Asianet News HindiAsianet News Hindi

पाकिस्तान का हो रहा था गरीबी में आटा गीला, इमरान खान की बीवी की इस सहेली ने 9 मंथ में जमा कर लिए 249,650 USD

पाकिस्तान में राजनीतिक संकट (Pakistan Political Crisis) के बीच ये मोहतरमा अपनी अकूत प्रॉपर्टी के लिए मीडिया की सुर्खियों में हैं। फराह खान (Farah Khan) इमरान खान की पत्नी बुशरा बीबी (Bushra Bibi) की 'खास सहेली' हैं। पााकिस्तानी मीडिया geo.tv ने एक न्यूज पब्लिश की है। इसके अनुसार, फराह ने जनवरी से सितंबर 2021 तक 249,650 डॉलर नकद जमा किए।

The Sensational Story of Political and Economic Crisis in Pakistan, Prime Minister Imran Khan, Bushra Biwi, Farah Khan and Money Laundering kpa
Author
Islamabad, First Published Apr 8, 2022, 1:50 PM IST

वर्ल्ड न्यूज. ऐसे समय में जबकि पाकिस्तान आर्थिक संकट से गुजर रहा है, इन मोहतरमा ने लाखों डॉलर छाप मारे। यानी इतने नकद डॉलर जमा किए। पाकिस्तान में राजनीतिक संकट (Pakistan Political Crisis) के बीच ये मोहतरमा अपनी अकूत प्रॉपर्टी के लिए मीडिया की सुर्खियों में हैं। फराह खान (Farah Khan) इमरान खान की पत्नी बुशरा बीबी (Bushra Bibi) की 'खास सहेली' हैं। पााकिस्तानी मीडिया geo.tv ने एक न्यूज पब्लिश की है। इसके अनुसार, फराह ने जनवरी से सितंबर 2021 तक 249,650 डॉलर नकद जमा किए। हालांकि फराह अपने फंड के स्रोत का खुलासा करने में विफल रही हैं।

यह भी पढ़ें-पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों की रोचक जानकारियां, 13 दिन पीएम रहा एक शख्स, देश का एकमात्र उपराष्ट्रपति भी रहा

पाकिस्तानी रुपया नीचे गिर रहा था, ये डॉलर छापने में लगी थीं
ऐसे समय में जब पाकिस्तान की माली हालत पतली होना शुरू हो चुकी थी, फराह कथित तौर पर बाजार से डॉलर खरीद रही थीं और उन्हें अपनी विदेशी मुद्रा में जमा कर रही थीं।  फराह अपने धन के स्रोत का खुलासा करने में विफल रही हैं, लिहाजा संघीय जांच एजेंसी (Federal Investigation Agency-FIA) ने उसके खिलाफ भारी मात्रा में विदेशी मुद्रा जमा करने के लिए एक इंक्वायरी नोटिस जारी किया है था। यह अलग बात है कि नोटिस देने के 4 माह बाद भी जांच में कोई प्रगति नहीं हुई। सूत्रों ने द न्यूज को बताया कि फराह के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ घनिष्ठ संबंध होने के कारण मामले को रहस्यमय तरीके से दबा दिया गया था।

100 लोगों को भेजे गए थे नोटिस
अक्टूबर 2021 में एफआईए ने 100 व्यक्तियों को नोटिस दिए थे। ऐसे लोगों की जांच करने का फैसला किया था, जो कथित तौर पर लाहौर में विभिन्न एक्सचेंज कंपनियों से लाखों डॉलर खरीदने में शामिल थे और पैसे जमा कर रहे थे या अन्य देशों में इसे लॉन्ड्रिंग कर रहे थे। फराह भी उन 100 व्यक्तियों में से एक थी जो डॉलर की जमाखोरी या लॉन्ड्रिंग में शामिल थीं।

द न्यूज के मुताबकि उसने FIA लाहौर क्षेत्र के निदेशक डॉ मोहम्मद रिजवान(FIA Lahore Region Director Dr Mohammad Rizwan) को इस संबंध में कुछ सवाल भेजे थे। इस पर उन्होंने जवाब दिया कि पिछले दो वर्षों में यूएसडी खरीदने वाले 100 व्यक्तियों को नोटिस दिए गए थे। फराह खान के मामले स्पेसिफाई डिटेल्स ईओ के पास हैं। वो ऑफिस टाइमिंग के दौरान चेक कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें-महंगाई की 'हाहाकार' के बीच ये है कौन-सी कंपनी जो श्रीलंका में हर माल 50% डिस्काउंट पर बेच रही है?

4 साल में बढ़ गई 4 गुना सम्पत्ति
विपक्षी नेताओं ने फराह पर भ्रष्टाचार के कई गंभीर आरोप लगाए थे। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार फराह खान की संपत्ति प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार बनने के बाद से पहले तीन वर्षों के भीतर तेजी से बढ़ी। फराह की कुल घोषित संपत्ति 2017 में 231 मिलियन रुपये से चार गुना बढ़कर 2021 में 971 मिलियन रुपए हो गई। फराह ने विभिन्न शहरों में कई संपत्तियां खरीदीं और करोड़ों रुपए का निवेश किया।

बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) पर नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) की पुत्री मरियम नवाज (Maryam Nawaz) ने बड़ा आरोप लगाया था। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज ने इमरान खान और उनकी पत्नी बुशरा बीबी (Bushra Bibi) पर 6 अरब की रिश्वत लेने का आरोप लगाया था। रियम नवाज ने कहा कि वह फराह (बुशरा बीबी की एक दोस्त) का नाम लेने की हिम्मत रखती हैं, जो तबादलों और पोस्टिंग में लाखों प्राप्त करने में शामिल रही हैं। 

यह भी पढ़ें-PMO में सीधी एंट्री पाने वाली कौन है बुशरा बीबी की दोस्त फराह ? पीएम आवास पर जादू टोना की क्या है हकीकत?

इमरान खान फैमिली की बेहद करीब हैं फराह
जब बुशरा बीबी के साथ इमरान खान का निकाह हुआ, तब फराह के आवास पर भी एक रिसेप्शन रखा गया था। दस्तावेजों के अनुसार, फराह खान ने 2019 में पीटीआई सरकार के दौरान ब्लैक मनी स्कीम (Tax Amnesty Scheme) का भी लाभ उठाया और टैक्स एमनेस्टी स्कीम 2019 के तहत 328 मिलियन रुपये की संपत्ति घोषित की।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios