Asianet News HindiAsianet News Hindi

इंदिरा गांधी के मौत के 37 साल बाद प्रियंका ने किया खुलासा, अंत समय में दादी ने राहुल भैया से कही थी ये बात..

मंच से दादी इंदिरा गांधी को याद करते हुए प्रियंका भावुक हो गईं। उन्होंने कहा कि वह (इंदिरा गांधी) जानती थीं कि उनकी हत्या की जा सकती है लेकिन वह कभी नहीं झुकीं क्योंकि उनके लिए आपके प्रति आस्था से बढ़कर कुछ नहीं था।

up election 2022, congress leader priyanka gandhi pratigya rally in gorakhpur
Author
Gorakhpur, First Published Oct 31, 2021, 9:05 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गोरखपुर :  उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) की सियासत में अपनी खोई हुई जमीन तलाशने में कांग्रेस (Congress)पुरजोर कोशिश में लगी हुई है। इसी कड़ी में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (priyanka gandhi) रविवार को सीएम योगी आदित्यनाथ (yogi adityanath) के गढ़ गोरखपुर में पहुंचीं। प्रियंका गांधी ने गोरखपुर में प्रतिज्ञा रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने जहां योगी आदित्यनाथ और मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। तो वहीं अपनी दादी और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर उनको याद कर भावुक भी हो गईं। 

क्या कहा प्रियंका गांधी ने
मंच से दादी इंदिरा गांधी को याद करते हुए प्रियंका भावुक हो गईं। उन्होंने कहा कि वह (इंदिरा गांधी) जानती थीं कि उनकी हत्या की जा सकती है, उन्होंने मुझसे और भैया राहुल गांधी से कहा था कि बेटा मुझे कुछ हो जाए तो रोना नहीं। उन्हें पता था कि उनकी हत्या हो सकती थी लेकिन वह कभी नहीं झुकीं क्योंकि उनके लिए आपके प्रति आस्था से बढ़कर कुछ नहीं था। उनकी शिक्षाओं के कारण ही मैं आपके सामने खड़ी हूं और आपका विश्वास भी कभी नहीं तोड़ूंगी।

 

अमित शाह के दूरबीन वाले बयान पर पलटवार
प्रियंका गांधी ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (amit shah) पर भी निशाना साधा। उन्होंनेने कहा कि मैं अमित शाह का बयान सुन रही थी। वे कह रहे थे कि उत्तर प्रदेश में आज अपराधियों को ढूंढना होता है, तो दूरबीन की जरूरत पड़ती है जबकि उनके पास अजय मिश्रा खड़े थे। जिनके बेटे ने किसानों को कुचल दिया। मैं उन्हें कहना चाहती हूं कि दूरबीन छोड़िए चश्मा लगाइए। प्रियंका गांधी ने कहा, महिलाएं समझदार होती हैं। महिलाओं में लड़ने की क्षमता होती है। महिलाओं के खिलाफ अत्याचार हुआ है लेकिन जब राजनीति में और महिलाएं आएंगी, तो हम उनका सामना करेंगे।

किसानो से सरकार को लेना देना ही नहीं
प्रियंका गांधी ने कहा कि जब पीएम मोदी (narendra modi) 8000 करोड़ के विमान में इटली जाते हैं, तो लगता है कि शायद पीएम हमारे देश की शोभा बढ़ा रहे हैं लेकिन जब मैं जाती हूं, तो सच्चाई कुछ और नजर आती है। मैं प्रयागराज में निषादों के गांव में गई थी, वहां पुलिस ने नाव जला दी थी। उन लोगों ने मुझे दिखाया कि उनकी नाव जला दी गई। नाव निषादों की मां होती है। इसी तरह से लखीमपुर में किसानों को कुचला गया। सरकार ने दिखा दिया कि किसानों की उनको बिल्कुल चिंता नहीं है। गोरखनाथ के विचारों के विपरीत सीएम योगी शासन चला रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-जो बीत गया वह नहीं सुलझेगा' जानिए कांग्रेस पर क्या बोले कैप्टन, BJP और आगे की रणनीति पर दिया ये जवाब

किसानों ने किया स्वागत
कांग्रेस की यूपी चुनाव प्रभारी प्रियंका गांधी दोपहर करीब दो बजे रैली के मंच पर पहुंचीं। इस दौरान उनका सबसे पहले स्वागत पंजाब के किसानों ने किया। मंच के ठीक सामने सिर पर हरी टोपी पहने किसान आंदोलन समर्थक नजर आ रहे थे। मंच के सामने उमड़ी भीड़ को देखकर प्रियंका ने सभी सबका अभिवादन किया।

भूपेश बघेल ने सरकार को आड़े हाथों लिया
रैली को संबोधित करते हुए सबसे पहले छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (bhupesh baghel) ने मंच से कहा कि सीएम योगी ने प्रियंका गांधी पर तंज कसा था कि ये झाड़ू लगाने के लिए हैं। मगर इस देश की लड़कियां झाड़ू लगाना तो जानती हैं पर जब देश को जरूरत होती है तो रानी लक्ष्मीबाई और दुर्गा भी बन जाती हैं। उन्होंने भाजपा की कथनी-करनी पर हमला करते हुए कहा कि हमने छत्तीसगढ़ में किसानों का कर्जा शपथ ग्रहण के कुछ घंटों के अंदर माफ कर दिया। हमने संकल्प लिया है की धान 2500 और गन्ना किसानों को 400 एमएसपी देगें। किसान मजदूर नौजवान सब परेशान हैं। उन्होंने यह भी कहा कि ये लोग गौभक्त बनते हैं, हमने छत्तीसगढ़ में 10 हजार गौशाला बनाने का संकल्प किया है और हमने तो गोबर भी खरीदा है मगर हम विकास की राजनीति की ही बात करते हैं।

ओबीसी वर्ग पर कांग्रेस की नजर
गोरखपुर-बस्ती मंडल की 41 सीटों को एक साथ कांग्रेस के पाले में करने के लिए इस रैली का आयोजन किया गया। इस बीच रैली स्थल के चारों ओर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की बड़ी-बड़ी तस्वीरों को लगाया गया। तस्वीरों में उन्हें ओबीसी का सबसे अहम कांग्रेसी नेता दिखाया जा रहा है। इससे अंदाजा लगाया जा रहा था कि कांग्रेस ने इस रैली के आयोजन के साथ ही ओबीसी वर्ग को अपने खेमे में लाने की तैयारी की है। वहीं, रैली के मंच पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, माइनॉरिटी सेल के राष्ट्रीय चेयरमैन इमरान प्रतापगढ़ी, सलमान खुर्शीद, पीएल पुनिया, प्रमोद तिवारी, पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह, सांसद दीपेंद्र हुड्डा समेत कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें-चुनावी फुर्सत मिली तो ये क्या करने लगे CM Shivraj हाथों का हुनर देख लोगो बोले-गजब मामा..किया बड़ा ऐलान

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios