Asianet News Hindi

3 अमेरिकी वैज्ञानिकों को भौतिकी क्षेत्र में मिलेगा नोबेल पुरस्कार, मिल्की वे और ब्लैक होल के रहस्यों को समझाया

भौतिकी क्षेत्र में तीन वैज्ञानिकों रोजर पेनरोज, रीनहार्ड गेंजेल और एंड्रिया गेज को संयुक्त रूप से यह पुरस्कार देने का ऐलान किया गया है। रोजर पेनरोज को अल्बर्ट आइंस्टीन के जनरल थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी के बारे में पता करने के लिए मैथेमेटिकल मेथड तैयार करने के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा। वहीं, गेंजेल और गेज को संयुक्त रूप से ब्लैक होल और मिल्की वे के रहस्यों को समझाने के लिए नोबेल पुरस्कार दिया जाएगा।

Three American scientists will receive Nobel Prize in Physics, explained the secrets of Milky Way and Black Hole
Author
Sweden, First Published Oct 6, 2020, 5:02 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

एशियानेट डेस्क. मंगलवार को साल 2020 के नोबेल पुरस्कार  ( Nobel Prize)की घोषणा हुई और इसी के साथ भौतिकी क्षेत्र में तीन वैज्ञानिकों रोजर पेनरोज, रीनहार्ड गेंजेल और एंड्रिया गेज को संयुक्त रूप से यह पुरस्कार देने का ऐलान किया गया है। रोजर पेनरोज को अल्बर्ट आइंस्टीन के जनरल थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी के बारे में पता करने के लिए मैथेमेटिकल मेथड तैयार करने के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा। वहीं, गेंजेल और गेज को संयुक्त रूप से ब्लैक होल और मिल्की वे के रहस्यों को समझाने के लिए नोबेल पुरस्कार दिया जाएगा। ये तीनों  वैज्ञानिक अमेरिका के निवासी है।

अबतक 212 लोगों को मिल चुका भौतिकी पुरस्कार

1901 से लेकर अब तक 113 बार 212 लोगों को भौतिकी नोबेल पुरस्कार दिया जा चुका है। जॉन बार्डीन को दो बार यह पुरस्कार मिल चुका है। उन्हें एक बार ट्रांजिस्टर और दूसरी बार सुपर कंडक्टिविटी से जुड़े कामों के लिए यह पुरस्कार दिया गया है।

सोमवार को चिकित्सा क्षेत्र में दिया गया पुरस्कार

सोमवार को चिकित्सा के क्षेत्र में फिजियोलॉजी या मेडिसिन में खोज के लिए अमेरिका के हार्वे जे अल्टर, चार्ल्स एम राइस और ब्रिटिश वैज्ञानिक माइकल ह्यूटन को संयुक्त रूप से यह पुरस्कार देने का ऐलान किया गया है। चिकित्सा के क्षेत्र का नोबेल पुरस्कार इन वैज्ञानिकों को हैपेटाइटिस-सी (Hepatitis C) वायरस की खोज के लिए दिया गया है।

क्यों दिया जाता है नोबेल पुरस्कार

नोबेल पुरस्कार स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड बनार्ड नोबेल की याद में दिया जाता है। अल्फ्रेड ने अपनी मृत्यु से पहले अपनी संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा ट्रस्ट को दिया था, ताकि उस धनराशि से मानव जाति के हित में काम करने वाले लोगों को सम्मानित किया जा सके। पहला नोबेल शांति पुरस्कार 1901 में दिया गया था। इन वैज्ञानिकों को नोबेल पुरस्कार के रूप में एक मेडल और 8 करोड़ रुपये मिलेंगे।

मेडिकल क्षेत्र में इस पुरस्कार का महत्व इस वक्त और बढ़ जाता है क्योंकि पूरी दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है। नोबेल पुरस्कार अलग-अलग क्षेत्रों जैसे भौतिकी, रसायन, साहित्य, अर्थशास्त्र और शांति के लिए दिया जाता है।

तीन लोगों को दिया जा सकता है एक नोबेल पुरस्कार

एक नोबेल पुरस्कार ज्यादा से ज्यादा तीन विद्वानों को उनके दो अलग-अलग कामों के लिए दिया जा सकता है। पहले वर्ल्ड वार और दूसरे वर्ल्ड वार की वजह से 6 बार नोबेल पुरस्कार किसी को भी नहीं दिया गया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios