Asianet News HindiAsianet News Hindi

लैंसेट का रिसर्च : मॉडर्ना की वैक्सीन दूसरी डोज के 5 महीने बाद भी काफी प्रभावी, 7 लाख से अधिक लोगों पर अध्ययन

यह रिसर्च (Research) संक्रमण, अस्पताल में भर्ती होने और कोविड​​​-19 (Covid 19) से मृत्यु (Death) के खतरे को कम करने में मॉडर्ना (Moderna) की कोविड​​​​-19 वैक्सीन (Vaccine) के प्रभाव को प्रमाणित करता है। अध्ययन में 7 लाख से अधिक हर उम्र और वर्ग के लोग शामिल रहे। 

Covid 19 Coronavirus Lancet Research  Moderna Vaccine very effective even after 5 months of second dose
Author
Los Angeles, First Published Dec 2, 2021, 3:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लॉस एंजिलिस। अमेरिकी ड्रग मैन्युफैक्चरर मॉडर्ना (moderna) की कोविड-19 (Covid 19) रोधी वैक्सीन (Vaccine) संक्रमण रोकने में 87 प्रतिशत तक कारगर है। एक रिसर्च में यह बात सामने आई है। इसके मुताबिक गंभीर बीमारी के खिलाफ यह वैक्सीन 95 प्रतिशत और मृत्यु के खतरे को टालने में 98 प्रतिशत तक कारगर है। ‘द लैंसेट रीजनल हेल्थ - अमेरिकाज जर्नल' में यह रिसर्च छपा है। 

प्रकाशित रिसर्च ने मॉडर्ना के कोविड-19 एम-आरएनए वैक्सीन की 5 महीने के इफेक्टिवनेस (प्रभावकारिता) का मूल्यांकन किया। अध्ययन में हर उम्र, लिंग और नस्ल के आधार पर वैक्सीन लगवा चुके 352,878 लोगों और टीका नहीं लगवाने वाले इतने ही लोगों को शामिल किया गया। 

हर वर्ग, उम्र और बीमार लोग भी अध्ययन में शामिल 
अमेरिका के साउदर्न कैलिफोर्निया में इंटीग्रेटेड हेल्थ केयर ऑर्गेनाइजेशन - कैसर परमानेंट में असिस्टेंट इनोवेटर कटिया ब्रुक्सवूर्ट ने कहा- यह रिसर्च संक्रमण, अस्पताल में भर्ती होने और कोविड​​​-19 से मृत्यु के खतरे को कम करने में मॉडर्ना की कोविड​​​​-19 वैक्सीन के प्रभाव को प्रमाणित करता है। ब्रुक्सवूर्ट ने कहा- अध्ययन में 7 लाख से अधिक वयस्क शामिल थे जो नस्लीय और जातीय रूप से अलग अलग थे। इनमें गंभीर पुरानी बीमारियों, इम्युनिटी के लिहाज से संवेदनशील व्यक्तियों को भी शामिल किया गया था। 

18 दिसंबर से 2020 से 31 मार्च 2021 तक के आंकड़े 
अध्ययन में, टीकाकरण करा चुके लोगों को 18 दिसंबर, 2020 से 31 मार्च, 2021 तक मॉडर्ना के टीके की दो डोज दी गईं। यह पाया गया कि कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीन का प्रभाव 87 प्रतिशत था। उन्होंने कहा कि टीका लेने वाले 13 लोगों और टीका नहीं लिए 182 संक्रमित रोगियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जिसमें टीका ले चुके एक मरीज और टीका नहीं लिए 25 मरीजों की मृत्यु हुई।

जापान ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में नई बुकिंग पर पाबंदी हटाई 
टोक्यो। जापान ने कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रोन (Covid 19 New variant) से बचाव के लिए अंतरराष्ट्रीय उड़ानों (International Flights) की नई बुकिंग पर रोक हटा दी। एक दिन पहले ही उसने एयरलाइंस से अनुरोध किया था कि दिसंबर के अंत तक जापान में आने वाली उड़ानों में रिजर्वेशन बंद कर दें। जापान में इस निर्णय का लोगों ने विरोध किया, जिसके बाद सरकार ने ये फैसला वापस ले लिया। जापान में अब तक ओमीक्रोन वैरिएंट के दो मामले सामने आए हैं। वायरस का यह प्रकार पहली बार पिछले हफ्ते दक्षिण अफ्रीका में सामने आया था। 

यह भी पढ़ें
Delhi Air Pollution: बड़ों के लिए WFH, फिर स्कूल क्यों खुले; SC की फटकार लगते ही 3 दिसंबर से फिर स्कूल बंद
Congress Controversy:गांधी फैमिली पर प्रशांत किशोर का कमेंट-10 साल में 90% चुनाव हारी है, लीडरशिप पर सवाल

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios