Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना : जानिए कितना खतरनाक है नया वायरस, क्या दुनिया में फिर मच सकती है तबाही

पूरी दुनिया कोरोना वैक्सीन की राह देख रही है। इसी बीच महामारी से जुड़ी एक नई मुसीबत सामने आने लगी है। दरअसल, ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन यानी एक अलग तरह का वायरस सामने आया है। इसे नए स्टेन को पहले से ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है। इस स्ट्रेन ने दहशत बढ़ा दी है। 

new corona virus strain found in britain know all about it KPP
Author
New Delhi, First Published Dec 21, 2020, 3:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. पूरी दुनिया कोरोना वैक्सीन की राह देख रही है। इसी बीच महामारी से जुड़ी एक नई मुसीबत सामने आने लगी है। दरअसल, ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन यानी एक अलग तरह का वायरस सामने आया है। इसे नए स्ट्रेन को पहले से ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है। इस स्ट्रेन ने दहशत बढ़ा दी है। यहां तक की ब्रिटेन में अब तक के सबसे कड़े प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। नए स्ट्रेन को देखते हुए उड़ानें रोक दी गई हैं। वहीं, फ्रांस में भी ट्रेनों को बंद करने का फैसला किया गया है। इतना ही नहीं बताया जा रहा है कि यह नया स्ट्रेन ब्रिटेन ही नहीं, ऑस्ट्रेलिया, नीदरलैंड, इटली और डेनमार्क में भी फैल चुका है। 

कैसे बना ये नया स्ट्रेन
दरअसल, वायरस में लगातार म्यूटेशन होता रहता है। यानी वायरस हमेशा अपना रूप बदलते रहते हैं। इसी वजह से वायरस के व्यवहार में आ रहे बदलाव पर वैज्ञानिक कड़ी नजर रखते हैं।  म्यूटेशन होने से वायरस के ज्यादातर वेरिएंट तो खुद ही खत्म हो जाते हैं। लेकिन कई बार कई वेरियंट पहले से कई गुना ज्यादा मजबूत और खतरनाक हो जाता है।

कितना खतरनाक है ये स्ट्रेन ? 
ब्रिटेन के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, यह स्ट्रेन पहले के वायरस की तुलना में अधिक संक्रमण फैलाता है। अनुमान है कि यह पहले से 70% ज्यादा खतरनाक हो सकता है। हालांकि, अभी तक कोई सबूत नहीं मिला है कि नया वेरिएंट बीमारी का कारण बनता है। ब्रिटेन की सरकार ने वायरस के नए प्रकार के नियत्रंण से बाहर होने की चेतावनी जारी की है। इसके अलावा कड़े प्रतिबंधों का भी ऐलान किया है। 

ब्रिटेन के स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक ने बताया कि ब्रिटेन में टियर 4 प्रतिबंधों को जल्द नहीं हटाया जाएगा। ये प्रतिबंध तब तक लागू रहेंगे, जब तक स्ट्रेन पर काबू ना पाया जाए या फिर वैक्सीन नहीं आती। 

ब्रिटेन में कितनी तेजी से फैल रहा वायरस?
कोरोना में नए वायरस का मामला सितंबर में सामने आया था। नवंबर तक लंदन में कोरोना संक्रमण के कुल मामलों में एक चौथाई में यही वायरस वजह था। लेकिन दिसंबर तक दो तिहाई मामलों में यही वेरियंट पाया गया। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने शनिवार को कहा, वायरस के नए वेरिएंट को लेकर फिलहाल पुख्ता जानकारी नहीं है, लेकिन ये बीमारी का कारण बनता है और पहले की अपेक्षा 70% अधिक संक्रमण फैला सकता है।

नए स्ट्रेन से एक्शन में आए देश
- भारत सरकार ने सोमवार रात 12 बजे से 31 दिसंबर तक यूके आने और जाने वाली सभी फ्लाइटों पर रोक लगा दी है।
- नए स्ट्रेन को देखते हुए फ्रांस, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड्स, ऑस्ट्रिया, आयरलैंड और बुल्गारिया ने ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइटों को बैन कर दिया है। 
- इसके अलावा कनाडा ने भी ब्रिटेन से आने वाली सभी कॉमर्शियल और प्राइवेट फ्लाइट्स बंद कर दी हैं। 
- कोरोना के नए स्ट्रेन को देखते हुए सऊदी अरब ने एक हफ्ते के लिए सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द कर दी हैं। सऊदी का कहना है कि जब तक नए कोरोना वायरस के बारे में जानकारी नहीं मिल जाती, फ्लाइट बैन को आगे भी बढ़ाया जा सकता है। इसके अलावा सऊदी अरब के समुद्री बंदरगाह भी एक हफ्ते के लिए बंद रहेंगे। 

अलर्ट पर भारत सरकार 
उधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा, ब्रिटेन में मिले कोरोनावायरस के नए स्ट्रैन को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। सरकार इसके बारे में अलर्ट है। हालांकि, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना के नए स्ट्रेन पर चर्चा के लिए बैठक बुलाई है। इससे पहले केजरीवाल और कांग्रेस के कई नेताओं ने जल्द से जल्द ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट पर रोक लगाने की मांग की थी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios