बीजिंग. चीन में उइगर मुसलमानों पर अत्याचार किसी से छिपा नहीं है। अब यहां अत्याचार का एक और चौंकाने वाला मामला सामने आया है। एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीन के शिनजियांग में उइगर मुस्लिमों को काम करने के लिए फैक्ट्रियों में बेचा जा रहा है। इसके लिए ऑनलाइन विज्ञापन दिए जा रहे हैं। 

स्काई न्यूज के मुताबिक, Baidu पर 50-100 के समूह में उइगर मुस्लिमों को मजदूरों के तौर पर बेचने के लिए विज्ञापन डाले जा रहे हैं। Baidu चीन का सर्च ऑपरेशन है। 

गुलामों की तरह हो रही नीलामी- ब्रिटिश सांसद
ब्रिटेन में कंजर्वेटिव पार्टी की सांसद नुसरत गनी ने चीन के इस कदम की निंदा की है। उन्होंने कहा कि उइगर मुसलमानों को इस तरह से बेचा जा रहा है कि जैसे वे गुलाम हों। यह भयानक है।

वहीं, कंजर्वेटिव पार्टी के नेता रहे इयान डंकन स्मिथ ने कहा, इसमें संदेह नहीं है कि चीनी अधिकारी उइगरों के नरसंहार में लगे हैं। वे इस जातीय समूह को मिटाने में जुटे हुए हैं।

क्या है शिनजियांग सरकार का दावा
वहीं, शिनजियांग सरकार ने 2019 में बताया था कि वे 5 साल के लिए श्रम हस्तांतरण कार्यक्रम चला रहे हैं। इसके बारे में Baidu पर भी जानकारी दी गई है। सरकारा का दावा है कि इसके तहत वह अधिक से अधिक लोगों को रोजगार दिलाना चाहती है। इस कार्यक्रम में ग्रामीण इलाकों में मजदूरों को काम मिलेगा।