Asianet News Hindi

इमरान की पार्टी के नेता ने खोली पाकिस्तान की पोल, अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार का किया खुलासा

कश्मीर में आर्टिकल 370 खत्म करने के बाद से लगातार आक्रामक हुए पाकिस्तान के घर में क्या चल रहा है इसकी पोल उन्हीं की पार्टी के एक नेता ने खोल दी है। दरअसल पूर्व विधायक बलदेव कुमार ने पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार से परेशान होकर भारत से राजनीतिक शरण मांगी है।

Pak appeals for help from India, Imran's party leader said this big thing about minorities
Author
New Delhi, First Published Sep 10, 2019, 8:07 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कश्मीर में आर्टिकल 370 खत्म करने के बाद से लगातार आक्रामक हुए पाकिस्तान के घर में क्या चल रहा है इसकी पोल उन्हीं की पार्टी के एक नेता ने खोल दी है। दरअसल पूर्व विधायक बलदेव कुमार ने पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार से परेशान होकर भारत से राजनीतिक शरण मांगी है। बता दें कि बलदेव सिंह पाक पीएम इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए इंसाफ (PTI) के नेता हैं और पाकिस्तान के खैबर पख्तून ख्वा प्रांत के बारीकोट आरक्षित सीट से विधायक रहे हैं।

इमरान खान के सत्ता में आने से अल्पसंख्यकों पर जुल्म बढ़ा-बलदेव
बलदेव कुमार किसी तरह अपने परिवार के साथ पाकिस्तान से जान बचाकर भारत आए हैं और इस समय वे पंजाब के खन्ना में मौजूद हैं। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक दहशत के माहौल में रहने के लिए मजबूर हैं। अपने विधानसभा क्षेत्र में अल्पसंख्यकों की आवाज बुलंद करने वाले पूर्व विधायक बलदेव ने कहा कि इमरान खान से उन्हें बड़ी उम्मीदें थीं, लेकिन उनके सत्ता में आने के बाद हालात और बिगड़ गए हैं और हिंदुओं, सिखों पर जुल्म बढ़ गया है। हिंदू और सिख नेताओं की हत्याएं की जा रही हैं, इसलिए वो जल्द ही भारत में शरण के लिए आवदेन करेंगे।

एक हफ्ते में अत्याचार के तीन मामले आए सामने
पाकिस्तान में लगातार अल्पसंख्यकों पर अत्याचार के मामले सामने आते रहते हैं। हाल ही में 3 ऐसे मामले सामने आए हैं, जहां सिख लड़कियों का अपहरण कर जबरन धर्म परिवर्तन कर निकाह करने के मामले सामने आए थे। पहला मामला 27 अगस्त को लाहौर से सामने आया था, जहां गुरूद्वारा तम्बू साहिब के ग्रंथी की बेटी जगजीत कौर (19) को अगवाकर जबरन धर्म परिवर्तन कराया था। इसके बाद दूसरा मामला 2 सितंबर को सिंध प्रांत से सामने आया था। यहां हिंदू छात्रा रेणुका कुमारी का भी धर्म परिवर्तन कराया गया था। हाल ही में पंजाब प्रांत में एक स्कूल शिक्षक ने एक 15 वर्षीय ईसाई लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कराया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios