Asianet News HindiAsianet News Hindi

DGP Conference in Lucknow : मंथनों का दौर खत्म, आज PM Modi अफसरों को करेंगे सबोंधित

लखनऊ में 56वीं ऑल इंडिया डीजीपी-आईजीपी कांफ्रेंस का तीसरा और आखिरी दिन आज है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह करीब पूरा दिन कांफ्रेंस में मौजूद रहेंगे। पीएम मोदी सुबह सवा नौ बजे से शाम के करीब चार बजे तक कांफ्रेंस में रहेंगे। वे देश के शीर्ष पुलिस अफसरों को आज संबोधित करेंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री शाम 4:30 बजे नई दिल्ली रवाना होंगे। यह कांफ्रेंस यूपी पुलिस मुख्यालय सिग्नेचर बिल्डिंग में चल रही है।

uttar pradesh, lucknow, DGP Conference pm narendra modi will conclude conference sunday stb
Author
Lucknow, First Published Nov 21, 2021, 8:06 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ :  उत्तर-प्रदेश (uttar pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में देश की आंतरिक सुरक्षा को लेकर चल रहे तीन दिवसीय डीजीपी कांफ्रेंस का पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra modi) आज समापन करेंगे। आज 56वीं ऑल इंडिया डीजीपी-आईजीपी कांफ्रेंस का तीसरा और आखिरी दिन है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) करीब पूरा दिन कांफ्रेंस में मौजूद रहेंगे। पीएम मोदी सुबह सवा नौ बजे से शाम के करीब चार बजे तक कांफ्रेंस में रहेंगे। वे देश के शीर्ष पुलिस अफसरों को आज संबोधित करेंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री शाम 4:30 बजे नई दिल्ली रवाना होंगे। यह कांफ्रेंस यूपी पुलिस मुख्यालय सिग्नेचर बिल्डिंग में चल रही है। प्रधानमंत्री शनिवार को इस सम्मेलन में शामिल हुए और उन्होंने पुलिस अफसरों के साथ करीब 12 घंटे बिताए। रात में उन्होंने पुलिस अफसरों के साथ डिनर भी किया। 

आंतरिक सुरक्षा पर मंथन
शनिवार को करीब 12 घंटे तक पीएम की मौजूदगी में पुलिस अफसरों के साथ जो मंथन हुआ, उससे साफ होता है कि केंद्र सरकार आतंरिक सुरक्षा को लेकर चिंतित है और राज्य सरकार केंद्र सरकार से मिलकर किस तरह से देश की आतंरिक सुरक्षा को मजबूत कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुलिस अफसरों के साथ आंतरिक सुरक्षा पर मंथन किया। उन्होंने बढ़ती चुनौतियों से निपटने पर भी बात की। पीएम ने कहा कि राज्यों में आपसी संघर्ष और भेदभाव के छोटे-छोटे मुद्दों को सामान्य तौर पर कानून व्यवस्था के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए, बल्कि इसे बड़ी साजिश के रूप में देखते हुए तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सुरक्षा की चुनौती अब सिर्फ कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं रह गई है, बल्कि यह चौथी पीढ़ी के युद्ध का अहम हिस्सा बन गया है। सीमा पर आमने-सामने आने के बजाय दुश्मन देश के भीतर अस्थिरता पैदा करने की साजिश कर रहे हैं।

विदेशी फंडिग, आतंकवाद पर भी मंथन
प्रधानमंत्री ने आंतरिक सुरक्षा के साथ-साथ आतंकवाद, साइबर अपराध, तटीय सुरक्षा, नक्सलवाद, मादक पदार्थों की तस्करी के तरीकों में बदलाव और अन्य चुनौतियों पर विचार-विमर्श किया। इसके साथ ही उन्होंने महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए और तैयारियों की भी जांच की गई। पीएम मोदी ने पुलिस अफसरों से सीमा पर पलायन, देश को बदनाम करने के लिए विदेश से फंडिंग और इसमें एनजीओ की भूमिका पर विस्तृत चर्चा की और राज्यों की पुलिस और जांच एजेंसियों के बीच समन्वय बढ़ाने की बात दोहराई गई।

शनिवार को ऐसा रहा कार्यक्रम
पीएम शनिवार को सुबह करीब 9.20 बजे राजभवन से गोमतीनगर एक्सटेंशन स्थित पुलिस मुख्यालय पहुंचे और करीब 8.45 बजे तक मौजूद रहे। तीन दिवसीय 56वें पुलिस महानिदेशक/महानिरीक्षक सम्मेलन के दूसरे दिन प्रधानमंत्री ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) की मौजूदगी में आंतरिक सुरक्षा की चुनौतियों पर चर्चा की और रणनीति बनाने पर जोर दिया> बैठक में सुरक्षा की चुनौतियों से निपटने की चुनौतियों और तैयारियों के बारे में प्रेजेंटेशन भी दिया गया। राज्यों के डीजीपी, केंद्र शासित प्रदेशों, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के प्रमुखों और केंद्रीय पुलिस संगठनों प्रमुखों के साथ पीएम ने चाय पर चर्चा की।

इसे भी पढ़ें-PM Modi in Lucknow: मोदी आज डीजीपी कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेंगे, PHQ में डिनर, राजभवन में रात्रि विश्राम

इसे भी पढ़ें-UP Election2022: UP चुनाव से पहले प्रधानमंत्री मोदी का यूपी दौरा, CM योगी और बीजेपी को पहुंचेगा फायदा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios