Asianet News HindiAsianet News Hindi

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बनेंगे शिक्षक, लोगों से पूछेंगे ये सवाल

पर्यावरण संरक्षण के लिए बिहार सरकार ने एक महत्वकांक्षी पहल जल-जीवन-हरियाली नाम से शुरू की है। इस योजना के तहत कुएं, आहर, पाईन जैसे जल सोत्रों का मरम्मत कर उसे फिर से जीवंत करना है।
 

CM nitish kumar will play role of teacher in his jal jivan hariyali yatra
Author
Sheohar, First Published Dec 24, 2019, 5:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

शिवहर। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब शिक्षक बनकर लोगों से सवाल पूछेंगे। जी हां, चौकिए मत, स्वयं नीतीश कुमार ने इस बात की जानकारी भरी सभा में दी है। वो लोगों से पर्यावरण, प्राकृतिक संतुलन, पर्यावरण जैसे मुद्दों पर पूछेंगे। सवाल पूछकर वो जानेंगे कि बिहार के लोग पर्यावरण जैसी गंभीर वैश्विक समस्या पर कितने जागरूक हुए। नीतीश कुमार ने स्वयं इस बात की घोषणा शिवहर में आयोजित एक सभा में की। यूं तो शिवहर बिहार का सबसे छोटा जिला है, लेकिन एक जिला होने के नाते यहां भी तमाम सरकारी सुविधाएं और योजनाएं अन्य जिलों के जैसे ही चल रहे हैं। 

हरियाली यात्रा पर निकले हैं सीएम नीतीश
पर्यावरण संरक्षण के लिए बिहार सरकार ने एक महत्वकांक्षी पहल जल-जीवन-हरियाली नाम से शुरू की है। इस योजना के तहत कुएं, आहर, पाईन जैसे जल सोत्रों का मरम्मत कर उसे फिर से जीवंत करना है। साथ ही रेन वाटर हार्वेंस्टिग, पौधरौपण करने की व्यापक योजना है। यह योजना पूरे राज्य में शुरू की जा चुकी है। योजना की जांच-पड़ताल और प्रगति को देखने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों बिहार की यात्रा पर निकले हैं। उनकी यात्रा का नाम भी योजना के नाम पर जल-जीवन-हरियाली यात्रा रखा गया है। 

शिवहर के दौरे पर पहुंचे थे नीतीश कुमार
इस यात्रा के तहत शिवहर पहुंचे सीएम साहब जब समीक्षा बैठक के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे, तभी कुछ लोगों ने अस्पताल निर्माण की मांग उठाई। इस मांग को देकर पहले तो नीतीश कुमार थोड़े भड़के। लेकिन फि शांत होते हुए बिल्कुल शिक्षक की भांति लोगों को समझाना शुरू किया। नीतीश ने बताया कि आप जिस अस्पताल की मांग कर रहे हैं, उसका प्रस्ताव पास हो गया है। जल्द ही निर्माण शुरू होगा। इसके बाद नीतीश ने कहा कि आपने हमें काम के लिए चुना है। हम जो भी काम कर रहें है, वो आपके लिए है। अभी मैं पूरे राज्य के दौरे पर निकला हूं। जगह-जगह हरियाली मिशन का काम हो रहा है। 

मानव शृंखला के लिए किया आमंत्रित 
लोगों की नारेबाजी से नाराज नीतीश कुमार ने कहा कि अगर आप नारेबाजी करते रहेंगे तो मैं जो बता रहा हूं वो नहीं सुन-समझ पाइएगा। हम इसकी परीक्षा लेंगे। सवाल पूछेंगे कि हम जो बिहार में घूम-घूम कर लोगों को जल जीवन हरियाली के बारे में जानकारी दे रहे हैं उसके बारे में कितनी जानकारी लोगों को है। इसके बाद नीतीश कुमार ने सभा में मौजूद लोगों को 19 जनवरी को बनने वाले मानव शृंखला में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios