Asianet News HindiAsianet News Hindi

नॉर्थ कोरिया के तानाशाह की दबंगई, जापान के ऊपर से फायर की बैलिस्टिक मिसाइल, ट्रेनें रोकी गईं, अफरा-तफरी मची

उत्तर कोरिया ने मंगलवार( जापानी टाइम 4 अक्टूबर) को 5 साल में पहली बार जापान के ऊपर एक मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल दागी। उत्तर कोरिया क्षेत्रीय अमेरिकी सहयोगियों पर हमला करने के लिए डिजाइन किए गए हथियारों की लगातार टेस्टिंग कर रहा है। जनवरी के बाद से उत्तर कोरिया द्वारा यह सबसे महत्वपूर्ण मिसाइल परीक्षण था।

North Korea fires ballistic missile over Japan; some trains suspended Kim Jong Un and Nuclear Weapon Testing kpa
Author
First Published Oct 4, 2022, 8:21 AM IST

सियोल/टोक्यो(SEOUL/TOKYO). उत्तर कोरिया ने मंगलवार( जापानी टाइम 4 अक्टूबर) को 5 साल में पहली बार जापान के ऊपर एक मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल दागी। इससे जापान में हड़कंप मच गया। प्रशासन को लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाने के लिए(evacuation notices) कहना पड़ा। ट्रेनें सस्पेंड कर दी गईं। दरअसल, उत्तर कोरिया क्षेत्रीय अमेरिकी सहयोगियों पर हमला करने के लिए डिजाइन किए गए हथियारों की लगातार टेस्टिंग कर रहा है। जनवरी के बाद से उत्तर कोरिया द्वारा यह सबसे महत्वपूर्ण मिसाइल परीक्षण था। जनवरी मे उसने गुआम के अमेरिकी क्षेत्र तक पहुंचने में सक्षम ह्वासोंग -12 मध्यवर्ती-श्रेणी की मिसाइल(Hwasong-12 intermediate-range missile) दागी थी। इसके बाद जापान और दक्षिण कोरिया दोनों ने इस चर्चा के लिए सुरक्षा बैठकें बुलाई थीं।

प्रशांत महासागर में गिरी मिसाइल
जापानी प्रधान मंत्री कार्यालय ने कहा कि उत्तर कोरिया से दागी गई मिसाइल ने जापान के ऊपर से उड़ान भरी और माना जाता है कि वह प्रशांत महासागर(Pacific Ocean) में गिर गई। जापानी अधिकारियों को 2017 के बाद से पहली बार पूर्वोत्तर क्षेत्रों के निवासियों को शेल्टर में जाने के लिए अलर्ट करना पड़ा। तब उत्तर कोरिया ने वेपन्स टेस्ट के अपने उत्तेजक परीक्षण(provocative run of weapons tests) में जापान पर ह्वासोंग -12 मिसाइल दागी थी। इस मिसाइल घटनाक्रम के चलते होक्काइडो और आओमोरी क्षेत्रों(Hokkaido and Aomori regions) में ट्रेनों को तब तक निलंबित कर दिया गया, जब तक कि सरकार अगला कोई नोटिस जारी नहीं करती। मिसाइल उत्तर कोरियाई प्रशांत क्षेत्र में गिरी है।

North Korea fires ballistic missile over Japan; some trains suspended Kim Jong Un and Nuclear Weapon Testing kpa

जापानी PM ने बताया बर्बर
जापानी प्रधान मंत्री फुमियो किशिदा( Fumio Kishida) ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि "उत्तर कोरिया द्वारा हाल ही में लॉन्च की गई एक सीरिज के बाद यह फायरिंग एक लापरवाह कार्य है और मैं इसकी कड़ी निंदा करता हूं। यह बर्बर है। स्थिति पर चर्चा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद बुलाएंगे।"

North Korea fires ballistic missile over Japan; some trains suspended Kim Jong Un and Nuclear Weapon Testing kpa

जापान के मुख्य कैबिनेट सचिव हिरोकाजू मात्सुनो(Hirokazu Matsuno) ने कहा कि मिसाइल से तत्काल कोई नुकसान नहीं हुआ है। यह 22 मिनट तक उड़ान भरकर देश के विशेष आर्थिक क्षेत्र के बाहर पानी में गिरी।

दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने कहा कि उन्होंने पता किया है कि मिसाइल उत्तर कोरिया में अंतर्देशीय उत्तर(inland north) से दागी गई है। 

टीवी असाही ने एक अज्ञात सरकारी स्रोत का हवाला देते हुए कहा कि उत्तर कोरिया ने एक अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) दागी होगी और यह जापान से लगभग 3,000 किलोमीटर दूर समुद्र में गिर गई।

दक्षिण कोरिया भी पूरी तैयारी में है
दक्षिण कोरिया ने अपने सशस्त्र बल दिवस पर (Armed Forces day marked) की ताकत की पहचान करने करने के लिए शनिवार को उन्नत हथियारों के अपने प्रदर्शन का मंचन किया था।, जिसमें कई रॉकेट लॉन्चर, बैलिस्टिक मिसाइल, मुख्य युद्धक टैंक, ड्रोन और F-35 लड़ाकू शामिल हैं। दक्षिण कोरिया के सांसदों ने पिछले हफ्ते कहा था कि उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण की तैयारी पूरी कर ली है, जिसे वह इस महीने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस और नवंबर में अमेरिकी मध्यावधि चुनाव के बीच किसी समय कर सकता है।

यह प्रक्षेपण पिछले 10 दिनों में उत्तर कोरियाई द्वारा हथियारों के परीक्षण का पांचवां दौर है, जिसे दक्षिण कोरिया और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच द्विपक्षीय सैन्य अभ्यास और पिछले सप्ताह जापान सहित सहयोगियों के बीच अन्य प्रशिक्षण के लिए एक स्पष्ट प्रतिक्रिया के रूप में देखा गया था।

यह भी जानिए
उत्तर कोरिया ने इस साल लगभग 20 विभिन्न लॉन्चिंग प्रोग्राम में लगभग 40 मिसाइलों का परीक्षण किया है। उसके नेता किम जोंग उन(Kim Jong Un) ने अपने परमाणु शस्त्रागार(nuclear arsenal) का विस्तार करने की कसम खाई है और संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ परमाणु कूटनीति पर लौटने से इनकार कर दिया है। कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि किम अंततः अपने बढ़े हुए शस्त्रागार का उपयोग करने के लिए वाशिंगटन पर अपने देश को एक परमाणु राज्य के रूप में स्वीकार करने के लिए दबाव डालने की कोशिश करेंगे।

यह भी पढ़ें
इस वजह से चीन पर भड़का तालिबान, वादे से मुकरने को लेकर ड्रैगन को सुनाई खरी-खोटी
ईरान में हिजाब के खिलाफ आंदोलित यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स पर टूटा पुलिस का कहर, अमेरिका ने किया 'एक्शन' का ऐलान

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios