Asianet News HindiAsianet News Hindi

UP Election2022: UP चुनाव से पहले प्रधानमंत्री मोदी का यूपी दौरा, CM योगी और बीजेपी को पहुंचेगा फायदा

2022 के विधानसभा चुनाव से ठीक पहले यूपी में तीन दिवसीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दौरान मुख्यमंत्री योगी और बीजेपी को बड़ा फायदा पहुंचा सकता है। बीजेपी हर चुनाव की तरह इस चुनाव में भी पीएम मोदी के फेस लेकर सत्ता में आना चाहती है। पुराने समीकरणों को देखा जाए तो पीएम मोदी का यूपी आना बीजेपी के किसी मास्टर स्ट्रोक से कम नहीं है। 
 

UP News: Before the assembly elections, PM Modi's visit to UP, CM Yogi and BJP will benefit, know how
Author
Lucknow, First Published Nov 20, 2021, 7:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनाव (2022 assembly elections) नजदीक हैं। ऐसे में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी( PM Narendra Modi) का यूपी दौरा बेहद अहम माना जा रहा है। या यूं कहें कि 19 नवम्बर को शुरू हुआ प्रधानमंत्री मोदी का 3 दिवसीय यूपी दौरा सीधे यूपी के विधानसभा चुनाव पर असर डाल सकता है। बीते लोकसभा और विधानसभा चुनावों (Lok Sabha and assembly elections) में देखने को मिला कि नरेंद्र मोदी के चेहरे को सामने रखने के बाद बीजेपी को बहुमत की सरकार बनाने के साथ बड़ा फायदा हुआ। लिहाजा, इस बार भी 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी(BJP)  अपनी पुरानी रणनीति के सहारे दुबारा यूपी की सत्ता में आने की कवायत में जुट गई है। बीजेपी के पुराने समीकरण को देखा जाए तो यूपी में प्रधानमंत्री को दौरा एक ओर भारतीय जनता पार्टी(Bhartiya Janta Party) और योगी को फायदा पहुंचा  सकता है। वहीं, विपक्ष को चुनाव में इसके नुकसान की उम्मीदें भी नजर आ रही हैं। 

PM मोदी ने यूपी दौरे में गिनाए सीएम योगी(CM Yogi)  के काम, सीधे योगी को पहुंचेगा फायदा

यूपी चुनाव(UP Election) से पहले प्रधानमंत्री मोदी का 3 दिवसीय दौरा सीएम योगी को सीधे फायदा पहुंचा सकता है। प्रधानमंत्री मोदी ने 19 नवम्बर को महोबा और झांसी पहुंचकर एक ओर बुन्देलखंडवासियों को अलग अलग परियोजनाओं की सौगात दी। वहीं, दूसरी ओर योगी सरकार के बीते सालों में जनता के लिए समर्पित रहे कामों को प्रदेशवासियों के बीच रखकर विपक्ष के हिंदुत्ववादी एजेंडे से घिरे सीएम योगी की इमेज को पॉजिटिव बनाने का काम किया। परियोजना(projects) का लोकार्पण करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि परिवारवादियों की सरकारों ने वर्षो तक बुंदेलखंड को प्यासा रखा। वहीं, कर्मयोगियों ने 2 साल के अंदर हर घर नल दिया। कर्मयोगियों की डबल इंजन सरकारों ने स्कूलों में बेटियों के लिए टॉयलेट बनवाए। इसके आगे उन्होंने कहा कि दशकों तक बुंदेलखंड के लोगों ने लूटने वाली सरकारें देखीं हैं। पहली बार बुंदेलखंड के लोग यहां के विकास के लिए काम करने वाली सरकार को देख रहे हैं। वो उत्तर प्रदेश को लूटकर नहीं थकते थे, हम काम करते-करते नहीं थकते हैं। ये समस्याओं की राजनीति करते हैं और हम समाधान की राष्ट्रनीति करते हैं। परिवारवादियों की सरकारें किसानों को सिर्फ अभाव में रखना चाहती थी, हमने किसानों के लिए पूरी रकम सीधे उनके घर तक पहुंचाई है।


यूपी की जनता को मोदी ने गिनाए विपक्षी दलों (opposition parties) की सरकारों में हुए काम

प्रधानमंत्री मोदी ने यूपी दौरे पर आकर मौजूदा योगी सरकार के कामों का ब्यौरा तो प्रदेश की जनता के आगे रखा है साथ ही बीते समय में विपक्षी दलों सरकारों के दौरान प्रदेश में हुए कामों का कच्चा चिट्ठा भी इशारों में यूपी की जनता के आगे रख दिया। पीएम मोदी ने मंच से लोगों को संबोधित करने के दौरान कई मुद्दों को उठाते हुए इशारों में विपक्षी दलों पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि दिल्ली और उत्तर प्रदेश की सरकारों ने इस क्षेत्र का दोहन किया। माफियाओं ने यहां के संसाधनों का दुरुपयोग किया और अब इनपर बुलडोज़र चल रहा है। पीएम मोदी ने इशारों में विपक्षियों पर हमला बोलते हुए कहा कि इन लोगों ने जैसा बर्ताव किया उसे बुंदेलखंड के लोग नही भूल सकते हैं। नलकूप ताल-तलैया के नाम पर इन लोगों ने फीते बहुत काटे लेकिन क्या किया ये आप भी जानते हैं। खुदाई पानी में कमीशन, सूखा राहत में घोटाले हुए। आपका परिवार बून्द-बून्द तरसे, इनसे उनका कोई सरोकार नहीं था। अलग अलग मुद्दों के सहारे योगी सरकार पर हमला बोल रहे विपक्षी दलों की जनता के मन में बन रही पॉजिटिव इमेज को प्रधानमंत्री मोदी ऐसे संबोधन ने दुबारा ने निगेटिव बनाने का काम किया। जिसका सीधा असर आगामी चुनाव में यूपी के भीतर सीएम योगी अथवा बीजेपी को मिल सकता है। 

यूपी दौरे से पहले किसान बिल वापस, 2022 के चुनाव में बीजेपी को मिलेगा फायदा

शुक्रवार को प्रधानमंत्री  मोदी ने यूपी दौरे की शुरुआत करने से पहले विवादित किसान बिल को वापस लेने का एलान किया था। ऐसे में बीते 2 सालों से किसानों का मुद्दा उठाकर योगी सरकार को घेरने व सत्ता वापसी का ख्वाब देख रहे विपक्षियों को एक बड़ा झटका मिला है। आपको बता दें कि कृषि बिल के चलते देश भर मवन किसानों का एक वर्ग लगातार आंदोलनों का सहारा ले रहा था। इसी को मुद्दा बनाकर सपा बसपा समेत अन्य दल भी अपने चुनावी प्रचार को जोर देने में लगे हुए थे। चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कृषि बिल वापस लेने का एलान करना, उत्तर प्रदेश में भाजपा को और अधिक मजबूती देने की ओर इशारा करता है।
UP ELECTION 2022: पीएम मोदी का झांसी दौरा, बुंदेलखंड की जमीन से कर सकते हैं बड़ा ऐलान

PM Modi in UP: महोबा पहुंचे PM मोदी ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए दिए ये बयान, UP चुनाव में डाल सकते हैं बड़ा असर

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios