Asianet News Hindi

विदुर नीति: इन 4 लोगों का जीवन बहुत जल्दी नष्ट हो जाता है, जानिए क्यों होता है ऐसा

महाभारत काल के महात्मा विदुर जी को महान विचारक माना जाता है। वे बहुत ज्ञानी और सरल स्वभाव के थे। यही कारण था कि विदुर जी भगवान कृष्ण जी के भी प्रिय थे।

Vidur Niti, life of these 4 is destroyed early, know the reason behind it KPI
Author
Ujjain, First Published Jun 14, 2021, 9:09 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. विदुर जी की नीतियां वर्तमान में भी उतनी ही प्रासंगिक हैं। विदुर नीति में विदुर नीति के अनुसार, इंसान की बुरी आदतें उसे पतन की ओर ले जाती हैं। इन्हीं अवगुणों के आधार पर 4 तरह के लोगों के बारे में बताया गया है जिनका जीवन बहुत जल्दी नष्ट हो जाता है। आगे जानिए कौन हैं वे लोग…

1. लालच और स्वार्थ को व्यक्ति का सबसे बड़ा शत्रु होता है। जो व्यक्ति लोभ करता है, उसका जीवन बहुत जल्दी नष्ट हो जाता है। लोभी व्यक्ति दूसरों के धन को देखकर एक पल की भी शांति नहीं पाते हैं। यही उनके आयु कम होने का कारण बनता है।

2. मनुष्य को क्रोध से बचकर रहना चाहिए, क्रोध आने के पर मनुष्य को सही और गलत का भान नहीं रहता है, और कई बार वह स्वयं का ही अहित कर बैठता है, इसलिए कहा गया है कि अत्यधिक क्रोध करने वाले की आयु लघु होती है।

3. परिवार और समाज में सुख-शांति बनाएं रखने के लिए व्यक्ति के भीतर त्याग का गुण होना आवश्यक होता है। विदुर नीति कहती हैं कि जो व्यक्ति त्याग करना नहीं जानता है, उसका जीवनकाल लघु माना गया है। 

4. व्यक्ति को अहंकार की भावना से दूर रहना चाहिए। अहंकार से बुद्धि भ्रष्ट होती है। जब व्यक्ति की दृष्टि पर अहंकार का पर्दा पड़ जाता है तब वह सही और गलत की समझ को देता है। यही मनुष्य के नाश का कारण बनता है।

विदुर नीति के बारे में ये भी पढ़ें

विदुर नीति: जिस व्यक्ति में होते हैं ये 3 गुण, उसे सदैव मिलता है मान-सम्मान और सुख-शांति

विदुर नीति: इन 4 लोगों से सलाह लेने से बचना चाहिए, नहीं तो फंस सकते हैं मुसीबत में

विदुर नीति: स्त्री और आलसी सहित इन 4 लोगों को भूलकर भी धन नहीं देना चाहिए

विदुर नीति: किन 2 लोगों को समाज में सम्मान नहीं मिलता और धन के 2 दुरुपयोग कौन-से हैं?

विदुर नीति: जानिए कैसा अन्न, स्त्री, योद्धा और तपस्वी प्रशंसा के योग्य होते हैं

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios