पटना। बिहार में 243 विधानसभा सीटों पर पहले फेज की वोटिंग से पहले चुनावी कैम्पेन चरम पर है। आज सोमवार को भी एनडीए के सीएम फेस नीतीश कुमार तीन जिलों की पांच विधानसभा क्षेत्रों के लिए जनसभाएं कीं। डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, बीजेपी बिहार के स्टेट प्रेसिडेंट संजय जायसवाल, बिहार बीजेपी के प्रभारी भूपेन्द्र यादव ने भी रैलियां कीं। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव तूफानी दौरे पर कई रैलियों में शामिल हुए। विधानसभा के चुनाव तीन फेज में कराए जा रहे हैं। पहले फेज का मतदान 28 अक्तूबर को है।

रैलियों के बड़े अपडेट्स :- 

तेजस्वी का नारा, नई सोच वाली सरकार 
बोधगया और बेलागंज में तेजस्वी की सभा में काफी भीड़ थी। तेजस्वी ने कहा- "युवाओं, किसानों, महिलाओं, शिक्षकों, छात्रों और संविदाकर्मियों को निरंतर 15 वर्षों तक ठगने वाली सरकार को हटाकर नए दौर में नई सोच वाली सरकार बनाए। बिहार इस बार अच्छी शिक्षा, उत्कृष्ट स्वास्थ्य, प्रभावशाली विधि व्यवस्था, चहुंमुखी विकास, महिला सशक्तिकरण, नौकरी और रोजगार के लिए मतदान करेगा। हार देख कुछ लोग अब मुद्दों को भटकाने का असफल प्रयास करेंगे लेकिन युवाओं-महिलाओं को नौकरी और सुरक्षा चाहिए।"
 

सिर्फ पहले पांच साल काम किया तो ये सारी चीजें कैसे 
घोषी विधानसभा में नीतीश ने कहा- "लोग कहते हैं सिर्फ पहला पांच साल काम किए। अगर हम सिर्फ पहला पांच साल काम करते तो क्या हर गांव तक सड़क और हर घर तक बिजली पहुंच जाती?" उन्होंने कहा- "हमने जब काम किया तो समाज में सद्भावना का माहौल पैदा हुआ, प्रेम का भाईचारे का माहौल पैदा हुआ। विकास का काम हमने किया, विकास का दर बढ़ा है, 12.8 प्रतिशत विकास का दर है। महिला आरक्षण से कितनी महिलाएं आगे बढ़ी हैं। नेतृत्व कर रही हैं समाज का।"

अतरी में नीतीश कुमार ने कहा- "अपराध पर नियंत्रण किया, आंकड़े आए और बिहार इतनी बड़ी आबादी का राज्य होने के बाद भी 23वें स्थान पर है। लोग दलितों के कंधे पर बंदूक रखकर चलाते थे, आपराधिक घटनाएं होती थीं, हमने सभी को सम्मान दिया, आगे आने का मौका दिया, अब कोई भी अपना कंधा बंदूक चलाने के लिए नहीं देता है। हमने तय किया क्राइम, करप्शन, कम्युनलिज्म को किसी भी तरह से बर्दाश्त नहीं करेंगे।" 

नीतीश ने कहा- "बिहार के लोगों ने हमें 2005 के नवंबर से काम करने का मौका दिया है। हमारा एक ही लक्ष्य है न्याय के साथ विकास, हर तबके का विकास, हर क्षेत्र का विकास, हमने कभी किसी के साथ भेदभाव नहीं किया।"

गया जिले की अतरी विधानसभा में नीतीश की सभा- देखें
 

बिहार मेरा परिवार  
टेकारी की सभा में नीतीश ने कहा- "जो गरीब गुरवा हैं, वृद्धजन हैं जिनको देखने वाला कोई नहीं है उनके लिए आवास का निर्माण करवाएंगे। वृद्धाश्रम का निर्माण करवायेंगे। हमने आज तक पूरे बिहार को परिवार मानकर सेवा की है। हमने विकास का काम किया लोगों को आगे बढ़ाने का काम किए और जो लोग काम नहीं किये, जिनको मौका मिला वो फिर से चाहते हैं उनको मौका मिले, अरे फिर से बिहार पीछे चला जाएगा।"

तेजस्वी यादव बढ़ाएंगे वृद्धा पेंशन 
बाराचट्टी में तेजस्वी यादव ने घोषणा की कि अगर उनकी सरकार बनती है तो वो वृद्धा पेंशन बढ़ा देंगे। तेजस्वी ने कहा- "महागठबंधन की सरकार बनने पर वृद्धा पेंशन 1 एक हजार कर देंगे। नियोजित शिक्षकों को समान काम पर समान वेतन देंगे। कृषि बिल माफ करेंगे। 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देंगे। बिहार सरकार बिजली उत्पादन करेंगे।" .

2020 के चुनाव को चुनौती के रूप में लें 
गया जिले के टेकारी में नीतीश की रैली को पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने भी समोधित किया। मांझी ने कहा- "2020 का जो चुनाव है उसे एक चुनौती के रूप में लेना है, एक ओर वो हैं जो दुर्गंध फैला कर जनता को बहकाना चाहते हैं, और दूसरी ओर अपने विकास कार्यों के बल पर हम सभी चुनाव लड़ रहे हैं। लोग नौकरी देंगे? अपहरण उद्योग चालू करेंगे जो 2005 से पहले चलता था।"

अपहरण उद्योग की वजह से भाग रहे थे लोग 
रफीगंज में नीतीश कुमार ने कहा- "गर्मी के होने के बाद भी आप लोग इस चुनावी सभी में आए हैं, धूप में खड़े हैं, इसके लिए सभी का धन्यवाद और अभिनंदन। पहले बिहार में चल रहे अपहरण उद्योग के चलते कितने ही व्यापारी और डॉक्टर बिहार छोड़ के भाग गए थे। रोजगार के लिए दो पैसा कमाने के लिए बिहार छोड़ने पर मजबूर हो गए थे।हमारे आते ही सब बदल गया, सबके विकास के लिए कार्य किये गए, सबको सुरक्षा मिली।"

उन्होंने कहा- "न सड़क था, न बिजली थी, जंगलराज था; आज हर घर में बिजली है, हर गांव तक सड़क है और बिहार में कानून का राज है। हमने शुरू में ही साफ कर दिया था कि हम अपराध, भ्रष्टाचार और साम्प्रदायिकता को किसी भी कीमत ओर बर्दाश्त नहीं करेंगे।"

बारचट्टी में क्या बोले तेजस्वी? 
तेजस्वी यादव गया जिले की बाराचट्टी विधानसभा क्षेत्र में महागठबंधन और आरजेडी प्रत्याशी समता मांझी के पक्ष में चुनावी सभा करने पहुंचे। तेजस्वी ने यहां भी नीतीश से उनके काम को लेकर सवाल किए। 

वजीरगंज में तेजस्वी बिहार का हर दूसरा परिवार कर रहा पलायन 
वजीरगंज में तेजस्वी ने बेरोजगारी और पलायन का मुद्दा उठाया। नेता प्रतिपक्ष ने कहा- हर दूसरा परिवार पलायन कर रहा है। कोई शिक्षा के लिए बाहर जाता है। कोई इलाज के लिए बाहर जाता है कोई रोजी रोटी के लिए बाहर जाता है। लेकिन इस 15 साल की सरकार ने ना तो गरीबी मिटाई, ना रोजगार दिया। डबल इंजन की सरकार थी तो बिहार को विशेष राज्य का दर्जा क्यों नहीं दिया।   
 

शेरगढ़ में लालू-राबड़ी पर हमला
शेरगढ़ में लालू यादव-राबड़ी देवी के कार्यकला पर हमला करते हुए नीतीश ने कहा- "पति-पत्नी थे। पति जेल में गए पत्नी को बैठा दिया, लेकिन महिलाओं के लिए कुछ किया? हमें मौका मिला तो हमने आरक्षण दिया। महिलाएं जनप्रतिनिधि बनीं। हमने कहा न्याय के साथ विकास, हर इलाके का विकास, समाज के हर तबके का उत्थान, जो किनारे पर हैं हाशिए पर हैं, कभी किसी की उपेक्षा नहीं की। हम तो काम करते हैं, करते रहेंगे। अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं को विभिन्न योजनाओं के तहत सहायता दी गई, उन्हें रोजगार लगाने के लिए प्रेरित किया। परित्यक्ता महिलाओं को 25 हजार रुपये की सहायता राशि दी। आज हजारों महिलाएं इसका लाभ उठा चुकी हैं।" 

सबकी सेवा मेरा मकसद 
उन्होंने कहा- "गया के सकहरा में जब जीविका दीदियों से मिले तो मन हर्षित हो गया। हम उनसे कुछ कहना चाहते थे लेकिन उनके ज्ञान, उनके कार्यों को सुनकर कुछ बोल ही नहीं पाए। अच्छा लगा देखकर महिलाएं स्वाबलंबी हुई हैं। हमने सबको पढ़ाने का काम, सबको आगे बढ़ाने का काम किया है। हमारा एक ही कर्तव्य है कि हम सबकी सेवा करें।"


गया जिले की शेरघाटी विधानसभा में नीतीश की रैली शुरू हो चुकी है। रैली का लाइव वीडियो देखें।   

 

लालू के मजे लिए 
उधर, एनडीए के दिग्गज नेता अशोक चौधरी ने एक कार्टून के जरिए आरजेडी चीफ लालू यादव पर पलटवार किया है। नीतीश ने उद्योग न लाने को लेकर बिहार में समुद्र नहीं होने का तर्क दिया था। लालू ने इसी पर चुटकी ली जिसका जवाब अशोक चौधरी ने दिया है। चौधरी ने ट्वीट में लिखा- "कुछ लउकत बा? विकास का मतलब तो आज तक आपको समझ में आया नहीं। बेल मिलने के बाद आइये बिहार। अब रांची से भी 6 घंटा में पहुंच जाइयेगा ऐसा सड़क बन गया है बिहार में।"