Asianet News Hindi

पूर्वी लद्दाख में न युद्ध और न ही शांति...वायुसेना प्रमुख ने बताया, भारत-चीन सीमा पर कैसी स्थिति है?

भारत - चीन सीमा तनाव के बीच भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने मंगलवार को कहा कि पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में वर्तमान स्थिति असहज बनी हुई है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच सीमा पर ना तो युद्ध जैसे कोई हालात हैं और ना ही किसी शांति जैसे। भदौरिया ने कहा कि वायुसेना ने कई अन्य विमानों के साथ पूर्वी लद्दाख के निकट वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC)पर उन्नत लड़ाकू विमान राफेल की तैनाती सिर्फ वायुसेना की दूर्गामी रणनीति के तहत की है जो भारतीय वायुसेना को व्यवहारिक क्षमता प्रदान करती है। 

India-China dispute: Air Force Chief Bhadauria said - no warsituation on border nor peace, only uncomfortable situation
Author
Ladakh, First Published Sep 29, 2020, 11:17 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लेह. भारत - चीन सीमा तनाव के बीच मंगलवार को भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने कहा कि पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में वर्तमान स्थिति असहज बनी हुई है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच सीमा पर ना तो युद्ध जैसे कोई हालात हैं और ना ही किसी शांति जैसे। भदौरिया ने कहा कि वायुसेना ने कई अन्य विमानों के साथ पूर्वी लद्दाख के निकट वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC)पर उन्नत लड़ाकू विमान राफेल की तैनाती सिर्फ वायुसेना की दूर्गामी रणनीति के तहत की है जो भारतीय वायुसेना को व्यवहारिक क्षमता प्रदान करती है। 

भारत ने सीमा पर की थी राफेल की तैनाती

पूर्वी लद्दाख के सीमावर्ती इलाकों में चीन की हरकतों पर लगाम लगाने के लिए भारतीय वायुसेना ने हाल ही में फ्रांस से लाए उन्नत लड़ाकू विमान राफेल की तैनाती की है।  सरकार के सूत्रों के मुताबिक, भारत और चीन की सेनाओं के बीच फिर हुई उकसावे की कार्रवाई से पहले चीन ने लद्दाख इलाके में जंगी विमान तैनात किए थे। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की वायुसेना ने लद्दाख में पैंगोंग झील के दक्षिणी तट के पास अपने पांचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमान जे-20 को फिर से तैनात कर दिए थे। ये विमान अब भी उस इलाके में व्यापक उड़ान भर रहे हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios