Asianet News HindiAsianet News Hindi

UP Assembly Election 2022: Mayawati का ऐलान- इस बार किसी पार्टी से गठबंधन नहीं, अपने दम पर लड़ेंगे चुनाव

BSP प्रमुख मायावती (Mayawati) ने कहा है कि बहुजन समाज पार्टी किसी भी दूसरी पार्टी के साथ किसी भी तरह का कोई चुनावी समझौता नहीं करेगी। BSP अकेले अपने दम पर विधानसभा का चुनाव लड़ेगी और जीत हासिल करेगी। मायावती यहां मंगलवार को पत्रकारों को संबोधित कर रही थीं। मायावती ने कहा कि आज लोगों को बरगलाने का काम शुरू हो गया है। जनता बीजेपी के बहकावे में न आए, उसके कथनी और करनी में बहुत अंतर है।

UP Lucknow Mayawati announced BSP will not make alliance with any party in assembly elections 2022 UDT
Author
Lucknow, First Published Nov 9, 2021, 4:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) नजदीक आ गया है। इसके साथ ही राजनीतिक दलों ने अपने पत्ते खोलने शुरू कर दिए हैं। बसपा (BSP) प्रमुख मायावती (Mayawati) ने मंगलवार को बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा है कि इस बार किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं किया जाएगा। बल्कि बसपा अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। मायावती ने कहा कि चुनाव आते देख भाजपा सरकार (Yogi Government) आधी-अधूरी योजनाओं का ही लोकार्पण और शिलान्यास कर रही है। जनता उनके झांसे में नहीं आएगी।

मायावती ने कहा कि BSP किसी भी दूसरी पार्टी के साथ किसी भी तरह का कोई चुनावी समझौता नहीं करेगी। BSP अकेले अपने दम पर विधानसभा का चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि हम जनता से गठबंधन करेंगे और प्रदेश में सरकार बनाएंगे। उन्होंने कहा कि चुनाव आते देख भाजपा ताबड़तोड़ सरकारी योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण कर रही है। ये योजनाएं अभी आधी-अधूरी ही हैं। जनता इनके झांसे में नहीं आएगी। उन्होंने कांग्रेस और सपा पर भी निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस भी भाजपा की राह पर है, इसलिए लगातार लोकलुभावन घोषणाएं कर रही है। अगर उन्होंने सत्ता में रहते हुए 50 फीसदी भी अपने वादे पूरे किए होते तो आज केंद्र की सत्ता से बाहर न होते। मायावती ने कहा कि जनता सपा के चुनावी वादों पर यकीन नहीं करेगी और उन्हें वोट नहीं देगी। 

बीजेपी आपदा में अवसर तलाशती है: मायावती
मायावती ने कहा कि बीजेपी ने 2017 में किए चुनावी वादों में से 50 फीसदी को भी पूरा नहीं किया। अब जब चुनाव नजदीक है तो दिखावे के लिए उद्घाटन, शिलान्यास और घोषणाएं की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि जो फ्री राशन दिए जाने की बात कही जा रही है वह चुनाव खत्म होते ही रोक दी जाएगी। आज लोगों को बरगलाने का काम शुरू हो गया है। जनता बीजेपी के बहकावे में न आए, उसके कथनी और करनी में बहुत अंतर है। उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी आपदा में अवसर तलाशती है। यूपी में जो भी काम हुआ, वह सिर्फ बसपा सरकार में हुआ।

हार के डर से पेट्रोल-डीजल के दाम कम किए
मायावती ने कहा कि आज जब चुनाव नजदीक है तो नाटक शुरू है। गरीबों को फ्री राशन बीजेपी सरकार का सिर्फ चुनावी एजेंडा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी और सपा में कोई अंतर नहीं है। सपा की ही तरह बीजेपी भी आधे अधूरे प्रोजेक्ट्स का उद्घाटन कर रही है। उन्होंने कहा कि महंगाई चरम पर है। हार की डर से ही केंद्र और प्रदेश की सरकार ने पेट्रोल और डीजल के दाम काम किये हैं। ये घोषणाएं सिर्फ चुनाव के लिए हैं। चुनाव के बाद सब बंद हो जाएंगी।

चुनाव नजदीक, इसलिए जिन्ना मुद्दा उठाया गया
मायावती ने कहा कि चुनाव नजदीक है, लिहाजा लोगों को बांटने का काम किया जा रहा है। जिन्ना मुद्दा भी जानबूझकर उठाया गया है। जनता इनके बहकावे में न आए। उन्होंने कहा कि वर्षों तक सत्ता में रहने वाली कांग्रेस आज कई राज्यों में हार रही है, क्योंकि अगर उन्होंने काम किया होता तो ऐसा न होता। आज जो कांग्रेस सपा की तरह चुनावी वायदे कर रही है, जनता नहीं उस पर भरोसा नहीं करने वाली। अगर उन्होंने 50 फीसदी वादे भी पूरे किए होते तो आज ये स्थिति न होती।

यूपी में चुनाव से पहले जिन्ना की एंट्री, तारीफ कर बुरे फंसे अखिलेश यादव, योगी-ओवैसी से लेकर मायावती ने घेरा

UP में BSP से विधानसभा टिकट चाहिए तो देनी होगी कड़ी परीक्षा, 4 चरणों में होगा इंटरव्यू, पूछे जाएंगे ऐसे सवाल

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios