Asianet News HindiAsianet News Hindi

Lohri 2022: इन गीतों के बिना अधूरी है लोहड़ी, बड़ों के साथ-साथ बच्चे भी गाते हैं ये गीत

लोहड़ी (Lohri 2022) का नाम सुनते ही दिमाग में नाचते-गाते और खुशियां मनाते लोगों की तस्वीर सामने आ जाती है। और ऐसा सचमुच होता भी है। लोहड़ी पर गांव के लोग, रिश्तेदार और दोस्त एक जगह इकट्ठे होकर नाचते-गाते और खुशियां मनाते हैं।

Lohri 2022 Lohri lohri songs tradition of lohri Special things related to Lohri MMA
Author
Ujjain, First Published Jan 10, 2022, 6:07 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. लोहड़ी (Lohri 2022) से जुड़े कई गीत बहुत प्रसिद्ध हैं। ये गीत खास लोहड़ी पर ही गाए जाते हैं। इस मौके पर बड़ों के साथ-साथ बच्चों के लिए भी विशेष गीत बनाए गए हैं। ये गीत लोहड़ी की खुशियां और भी बढ़ा देते हैं। लोहड़ी पर दुल्ला भट्टी को, जो एक योद्धा था को गीत के रूप में जरूर याद किया है। दुल्ला भट्टी ने दो गरीब कन्याओं, सुंदरी-मुंदरी' के कन्यादान में केवल एक सेर शक्कर देकर शादी की थी। इससे जुड़ा ये गीत बहुत प्रसिद्ध है…

सुंदर मुंदरिए- हो तेरा कौन विचारा-हो
दुल्ला भट्टी वाला-हो
दुल्ले ने धी ब्याही-हो
सेर शक्कर पाई-हो
कुडी दे बोझे पाई-हो
कुड़ी दा लाल पटाका-हो
कुड़ी दा शालू पाटा-हो
शालू कौन समेटे-हो
चाचा गाली देसे-हो
चाचे चूरी कुट्टी-हो
जिमींदारां लुट्टी-हो
जिमींदारा सदाए-हो
गिन-गिन पोले लाए-हो
इक पोला घिस गया जिमींदार वोट्टी लै के नस्स गया - हो!

बच्चे लोहड़ी मांगते समय गाते हैं ये गीत
बच्चों की टोलियां जिनमें अधिकतर लड़के होते हैं, गीत गाकर लोहड़ी माँगते हैं और यदि कोई लोहड़ी देने में आनाकानी करता है तो ये मसख़रे बच्चे उनकी इस तरह ठिठोली भी करते हैं। ये गीत इस प्रकार है…
'पा नी माई पाथी तेरा पुत्त चढेगा हाथी हाथी
उत्ते जौं तेरे पुत्त पोत्रे नौ!
नौंवां दी कमाई तेरी झोली विच पाई
टेर नी माँ टेर नी
लाल चरखा फेर नी!
बुड्ढी साँस लैंदी है
उत्तों रात पैंदी है
अन्दर बट्टे ना खड्काओ
सान्नू दूरों ना डराओ!
चारक दाने खिल्लां दे
पाथी लैके हिल्लांगे
कोठे उत्ते मोर सान्नू
पाथी देके तोर!

लड़कियां गाती हैं ये बधाई गीत
लोहड़ी के मौके पर लड़कों के साथ लड़कियों की भी हिस्सेदारी होती है। लड़कियां ये बधाई गीत गाती हैं…
'कंडा कंडा नी लकडियो
कंडा सी
इस कंडे दे नाल कलीरा सी
जुग जीवे नी भाबो तेरा वीरा नी,
पा माई पा,
काले कुत्ते नू वी पा
काला कुत्ता दवे वदाइयाँ,
तेरियां जीवन मझियाँ गाईयाँ,
मझियाँ गाईयाँ दित्ता दुध,
तेरे जीवन सके पुत्त,
सक्के पुत्तां दी वदाई,
वोटी छम छम करदी आई।'
 

लोहड़ी की ये खबरें भी पढ़ें...
 

Lohri 2022: लोहड़ी की अग्नि में क्यों डालते हैं तिल, मूंगफली, मक्का आदि चीजें, ये हैं इसके पीछे का कारण

Lohri पर पुरुष करते हैं भांगड़ा तो महिलाएं गिद्दा कर मनाती हैं ये पर्व, क्यों खास है ये पारंपरिक डांस?

Lohri 2022: स्वादिष्ट और सेहतमंद होते हैं लोहड़ी पर खाएं जाने वाले ये पकवान, इनके बिना अधूरा है ये त्योहार


Lohri 2022: लोहड़ी पर जरूर याद किया जाता है इस पंजाबी योद्धा को, इनके बिना अधूरा होता है ये उत्सव

Lohri 2022: क्यों मनाते हैं लोहड़ी पर्व? देवी सती और भगवान श्रीकृष्ण की कथाएं जुड़ी हैं इस उत्सव से

Lohri 2022: 13 जनवरी को मनाया जाएगा लोहड़ी पर्व, ये है हंसने-गाने और खुशियां बांटने का उत्सव

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios