Asianet News HindiAsianet News Hindi

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर लगे पद का दुरुपयोग करने के आरोप, महाभियोग की धारा का करेंगे सामना

अमेरिकी कांग्रेस के निम्न सदन प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पलोसी ने गुरुवार को घोषणा की कि सदन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की धाराओं का मसौदा तैयार करने को लेकर आगे बढ़ रहा है।

US President Donald Trump accused of misusing office, will face section of impeachment
Author
Washington D.C., First Published Dec 5, 2019, 10:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाशिंगटन. अमेरिकी कांग्रेस के निम्न सदन प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पलोसी ने गुरुवार को घोषणा की कि सदन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की धाराओं का मसौदा तैयार करने को लेकर आगे बढ़ रहा है। पलोसी ने ऐतिहासिक घोषणा करते हुए कहा, ‘‘ हमारा लोकतंत्र दाव पर है, राष्ट्रपति ने हमारे समक्ष कोई विकल्प नहीं छोड़ा सिवाय इसके कि कार्रवाई की जाए।’’ इस घोषणा के साथ डेमोक्रेटिक पार्टी ने महाभियोग प्रस्ताव पर मतदान की प्रक्रिया को आगे बढ़ा दिया है और माना जा रहा है कि क्रिसमस के दौरान यह होगा।

उन्होंने कहा कि वह ‘‘दुखी होकर लेकिन भरोसे और विनम्रता’’ से महाभियोग की धाराओं का मसौदा तैयार करने की मंजूरी दे रही हैं। पलोसी ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति के कार्यो से संविधान का घोर उल्लंघन हुआ है।’’

महाभियोग के केंद्र में जुलाई में राष्ट्रपति ट्रंप की यूक्रेन के राष्ट्रपति से फोन पर की गई बातचीत है। आरोप है कि ट्रंप ने डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता और राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन के खिलाफ जांच के लिए यूक्रेन पर दबाव बनाया।

पलोसी ने कहा, ‘‘हमारा लोकतंत्र दाव पर है। उन्होंने औपचारिक घोषणा में कहा, ‘‘राष्ट्रपति ने कोई विकल्प नहीं छोड़ा सिवाय कार्रवाई करने के क्योंकि वह एक बार फिर अपने फायदे के लिए चुनाव को भ्रष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं। राष्ट्रपति सत्ता के दुरुपयोग, राष्ट्रीय सुरक्षा को कमतर करने और हमारे चुनाव की शुचिता को खतरे में डालने के कृत्य में शामिल हैं।’’

इससे पहले दिन में पलोसी ने घोषणा की थी कि वह राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ सदन में चल रही महाभियोग जांच के बारे में असाधारण बयान जारी करेंगी।

डेमोक्रेट देश के 45वें राष्ट्रपति को हटाने के लिए क्रिसमस के समय मतदान कराने की तैयारी कर रहे हैं। पलोसी ने उम्मीद जताई थी कि ऐसी स्थिति से बचा जा सकता है लेकिन अब यह असंभव दिख रहा है।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios