Yoga in Saudi : सऊदी अरब में पहले योग फेस्टिवल का आयोजन, एक हजार से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया

| Jun 15 2022, 12:40 PM IST

Yoga in Saudi : सऊदी अरब में पहले योग फेस्टिवल का आयोजन, एक हजार से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया
Yoga in Saudi : सऊदी अरब में पहले योग फेस्टिवल का आयोजन, एक हजार से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

Yoga in saudi : सऊदी अरब के किंग अब्दुल्ला इकोनॉमिक सिटी के जुमान पार्क में देश के पहले योग उत्सव का आयोजन किया गया। 29 जनवरी से लेकर एक फरवरी तक चलने वाले इस आयोजन के पहले दिन ही इसमें हिस्सा लेने के लिए 1,000 से अधिक लोग उमड़ पड़े। सऊदी योग समिति द्वारा आयोजित इस योग फेस्टिवल में 10 साल से लेकर 60 साल तक की आयु के लोगों ने भाग लिया।

जेद्दाह। सऊदी अरब (Saudi arabia) की ओलिंपिक कमेटी और खेल मंत्रालय द्वारा योग (Yoga) को खेल गतिविधि के रूप में मान्यता देने के बाद से देश में योग का तेजी से प्रसार हो रहा है। इसी के तहत सऊदी अरब के किंग अब्दुल्ला इकोनॉमिक सिटी के जुमान पार्क में देश के पहले योग उत्सव का आयोजन किया गया। 29 जनवरी से लेकर एक फरवरी तक चलने वाले इस आयोजन के पहले दिन ही इसमें हिस्सा लेने के लिए 1,000 से अधिक लोग उमड़ पड़े। सऊदी योग समिति द्वारा आयोजित इस योग फेस्टिवल में 10 साल से लेकर 60 साल तक की आयु के लोगों ने भाग लिया। अरब न्यूज के मुताबिक इसकी शुरुआत लॉन में योग कक्षाओं से हुई। मुरली कृष्णन ने वयस्कों का नेतृत्व किया, जबकि सारा अल अमौदी ने बच्चों का नेतृत्व किया।

भारतीय दूतावास के अधिकारी भी पहुंचे 
रियाद में भारतीय दूतावास और जेद्दाह में वाणिज्य दूतावास के अधिकारियों ने भी योग फेस्टिवल में में भाग लिया। भारतीय महावाणिज्य दूत शाहिद आलम और  मारवाई ने युवा योगी आरव प्रदिशा को सम्मानित किया, जिन्होंने सऊदी अरब द्वारा आयोजित एशियाई खेलों में हमारी पहली भागीदारी में पदक जीता था। 

Subscribe to get breaking news alerts

आठ घंटे से ज्यादा चला योग फेस्टिवल
योग फेस्टिवल में पहुंचे लोगों को योग का अभ्यास करने के साथ ही योग की अलग-अलग कलाओं को देखने और योग स्टूडियो द्वारा दी जाने वाली सेवाओं के बारे में जानने का मौका मिला। इस कार्यक्रम में आठ घंटे से अधिक समय तक योग गुरुओं ने क्लास और लेक्चर लिए। योग फेस्टिवल में पहुंचे लोगों ने बताया कि यह दिन सकारात्मक ऊर्जा से भरा था। इस फेस्टिवल में पहुंचे लोगों को छांव में आराम करने की भी व्यवस्था की गई थी। इसके लिए चटाई, तकिए और कालीन उपलब्ध थे।

 

योग समिति की अध्यक्ष ने कहा- हमारे दिन की शुरुआत योग से हो 
सऊदी योग समिति की अध्यक्ष नौफ बिन्त मुहम्मद अल-मरौई ने कहा कि मैं यहां आने वालों की संख्या, ऊर्जा और सकारात्मक प्रतिक्रिया देखकर काफी खुश हूं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य को बेहतर रखने के साथ ही बीमारियों को दूर रखने के लिए योग एक व्यापक उपचार के रूप में सामने आया है।  उन्होंने कहा कि सऊदी अरब सरकार के समर्थन के कारण सभी क्षेत्रों में और जीवन की गुणवत्ता में उल्लेखनीय विकास देख रहा है। यह आयोजन एक बड़ी सफलता थी और मुझे खुशी है कि न केवल सउदी ने इसका स्वागत किया, बल्कि योग पर हमारे विचारों को भी अपनाया, जो इस आयोजन का एकमात्र उद्देश्य था। उन्होंने कहा कि हम परिवारों में योग को बढ़ावा देना चाहते हैं और देश में इसे प्रोत्साहित करना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि सऊदी अरब के लोग अपने दिन की शुरुआत योग के साथ करें, क्योंकि इसमें 20 मिनट से ज्यादा का समय नहीं लगता है। हर कोई इसे आसानी से कर सकता है।  

योग फेस्टिवल में जाने वाले लोगों ने कहा- अगले साल का इंतजार रहेगा
योग फेस्टिवल में पहुंचीं 38 साल की साार अल मदनी ने कहा कि योग महोत्सव वाकई जबरदस्त था। यह उत्कृष्ट प्रशिक्षकों के साथ ही व्यवस्थित तरीके से किया गया। मुझे अगले साल इसका इंतजार रहेगा। शिशु रोग विशेषज्ञ उदय कुराशी इस उत्सव में पहुंचकर काफी खुश दिखे। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान मैंने फिटनेस के उद्देश्य से योग की शुरुआत की थी। उन्होंने कहा - मुझे ये देखकर काफी खुशी हो रही है कि हमारे देश में योग की शुरुआत हो चुकी है। जाने-माने योग प्रशिक्षक और जेन-जोन स्टूडियो के मालिक समाह दयाब ने कहा- मैं इस उत्सव में भाग लेने के लिए बहुत उत्साहित हूं, जो हमारे देश में पहली बार आयोजित किया जा रहा है। आजकल, योग का आकर्षण फलफूल रहा है और, एक प्रशिक्षक के रूप में, मैंने बहुत से लोगों को योग का अभ्यास करते हुए देखा है। सउदी के बीच अब जो जागरूकता हो रही है, उससे मैं बहुत खुश हूं। 

21 जून को मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस
दुनियाभर में हर साल 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है। यह साल का सबसे लंबा दिन होता है और योग भी मनुष्य को दीर्घायु बनाता है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर  11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा से 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की मंजूरी मिली। 21 जून 2015 को पहली बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया था।

यह भी पढ़ें
Russia Ukraine Conflict: रूस के हमले का मुकाबला करने यूक्रेन की पब्लिक भी सीख रही युद्धकला
Health: अगर आप भी हैं साइनस की प्रॉब्लम से परेशान तो इन योग आसन को जरूर करें ट्राई मिलेगी राहत