फ्लोरिडा। एलॉन मस्क की कंपनी स्पेस एक्स ने रविवार को अमेरिका से दो एस्ट्रोनोट अंतरक्षि में भेजे। यह नौ साल में पहला मौका है जब अमेरिका ने अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेस में भेजा है। नासा के दो एस्ट्रोनोट रोबर्ट बेहनकन और डगल्स हारले टू स्टेज फॉल्कन-9 रॉकेट पर सवार होकर स्पेस की यात्रा कर रहे हैं। यह रॉकेट स्पेस की ऑर्बिट में 19 घंटे की यात्रा के बाद पहुंचेगा। अमेरिकी समय के अनुसार रॉकेट दोपहर 3 बजकर 22 मिनट (भारतीय समयानुसार शनिवार रात 1 बजे) पर लॉन्च किया गया था। इससे पहले साल 2011 में 21 जुलाई को स्पेस शटल प्रोग्राम लॉन्च किया गया था। इसके बाद से यह पहली बार है जब अमेरिकी धरती से एस्ट्रोनॉट स्पेस में भेजे गए हैं।
सूट डिजाइन करने में मस्क को लगे चार साल
एलॉन मस्क ने बताया कि एस्ट्रोनॉट्स ने जो सूट पहने हैं उन्हें बनाने में उनको 4 साल का वक्त लगा। यह सूट्स डिजाइनर हौजे फर्नांडिस ने बनाए हैं। फर्नांडिस कई साई फाई हॉलिबुड फिल्मों के कपड़े भी डिजाइन कर चुके हैं। मस्क ने कहा कि जैसे टेक्सीडो पहनने के बाद हर व्यक्ति अच्छा लगता है, फिर चाहे वह किसी भी शेप या साइज का हो। इन सूट्स को पहनकर एस्ट्रोनॉट्स जेएफ केनेडी स्पेस सेंटर से स्पेस की यात्रा शुरू करेंगे। इस सेंटर से इसके पहले भी कई बड़े मिशन लॉन्च किये जा चुके हैं। चांद पर जाने वाले अपोलो, मंगल पर जाने वाला मरीनर भी यहीं से लॉन्च किये गये थे। गौरतलब है कि भारतीय मूल की एस्ट्रॉनॉट कल्पना चावला का मिशन शटल कोलंबिया भी जेएफ केनेडी स्पेस सेंटर से ही लॉन्च किया गया था।
इसके पहले रूस से लेनी पड़ती थी मदद
अमेरिका ने 2011 के बाद से सभी तरह के स्पेस प्रोग्राम बंद कर दिए थे। अमेरिका के एस्ट्रोनॉट्स को स्पेस जाने के लिए रूस के सोयूज का सहारा लेना पड़ता था। गौरतलब है कि है एलॉन मस्क की स्पेस एक्स एक प्राइवेट कंपनी है। यह पहला मौका है जब किसी प्राइवेट कंपनी ने अपना रॉकेट स्पेस एक्स भेजा है।