Asianet News HindiAsianet News Hindi

IRCTC ने की Ramayana Yatra की शुरुआत, सरकार दे रही Tourism को बढ़ावा

IRCTC ने शनिवार 6 नवंबर को बताया श्री रामायण यात्रा 7 नवंबर से शुरू की जा रही है। रेलवे ने कहा,‘‘पहली रामायण सर्किट ट्रेन 7 नवंबर को नई दिल्ली से रवाना होगी और उसके बाद चार अन्य ट्रेन भी रवाना की जाएंगी।’’

Indian Railway IRCTC started Ramayana Yatra Government is promoting tourism RPS
Author
Bhopal, First Published Nov 6, 2021, 8:51 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ऑटो डेस्क, Ramayana Yatra :  इंडियन रेलवे की विंग IRCTC ने  श्री रामायण यात्रा (Shri Ramayana Yatra) टूर की शुरुआत की है।  इससे धार्मिक पर्यटन (religious tourism) को  बढ़ावा मिलने की बात कही जा रही है। आईआरसीटीसी ने श्री रामायण यात्रा श्रृंखला (Chain) का प्लान किया है।  इंडियन रेलवे (Indian Railway) की शाखा कैटरिंग ऐंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (IRCTC) ने शनिवार 6 नवंबर को बताया कि इस तरह की श्री रामायण यात्रा 7 नवंबर से शुरू की जा रही है। आईआरसीटीसी ने कहा,‘‘पहली रामायण सर्किट ट्रेन 7 नवंबर को नई दिल्ली से रवाना होगी और उसके बाद चार अन्य ट्रेन भी रवाना की जाएंगी।’’

दक्षिण भारत में मदुरै से प्रारंभ होगी ट्रेन
साउथ इंडिया के religious tourism market के मद्देनजर IRCTC श्री रामायण यात्रा एक्सप्रेस-मदुरै का संचालन करेगा। यह ट्रेन मदुरै से प्रारंभ होगी। इसके रूट में हम्पी, नाशिक, चित्रकूट, इलाहाबाद, वाराणसी जैसे शहर होंगे। इन शहरों में भ्रमण के बाद ये ट्रेन मदुरै वापस आएगी। यह ट्रेन 16 नवंबर को रवाना होगी। इसमें बताया गया कि श्री रामायण यात्रा एक्सप्रेस-श्री गंगानगर 25 नवंबर को रवाना होगी।

इंडियन रेलवे लीजिंग कॉन्सेप्ट पर आगे बढ़ रही
बता दें कि इंडियन रेलवे अब रेलवे टूरिज्म को प्रमोट करने के लिए लीजिंग कॉन्सेप्ट पर आगे बढ़ रही है।  इस योजना के मुताबिक पूरी ट्रेन या उसके कुछ कोच लीज पर दिए जाएंगे। जो कंपनी इसे लीज पर लेगी वो इसमें  कल्चरल, रिलिजन और अन्य तरह के थीम के मुताबिक छोटा बदलाव कर सकती है। इसके लिए रेल मंत्रालय ने एग्जिक्युटिव डायरेक्टर स्तरीय कमेटी का गठन किया है, यह कमेटी इससे संबंधित पॉलिसी और टर्म एंड कंडिशन के बारे में फैसला लेगी।

थीम बेस्ड पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
रेल मंत्रालय के अनुसार वर्तमान में बहुत कम संख्या में टूरिस्ट ट्रेन (Tourist Train) चलाई जा रहीं हैं। इनमें भी अधिकतर ट्रेन धार्मिक पर्यटन स्थलों की सैर कराती हैं। देश में सुंदर पर्यटन स्थलों को बढ़ावा देने के लिए अब ट्रेनों को ध्रार्मिक स्थानों के अलावा भी संचालित किए जाने की योजना बनाई जा रही है।    इसके लिए रेलवे ऐसे लोगों को व्यवसाय का मौका देगी जो देश के प्रमुख पर्यटन स्थलों का भ्रमण कराने के लिए एक योजनाबद्ध तरीके से काम कर सकते हैं। 


पांच साल के लिए ट्रेन दिए जाएंगे लीज पर
रेलवे बोर्ड (Railway Board) से मिली जानकारी के अनुसार इच्छुक पार्टी को ट्रेन कम से कम पांच साल तक के लिए लीज पर दिए जाएंगे। ट्रेन की लीज की अवधि बढ़ाई भी जा सकेगी, यदि डिब्बे की आयु और बचेगी। संबंधित पक्ष का कम से कम उतने डिब्बे किराये पर लेने होंगे, जिससे कि एक ट्रेन तो तैयार हो ही जाए। उन्हें टूरिस्ट सर्किट का रूट, स्टॉपेज, टैरिफ आदि डिसाइड करने का अधिकार मिलेगा।

ये भी पढ़ें- 
ट्रेनों का टाइम टेबिल समेत आज से बदल गए कई नियम, नवंबर में निवेशकों के लिए होगा बड़ा मौका
Diwali 2021 : महंगाई का फूटा बम, LPG कॉमर्शियल गैस सिलेंडर 264 रुपए महंगा, पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े
Diwali 2021: हरियाणा में भी पटाखों पर लगा प्रतिबंध, दिवाली सहित इन पर्वों पर बिकेंगे सिर्फ ग्रीन पटाखे
Bitcoin के बाद इस Cryptocurrency ने बनाया नया रिकॉर्ड, अमिताभ बच्चन ने की NFT में

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios