पति था जेल में बंद, पत्नी के साथ गंदी हरकत करता था पड़ोसी, फिर हुआ ऐसा जिसने उड़ा दिए लोगों के होश

| Nov 29 2022, 04:53 PM IST

पति था जेल में बंद, पत्नी के साथ गंदी हरकत करता था पड़ोसी, फिर हुआ ऐसा जिसने उड़ा दिए लोगों के होश

सार

बिहार के अरवल में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला और उसकी साथ वर्षीय बेटी को ज़िंदा जला दिया गया। अस्पताल में इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई। 

अरवल(Bihar). बिहार के अरवल में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला और उसकी साथ वर्षीय बेटी को ज़िंदा जला दिया गया। अस्पताल में इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि देर रात गंदी नीयत से घर में घुसे गांव के एक युवक ने मंसूबे में विफल होने पर घर में पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक परासी थाना क्षेत्र के चकिया गांव निवासी अंजित पासवान उर्फ जटा पासवान पांच दिन पहले आठ लीटर देसी शराब के साथ पकड़ा गया था। तब से वह जेल में है। गांव के ही गोपी महतो का बेटा नंद कुमार महतो उसकी पत्‍नी सुमन(32) पर पर हमेशा बुरी नजर रखता था। अंजित के जेल जाते ही उसे मौका मिल गया। अकेला पाकर हमेशा वह सुमन के साथ छेड़छाड़ करता था। वह विरोध करती तो वह धमकाता था। आरोप है कि हर रात वह उसके घर आ धमकता था। महिला के विरोध के बाद लौट जाता था। सोमवार देर रात वह जबरदस्ती उसके घर में घुस गया और उसके साथ छेड़खानी करने लगा। जब वह अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हुआ तो उसने उनके छप्पर में पेट्रोल छिड़कर आग लगा दिया। घर में आग लगने से सुमन व उसकी सात वर्षीय बच्ची राधिका गंभीर रूप से झुलस गईं। इलाज के दौरान अस्पताल में दोनों की मौत हो गई।

Subscribe to get breaking news alerts

बाहर से बंद कर दिया था घर का दरवाजा 
ग्रामीणों के मुताबिक सोमवार की रात भी शराब के नशे में धुत होकर नंद कुमार महतो सुमन देवी के घर पहुंचा और गंदी हरकत करने लगा। महिला ने किसी तरह अपना बचाव करते हुए घर से धक्का देकर नंदकुमार को बाहर निकाल दिया और दरवाजा बंद कर लिया। इससे आक्रोशित होकर आरोपित अपने घर गया। बाइक से पेट्रोल निकालकर लौटा। छप्‍पर पर पेट्रोल छिड़क आग लगा दी। घर का दरवाजा भी बाहर से बंद कर दिया। 

ग्रामीणों ने दरवाजा तोड़कर निकाला बाहर 
छप्पर में तेज आग लगने से मां-बेटी चीखने-चिल्‍लाने लगीं। रात होने के वजह से गांव वालों को पहुंचने में भी काफी देर लग गई। तब तक छप्पर जलकर मां बेटी पर गिर चुका था। दोनों जलने लगीं। ग्रामीणों ने दरवाजा तोड़कर मां-बेटी को किसी तरह घर से बाहर निकाला। आनन-फानन इलाज के लिए सदर अस्पताल ले गए। दोनों की गंभीर स्थिति को देखते हुए चिकित्सकों ने तत्काल पटना रेफर कर दिया, जहां इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई। 

इसे भी पढ़ें...

बिहार में शॉकिंग घटना: भतीजे ने चबा डाला चाचा कान, फिर साथ ले गया खून से सना टुकड़ा

प्रिंसिपल ही बना दरिंदाः 8वीं की छात्रा के साथ पहले छात्रों ने फिर हेड मास्टर ने किया रेप