Asianet News HindiAsianet News Hindi

Chanakya Niti: पैसा आने के बाद क्या करना चाहिए और किन बातों से बचना चाहिए, जानिए

आचार्य चाणक्य भारत के महान विद्वानों में से एक थे। उन्होंने अर्थशास्त्र और चाणक्य नीति (Chanakya Niti) सहित कई ग्रंथ लिखे थे। आचार्य चाणक्य के द्वारा लिखित नीतिशास्त्र में उल्लेखित बातें आज के समय में भी प्रासंगिक हैं। आचार्य चाणक्य अर्थशास्त्र के ज्ञाता थे। उन्होंने अपने जीवन में हर तरह की परिस्थितियों का सामना किया था, इसलिए वह धन के महत्व को समझते थे।

Chanakya Niti Life Management Tips of Acharya Chanakya about Money and Finances MMA
Author
Ujjain, First Published Nov 14, 2021, 5:15 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. नीति शास्त्र (Chanakya Niti) में धन से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं। चाणक्य कहते हैं कि धन आने के बाद भी कुछ बातों को ध्यान में रखना चाहिए। यदि व्यक्ति इन बातों को ध्यान में नहीं रखता है उसका सारा धन जल्दी ही नष्ट हो जाता है। इन बातों का ध्यान सभी को रखना चाहिए नहीं तो भविष्य में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आगे जानिए इन बातों के बारे में…

धन आने पर न करें अहंकार
आचार्य चाणक्य के अनुसार धन आने के बाद भी व्यक्ति को अपने स्वभाव में विनम्रता रखनी चाहिए। धन आने पर व्यक्ति को अपने मन में अहंकार की भावना नहीं लानी चाहिए। अहंकार से बुद्धि भ्रष्ट हो जाती है। जिससे जल्दी ही व्यक्ति के धन का नाश हो जाता है। ऐसा करने से बचना चाहिए और अपने व्यवहार में विनम्रता बनाए रखनी चाहिए। 

धन आने पर न करें दिखावा 
कुछ लोग ऐसे होते हैं जो धन आने पर दिखावा करने लगते हैं और दूसरे लोगों को नीचा दिखाने का प्रयास करते हैं। ऐसा भूलकर भी नहीं करना चाहिए। धन को सदैव संभालकर रखना चाहिए। जो लोग दिखावे में आकर धन की फिजूलखर्ची करते हैं, उनका धन बहुत जल्दी नष्ट हो जाता है और वे समय आने पर पछताते हैं।

धन आने पर करें लोक हित के कार्य
धन आने पर व्यक्ति को केवल धन को संचय करके नहीं रखना चाहिए, अपितु कुछ धन लोक कल्याण के कार्य भी लगाना चाहिए। लोक कल्याण यानी लोगों की भलाई में। ऐसा करने से समाज और परिवार में आपको मान-सम्मान मिलता है। इसके साथ ही बुरे समय के लिए कुछ धन संचय करके भी रखना चाहिए।

केवल धन संचय न करें उसे निवेश भी करें
मनुष्य को धन आने पर केवल संचय करके नहीं रखना चाहिए बल्कि उसे सही जगह निवेश करना चाहिए। जो व्यक्ति धन आने के बाद केवल उसे संचय करना चाहता है, उस व्यक्ति का धन धीरे धीरे समाप्त होने लगता है। धन बढ़ाने के लिए उसे सही जगह निवेश करना भी जरूरी है।

चाणक्य नीति के बारे में ये भी पढ़ें

Chanakya Niti: जिस व्यक्ति की पत्नी में होते हैं ये 3 गुण, वो होता है किस्मत वाला

Chanakya Niti: लाइफ में सक्सेस पाने के लिए सभी को याद रखना चाहिए ये 10 बातें

चाणक्य नीति: जिन घरों में होते हैं ऐसे काम वहां नहीं ठहरतीं देवी लक्ष्मी, बनी रहती है दरिद्रता

चाणक्य नीति: इन 8 पर कभी नहीं होता दूसरों के दु:ख-दर्द का असर

चाणक्य नीति: पैसों के मामले में रखेंगे इन 4 बातों का ध्यान तो कभी नुकसान नहीं उठाएंगे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios