लंदन. दुनिया में जारी कोरोना के कहर के बीच संक्रमण को रोकने के लिए विशेषज्ञों की टीम लगातार रिसर्च कर रही है। वैक्सीन बनाने को लेकर भी तमाम ट्रायल किया जा रहा है। इन सब के बीच विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) के एक कैंसर प्रोग्राम के डायरेक्‍टर रह चुके प्रोफेसर करोल स‍िकोरा ने कोरोना वायरस को लेकर बड़ा दावा किया है। सिकोरा ने कहा है कि कोरोना वायरस के खिलाफ दुनियाभर में जारी जंग वैक्‍सीन के बनाए जाने से पहले ही खत्‍म हो सकती है। उन्‍होंने कहा कि कोरोना वायरस वैक्‍सीन के विकास से पहले ही अपने आप खत्‍म हो सकता है।

अपने आप ही कमजोर हो सकता है वायरस 

सिकोरा ने कहा, 'कोरोना वायरस के खिलाफ हर जगह एक जैसा ही पैटर्न दिखाई पड़ रहा है। मुझे संदेह है कि हमारे अंदर जितना अनुमान लगाया गया था, उससे ज्‍यादा रोग प्रतिरोधक क्षमता है। हमें इस वायरस को लगातार धीमा करना है लेकिन यह अपने आप ही बहुत कमजोर हो सकता है। यह मेरा अनुमान है कि ऐसा संभव हो सकता है।'

'हमें अपनी दूरी को बनाकर रखना है और आशा करनी है कि आंकड़े बेहतर होंगे।' इससे पहले ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने चेतावनी दी थी कि कोरोना वायरस का लंबे समय तक समाधान केवल वैक्‍सीन या दवा से संभव है। उन्‍होंने कहा, 'सबसे खराब स्थिति यह हो सकती है कि हम कभी कोरोना वायरस की वैक्‍सीन ही न खोज सकें।'

दुनिया में कोरोना का हाल 

दुनिया में कोरोना वायरस से अब तक 48 लाख 1 हजार 857 लोग संक्रमित हो चुके हैं। जबकि 3 लाख 16 हजार 671 लोगों की मौत हो चुकी है। इस दौरान 18 लाख 58 हजार 170 लोग ठीक भी हुए हैं। कोरोना के कहर से अमेरिका का बुरा हाल है। अमेरिका में अब तक 90 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 15 लाख 27 हजार से अधिक लोग संक्रमित हैं।