चुनाव का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा था कि उत्तर प्रदेश में जीत 2024 के लिए द्वार खोलेगी।

बीजेपी ने इन चुनाव प्रभारी-सहप्रभारियों को दिए निर्देश 
बैठक में बीजेपी ने एक बड़ा फैसला लिया है। पार्टी नेतृत्व ने चुनाव प्रभारियों और सहप्रभारियों को अपने-अपने प्रभार वाले क्षेत्र में अस्थायी निवास बनाकर अगले 4 महीने वहीं रहने के निर्देश दिए हैं। साथ ही पार्टी की रणनीति को जल्द से जल्द धरातल पर उतारने के निर्देश दिए। इसमें अर्जुन राम मेघवाल को आगरा, अन्नपूर्णा देवी को कानपुर, सरोज पांडेय को वाराणसी, कैप्टन अभिमन्यु को मेरठ, विवेक ठाकुर को गोरखपुर, शोभा करांदलाजे, धर्मेंद्र प्रधान और अनुराग ठाकुर को लखनऊ में भूमिका निभाने की जिम्मेदारी दी गई।

UP ELECTION 2022: विधानसभा चुनाव की तैयारियां तेज, BJP ने घोषणापत्र के लिए मांगे जनता से सुझाव, यहां भेजें

UP Election 2022: सपा विधायकों को ही नहीं अखिलेश पर 'भरोसा', पार्टी में फूट से पड़ेगा 'मिशन 2022' पर बड़ा असर

UP Election 2022: Dy CM मौर्य बोले-Akhilesh अपना नाम ‘अखिलेश अली जिन्ना’ और पार्टी का ‘जिन्नावादी पार्टी’ रखें

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios