उज्जैन. महाभारत का एक बहुत ही खास अंग है विदुर नीति, इसमें महात्मा विदुरजी ने कई काम की बातें और नीतियां बताई हैं। ये बातें आज के समय में भी प्रासंगिक है। अगर कोई भी इंसान इन बातों को ध्यान रखे तो उसे जीवन की हर सफलता और सुख मिल सकते हैं। विदुर नीति के अंतर्गत आज हम आपको बता रहे हैं कौन-से काम करने के बाद कमाया गया पैसा आपको व परिवार को सिर्फ दुख ही देता है...

श्लोक
अतिक्लेशेन येर्था: स्युर्धर्मस्यातिक्रमेण वा।
अरेर्वा प्रणिपातेन मा स्म तेष मन: कृथा:।।

अर्थ- जो धन बहुत ज्यादा क्लेश के बाद, धर्म का उल्लंघन करने से या शत्रु के सामने सिर झुकाने से मिलता हो, ऐसे धन की चाह नहीं रखनी चाहिए। इस तरह पाए गए धन को अपने पास रखने वाला धीरे-धीरे दरिद्र बनने लगता है।

1. बहुत ज्यादा क्लेश के बाद यानी किसी से वाद-विवाद करने या किसी को दुख पहुंचाने के बाद अगर हम पैसा कमाकर अपने घर ले जाते हैं तो ऐसे पैसे के कारण घर-परिवार में भी विवाद की स्थिति बनती है। इसलिए ऐसे पैसे से दूर रहना चाहिए।
2. धर्म का उल्लंघन यानी गलत काम करके कमाया गया पैसा भी जीवन में किसी को उन्नति नहीं करने देता। ऐसे पैसे को उसकी संतान नष्ट कर देती है। इसलिए गलत तरीके से पैसा नहीं कमाना चाहिए।
3. शत्रु के सामने सिर झुकाने पर यानी किसी ऐसे व्यक्ति के साथ काम करने से जिसके साथ आपकी बिल्कुल नहीं बनती और वह आपको भला-बुरा कहता रहता है, अगर पैसा आता है तो ऐसा धन आपको सुख नहीं दे सकता।.

विदुर नीति के बारे में ये भी पढ़ें

विदुर नीति: जानिए कैसा अन्न, स्त्री, योद्धा और तपस्वी प्रशंसा के योग्य होते हैं

विदुर नीति: पैसों का निवेश करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

विदुर नीति: जिस व्यक्ति में होते हैं ये 8 गुण, सभी लोग करते हैं उसकी प्रशंसा

विदुर नीति: जीना चाहते हैं लंबी उम्र तो आज ही छोड़ दें ये 6 अवगुण

चाहते हैं सफलता और सुख तो हमेशा ध्यान रखें महात्मा विदुर की बताई ये 4 बातें