Asianet News HindiAsianet News Hindi

दुनिया के देशों में अमेरिकी जासूसी का भंड़ाफोड़ करने वाले पूर्व इंटेलीजेंस कांट्रेक्टर को पुतिन ने दी नागरिकता

यूएस सुरक्षा एजेंसी के अवैध सर्विलांस का भंड़ाफोड़ करने वाले एडवर्ड स्नोडेन का रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 2017 में समर्थन किया था। पूर्व जासूस रहे पुतिन ने कहा था कि रूस में रहते हुए लो प्रोफाइल रखने वाले स्नोडेन का अमेरिकी सीक्रेट्स को लीक करना गलत था। लेकिन स्नोडेन का काम देशद्रोही नहीं था।

Russian citizenship to former US intelligence contractor Edward Snowden, US National agency  exposed for secret surveillance against countries powerful personalities, DVG
Author
First Published Sep 27, 2022, 1:19 AM IST

Russian citizenship to former US intelligence contractor: रूस और अमेरिका एक दूसरे के खिलाफ कोई भी मौका छोड़ने में पीछे नहीं रहना चाहते हैं। रूस ने अमेरिका को चिढ़ाते हुए एनएसए के सिक्रेट मिशन का भंड़ाफोड़ करने वाले पूर्व अधिकारी को अपने देश की नागरिकता दे दी है। राष्ट्रपति पुतिन ने पूर्व अमेरिकी खुफिया कांट्रैक्टर एडवर्ड स्नोडेन को रूस की नागरिकता देने की स्वीकृति दी। स्नोडेन ने अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) के सर्विलांस ऑपरेशन्स को सार्वजनिक किया था। करीब नौ साल पहले स्नोडेन ने यह खुलासा कर हड़कंप मचा दिया था कि एनएसए बड़े पैमाने पर निगरानी करा रहा है। 

खुलासा करने के बाद स्नोडेन अमेरिका से भाग गए

39 वर्षीय एडवर्ड स्नोडेन ने अमेरिकी सुरक्षा एजेंसी के सीक्रेट सर्विलांस मिशन का खुलासा करने के बाद यूएसए को छोड़ दिया था। वह गुप्त तरीके से किसी दूसरे देश में शरण लिए थे। उन पर एनएसए के गुप्त फाइल्स को लीक करने का आरोप लगा। एडवर्ड स्नोडेन ने पूरी दुनिया को बताया कि किस तरह एनएसए इंटरनेशनल व डोमेस्टिक सर्विलांस करा रहा है। 2013 से वह गुपचुप तरीके से रह रहे थे। हालांकि, यह साफ था कि उनको रूस ने शरण दिया हुआ है। उधर, कुछ ही समय बाद अमेरिकी अधिकारी यह प्रयास करने लगे कि स्नोडेन अमेरिका वापस लौटे और उन पर लगे जासूसी के आरोपों में दर्ज हुए आपराधिक केस का सामना करें। लेकिन खतरा को भांपते हुए वह रूस में ही रहे।

रूस ने 72 लोगों को नागरिकता देने की लिस्ट जारी की

दरअसल, रूस ने अपने देश की नागरिकता 72 बाहरी लोगों को दी है। सोमवार को इसकी लिस्ट जारी की गई। इस लिस्ट में अमेरिकी इंटेलीजेंस के पूर्व कांट्रेक्टर एडवर्ड स्नोडेन का नाम भी है। उनका नाम सामने आने के बाद पूरी दुनिया में कई प्रकार की चर्चा है।

पत्नी और बेटे की नागरिकता के लिए भी करेंगे आवेदन

उधर, स्नोडेन को रूसी नागरिकता मिलने के बाद उनके वकील ने बताया कि स्नोडेन की पत्नी लिंडसे मिल्स और उनका दो वर्षीय बेटा भी नागरिकता के लिए आवेदन करेंगे। स्नोडेन के वकील अनातोली कुचेरेना ने आरआईए समाचार एजेंसी को बताया कि रूस ने स्नोडेन को 2020 में स्थायी निवास का अधिकार दिया जिससे उनके लिए रूसी नागरिकता प्राप्त करने का मार्ग प्रशस्त हुआ। दरअसल,वर्ष 2020 में अमेरिका की एक अपीलीय कोर्ट ने पाया कि स्नोडेन ने जिस कार्यक्रम का खुलासा किया था वह गैरकानूनी था। अमेरिकी खुफिया नेता जिन्होंने सार्वजनिक रूप से इसका बचाव किया था, वह झूठ बोल रहे थे।

पुतिन ने देशद्रोही मानने से किया था इनकार

यूएस सुरक्षा एजेंसी के अवैध सर्विलांस का भंड़ाफोड़ करने वाले एडवर्ड स्नोडेन का रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 2017 में समर्थन किया था। पूर्व जासूस रहे पुतिन ने कहा था कि रूस में रहते हुए लो प्रोफाइल रखने वाले स्नोडेन का अमेरिकी सीक्रेट्स को लीक करना गलत था। लेकिन स्नोडेन का काम देशद्रोही नहीं था।

यह भी पढ़ें:

जेपी नड्डा लोकसभा चुनाव 2024 तक बने रह सकते हैं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, शाह की तरह बढ़ेगा कार्यकाल

असम: 12 साल में उग्रवादियों से भर गए राज्य के जेल, 5202 उग्रवादी गिरफ्तार किए गए, महज 1 का दोष हो सका साबित

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios