Asianet News HindiAsianet News Hindi

बलरामपुर: कलयुगी बेटे ने मां के सिर पर डंडे से वार कर उतारा मौत के घाट, वजह जानकर पुलिस के भी उड़े होश

मृतका के पति प्रेम नारायण ने पुरानी रंजिश में हत्या का आरोप लगाते हुए अपने पटीदारों बैजनाथ गिरि, भगवती गिरि, लवकुश व संजय को नामजद किया था। घटना के राजफाश के लिए गठित टीम ने गहनता से छानबीन की तो मृतका के बेटे ने अपराध स्वीकार कर लिया। 

UP News Balrampur Kaliyugi son beat his mother to death with a stick
Author
Balrampur, First Published Aug 7, 2022, 7:09 PM IST

बलरामपुर: कलयुगी बेटे ने मां के सिर पर डंडे से वार कर मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने चौकाने  वाला खुलासा करते हुए बताया कि मां बेटे को संतान न होने पर उलाहना देती थी जिससे गुस्साए बेटे ने उसको मौत के घाट उतार दिया। देहात कोतवाली के रघवापुर गोसाईंपुरवा में तीन अगस्त को हुई प्रेमा देवी की हत्या का पुलिस ने राजफाश कर दिया है। प्रेमा देवी को उसके अपने बेटे नंदलाल ने बांस के डंडे से सिर पर वार कर मौत के घाट उतारा था। 

मृतका के पति प्रेम नारायण ने पुरानी रंजिश में हत्या का आरोप लगाते हुए अपने पटीदारों बैजनाथ गिरि, भगवती गिरि, लवकुश व संजय को नामजद किया था। घटना के राजफाश के लिए गठित टीम ने गहनता से छानबीन की तो मृतका के बेटे ने अपराध स्वीकार कर लिया। पुलिस ने अभियुक्त को जेल भेज दिया है।

बेटे को बचाने के लिए घरवालों ने रचि साजिश
अपर पुलिस अधीक्षक नम्रिता श्रीवास्तव ने बताया कि चार अगस्त को प्रेमा देवी क शव रघवापुर गांव के पास गन्ने के खेत में पड़ा मिला था। मृतका के पति प्रेम नारायण ने दी गई तहरीर में आरोप लगाया कि गांव के ही बैजनाथ आदि से जमीनी विवाद को लेकर मुकदमेबाजी चल रही है। इसी रंजिश में बैजनाथ, भगवती, लवकुश व संजय ने प्रेमा की हत्या की है। 

जांच में हुआ चौकाने वाला खुलासा
उन्होंने कहा कि तहरीर के आधार पर चारों आरोपितों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू की गई। विवेचना के दौरान प्रकाश में आया कि प्रेमा देवी तीन अगस्त को दोपहर दो बजे से लापता थी। घर वालों ने पुलिस को अगले दिन सूचना दी थी। वादी ने जिन लोगों पर हत्या का आरोप लगाया था, उनके कार्यस्थल व काल डिटेल से मिले लोकेशन की पड़ताल की गई।

पूछताछ में आरोपी बेटे ने किया खुलासा
उनके लोकेशन घटनास्थल के आसपास भी नहीं पाए गए। कड़ाई से पूछताछ में पता चला कि प्रेमा देवी के बेटे नंदलाल के कोई संतान नहीं थी। इस पर आए दिन नंदलाल को उलाहना देती थी। तीन अगस्त को दूध खराब होने को लेकर मां-बेटे में कहासुनी हो गई। दोपहर में खेत पर भी कहासुनी हुई, तो नंदलाल ने क्रोध में आकर बांस के डंडे से मां पर हमला बोल दिया। गन्ने के खेत की मेड़ पर ही प्रेमा की मृत्यु हो गई, लेकिन उसने परिवारजन से यह बात छुपाई। अगले शव मिलने पर उसके पिता ने विपक्षियों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। नंदलाल की निशानदेही पर आलाकत्ल बांस का डंडा बरामद कर लिया गया है।

गोंडा: दो पक्षों के विवाद में गई होमगार्ड की जान, पुलिस पर लगा गंभीर आरोप

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios