Asianet News HindiAsianet News Hindi

चौतरफा मात खाने के बाद भी नहीं सुधर रहा पाकिस्तान, सेना प्रमुख ने कहा, कश्मीर मुद्दे पर नहीं होगा समझौता

पाकिस्तानी सेना के चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने सोमवार को कहा कि कश्मीर मुद्दे पर कभी समझौता नहीं किया जाएगा। हम अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए किसी भी दुस्साहस या आक्रामकता को विफल करने में सक्षम हैं और पूरी तरह से तैयार हैं। 

Pakistan's army chief said, there will not be agreement on Kashmir issue kps
Author
Islamabad, First Published Dec 24, 2019, 11:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इस्लामाबाद. कश्मीर मसले पर हर जगह मात खाने के बाद भी पाकिस्तान का कश्मीर अलाप समाप्त नहीं हो रहा है। जिसका नतीजा है कि आए दिन पाकिस्तानी सेना और नेताओं के तरफ से कश्मीर को लेकर गीदड़ भभकी दी जाती है। इन सब के बीच पाकिस्तानी सेना के चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने सोमवार को कहा कि कश्मीर मुद्दे पर कभी समझौता नहीं किया जाएगा। हम अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए किसी भी दुस्साहस या आक्रामकता को विफल करने में सक्षम हैं और पूरी तरह से तैयार हैं। 

रूस ने किया किनारा 

पाकिस्तान द्वारा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कश्मीर मसले का उठाया जाता रहा है। इसके साथ ही लगातार कोशिश भी की जा रही है। बावजूद इसके पाकिस्तान के हाथ कोई सफलता नहीं लग रही है। जिसका नतीजा है कि रूस ने कहा है कि इस मामले को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उठाने में कोई दिलचस्पी नहीं है।

कश्मीर मुद्दे को लेकर चाहते है शांति 

पाकिस्तानी आर्मी चीफ बाजवा LOC और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद के सैन्य अस्पताल पहुंचे थे। उन्होंने सैनिकों को संबोधित करते हुए कहा कि कश्मीर मुद्दे को लेकर हम शांति चाहते हैं, लेकिन इसे हमारी कमजोरी न समझें।

कुछ यूं बढ़ा तनाव 

भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है। भारत के इस कदम से बौखलाए पाकिस्तान ने अपने राजनयिक संबंधों को कम करते हुए भारतीय उच्चायुक्त को वापस भेज दिया था।

चीन ने यूएन में दिया था प्रस्ताव 

न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए रूस के उप राजदूत रोमन बाबुश्किन ने सोमवार को कहा कि कश्मीर मामले को लेकर हमारी स्थिति बेहद स्पष्ट है। शिमला समझौता और लाहौर घोषणा पत्र के अनुसार, भारत और पाकिस्तान के बीच किसी भी मुद्दे को द्विपक्षीय आधार पर हल किया जाना चाहिए। चीन ने हाल ही में कश्मीर मुद्दे को लेकर यूएन में एक बैठक करने का प्रस्ताव दिया था। हालांकि, अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन और रूस ने बैठक बुलाने के चीन के प्रयास को नकार दिया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios