Asianet News HindiAsianet News Hindi

अफ्रीकी देश बुरकिना फासो में जिहादी विद्रोहियों ने खेला खूनी खेल, 15 सैनिकों सहित 30 को मौत के घाट उतारा

पश्चिम अफ्रीकी देश बुरकिना फासो (Burkina Faso) में Al-Qaida और इस्लामिक स्टेट से जुड़े विद्रोहियों ने घात लगाकर 30 लोगों की हत्या कर दी।
 

Armed attack in Burkina Faso, 30 killed
Author
Burkina Faso, First Published Aug 6, 2021, 11:06 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बुरकिना फासो. पश्चिमी अफ्रीकी देश बुरकिना फासो  (Burkina Faso) में अलकायदा (Al-Qaida) और इस्लामिक स्टेट(Islamic State) से जुड़े उग्रवादियों ने घात लगाकर हमला करके 15 सैनिकों सहित 30 लोगों की हत्या कर दी। जिहादियों ने किसी को भी जान बचाकर भागने का मौका नहीं दिया।

गांवों में घुसकर किया हमला
उत्तरी बुरकिना फासो के रक्षा मंत्री के सहायक अइमे बर्थेलेमी सिमपोर (Aime Barthelemy Simpore) ने मीडिया को बताया कि जिहादी विद्रोहियों ने बुधवार को नाइजर (Niger) की सीमा के पास उडालन प्रान्त के मारकोये शहर (Markoye) के बाहर कई गांवों में उत्पाद मचाया। इस हमले के बाद सेना ने भी हवाई और जमीनी कार्रवाई की। इसमें विद्रोहियों के एक दर्जन लड़ाकों को मार गिराया। विद्रोहियों ने दिनदहाड़े इस हत्याकांड को अंजाम दिया। 

पहले खुद के लिए सुरक्षा घेरा बनाया और फिर की फायरिंग
जानकारी के मुताबिक विद्रोहियों ने पहले गांवों को चारों तरफ से घेरा, ताकि वे सुरक्षित रह सकें। इसके करीब 4 घंटे बाद घात लगाकर हमला किया। इस हमले के बाद सेना ने जवाबी कार्रवाई की। पूरे इलाके को अपने कब्जे में ले लिया। क्षेत्र के एक सहायता कर्मी ने द एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि मार्कोए से लगभग 40 किमी (25 मील) दूर गोरोम शहर में लगातार हमले बढ़ रहे हैं। इससे बड़ी संख्या में यहां से पलायन हो रहा है। इससे पहले यहां आतंकी संगठन अल-कायदा (Al-Qaida) और इस्लामिक स्टेट (Islamic State) से जुड़े लड़ाकों ने 16 जून को जबर्दस्त हिंसा फैलाई थी। उन्होंने उत्तरी हिस्से में पुलिस के गश्ती दल पर हमला किया था। इसमें 11 पुलिसकर्मी मारे गए थे। यहां अब तक हजारों बेगुनाहों की जान जा चुकी है। 13 लाख से अधिक लोग पलायन कर चुके हैं। अकेले जून में यहां के साहेल क्षेत्र में 160 लोगों को मारा गया।

आतंकवाद बनी एक बड़ी चुनौती
यहां इस्लामिक आतंकवाद एक बड़ी चुनौती बन गया है। हफ्तेभर पहले ही यहां जिहादियों ने 19 लोगों को मार डाला था। इनमें लगभग सभी सैनिक थे। आर्म्ड कॉन्फ्लिक्ट लोकेशन एंड इवेंट डेटा प्रोजेक्ट के वरिष्ठ शोधकर्ता हेनी नसाइबिया ने कहा कि यहां जिहादियों को रोकना एक बड़ी चिंता है।

यह भी पढ़ें
#afganistan: पिता से दुश्मनी निकालने तालिबानी लड़ाकों ने 100 कोड़े मारकर मासूम की पीठ कर दी छलनी
अफगानिस्तान में एयरपोर्ट पर हमलाः तीन रॉकेट दागे, सभी फ्लाइट्स कैंसिल, कंधार एयरपोर्ट पर कब्ज़ा चाहता तालिबान
11 साल के लड़के की जीभ पर रख दी जलती हुई रॉड, क्रूरता की ये कहानी सुन पुलिसवाले भी रह गए दंग

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios