तेहरान. इजरायल और ईरान के बीच एक बार फिर विवाद चरम पर हैं। इजरायल ने साइबर हमला कर ईरान के परमाणु ठिकानों में दो विस्फोट करा दिए। ये हमले यूरेनियम संवर्धन केंद्र और मिसाइल निर्माण केंद्र पर हुए हैं। इतना ही नहीं इजरायल ने अपने एफ-35 लड़ाकू विमान से ईरान के पर्चिन इलाके में मिसाइल न‍िर्माण स्थल पर बम गिराकर उसे बर्बाद कर दिया। 
 
कुबैत के अखबार अल जरीदा की रिपोर्ट के मुताबिक, यह हटना पिछले हफ्ते की है। रिपोर्ट के मुताबिक, इजरायल के साइबर हमले में गुरुवार को नतांज परमाणु केंद्र में विस्फोट के बाद आग लग गई। यह केंद्र जमीन के भीतर है। बताया जा रहा है कि इजरायल के हमले के बाद अब ईरान का परमाणु कार्यक्रम दो महीने पीछे हो गया। 

इजरायल ने ईरानी ठिकाने पर गिराए बम
अल जरीदा ने बताया,  इजरायल के एफ-35 लड़ाकू विमान ने शुक्रवार को पर्चिन इलाके में एक ईरानी ठिकाने पर बम बरसाए। इसे मिसाइल उत्‍पादन केंद्र माना जाता है। इजरायल का मानना है कि ईरान लगातार हथियारों को बनाकर यहूदी विरोधी गुट हिज्बुल्ला को देता है। 

इजरायल ने नहीं की पुष्टि
हालांकि, इन हमलों की अभी इजरायल ने पुष्टि नहीं की। इससे पहले रिपोर्ट में दावा किया गया था कि ईरान ने अप्रैल में इजरायल में पानी की सप्लाई को हैक करने की कोशिश की थी।  इजरायल के साइबर डिफेंस ने ईरान के इस हमले को नाकाम कर दिया था। अगर ईरान का प्रयास सफल हो जाता तो पूरे इजरायल में पानी का संकट खड़ा हो जाता।