Asianet News HindiAsianet News Hindi

Shraddh Paksha 2022: श्राद्ध पक्ष में खरीदारी शुभ या अशुभ, कब-कब बन रहे हैं शॉपिंग के शुभ योग?

 Shraddh Paksha 2022: इन दिनों श्राद्ध पक्ष चल रहा है, जो 25 सितंबर तक रहेगा। श्राद्ध से जुड़ी कई मान्यताएं और परंपराएं हमारे समाज में प्रचलित हैं। उसी में से एक मान्यता ये भी है कि श्राद्ध के दौरान खरीदी नहीं करनी चाहिए।

Shraddha Paksha 2022 Pitru Paksha 2022 Shradh beliefs Traditions of Shradh MMA
Author
First Published Sep 14, 2022, 8:52 AM IST

उज्जैन. भाद्रपद मास की पूर्णिमा से आश्विन मास की अमावस्या तक श्राद्ध पक्ष (Shraddh Paksha 2022) होता है। इसे पितृ पक्ष भी कहते हैं। इस बार श्राद्ध पक्ष 10 सितंबर से शुरू हो चुका है, जो 25 सितंबर तक रहेगा। धर्म ग्रंथों में श्राद्ध से जुड़ी कई परंपराओं के बारे में बताया गया है। वहीं इससे जुड़ी कई अन्य मान्यताएं भी हमारे समाज में प्रचलित हैं। ऐसी ही एक मान्यता ये भी है कि श्राद्ध के दौरान खरीदी नहीं करनी चाहिए। इस मान्यता का कोई ठोस आधार नहीं है। आगे जानिए इस मान्यता के बारे में ज्योतिषियों का क्या मत है…

अशुभ नहीं, शुभ है पितृ पक्ष में खरीदी
पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र के अनुसार, पितृ पक्ष कभी अशुभ नहीं होता, इसलिए इन दिनों में हर तरह की खरीदारी की जा सकती है। किसी भी ग्रंथ में इस बात की जानकारी नहीं मिलती कि श्राद्ध के दौरान खरीदी करना अशुभ होता है। ये सिर्फ एक लोक मान्यता है जिसका कोई ठोस आधार नहीं है। श्राद्ध के दौरान खरीदी करने से किसी तरह का कोई दोष नहीं लगता और न ही पितृ नाराज होते हैं।

किसी भी प्रकार की खरीदी कर सकते हैं
डॉ. मिश्र के अनुसार, बहुत से लोग मानते हैं कि श्राद्ध पक्ष के दौरान कपड़े, वाहन, प्रॉपर्टी आदि नहीं खरीदना चाहिए, नहीं तो निकट भविष्य में नुकसान होने की संभावना रहती है। ये सिर्फ एक लोक मान्यता है जो बिल्कुल आधारहीन है। नई चीजें खरीदने से पितृ देवता कभी नाराज नहीं होते बल्कि वे तो अपने वंशजों की सुख-समृद्धि देखकर प्रसन्न होते हैं। इसलिए श्राद्ध में खरीदारी की जा सकती है।

ये 4 दिन खरीदी के लिए शुभ
डॉ. मिश्र के अनुसार, श्राद्ध के दौरान गलत कामों से बचना चाहिए ना कि शुभ और पवित्र कर्म से। इसलिए इन 16 दिनों खरीदारी की जा सकती है। इस बार भी श्राद्ध पक्ष में खरीदी के कई शुभ योग 16, 17, 21 और 25 सितंबर को बन रहे हैं। इन 4 दिनों में 3 सर्वार्थ सिद्धि, 2 अमृत सिद्धि और रवियोग रहेंगे। साथ ही एक द्विपुष्कर और बुध पुष्य संयोग बनेगा। 


ये भी पढ़ें-

Kunwara Panchani 2022: 14 सितंबर को करें अविवाहित परिजनों का श्राद्ध, ध्यान रखें ये 5 बातें


Shraddha Paksha 2022: पितृ दोष से परेशान हैं तो 25 सितंबर से पहले करें पौधों के ये आसान उपाय

Shraddha Paksha 2022: श्राद्ध के लिए श्रेष्ठ है ये नदी, मगर श्राप के कारण जमीन के ऊपर नहीं नीचे बहती है
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios