Asianet News HindiAsianet News Hindi

महाराष्ट्र में चोरी कर ट्रेन से झारखंड भाग रहे थे दो चोर, फ्लाइट से पहुंची महाराष्ट्र पुलिस ने मुंगेर से किया गिरफ्तार

झारखंड के साहिबगंज के दो चोरों ने 16 दिसंबर को महाराष्ट्र में चोरी की और उसके बाद लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस पकड़ कर घर भाग गए। चोरों का पीछा करते-करते फ्लाइट से बिहार पहुंची महाराष्ट्र पुलिस ने दोनों गिरफ्तार कर लिया। 

two thieves run away from mumbai with jewelry and cash arrested at munger
Author
Munger, First Published Dec 22, 2019, 1:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंगेर : चोरों का पीछा करते हुए पुलिस को फ्लाइट से एक जगह से दूसरी जगह आना-जाना तो अक्सर फिल्मों में दिखता है। लेकिन शनिवार को यह फिल्मी कहानी सच हुई बिहार के मुंगेर में। चोरों का पीछा करते हुए फ्लाइट से पटना और फिर पटना से मुंगेर पहुंची महाराष्ट्र पुलिस की टीम ने जमालपुर से दो चोरों को गिरफ्तार किया। पुलिस के हत्थे चढ़े दोनों चोरों ने अपना अपराध कबूल लिया, जिसके बाद महाराष्ट्र पुलिस उन दोनों को लेकर वापस महाराष्ट्र चली गई। बताया जाता है कि दोनों चोरों ने 16 दिसंबर को महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के सागरी थाना में चोरी और छिनतई की घटना को अंजाम दिया था। जिसके बाद लाखों के जेवरात और नगदी के साथ दोनों लोकमान्य तिलक ट्रेन पकड़ कर घर भाग रहे थे। लेकिन रास्ते में ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। 

झारखंड के साहिबगंज जिले के हैं दोनों चोर
मिली जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र की एक महिला के घर में चोरी और छिनतई की घटना को अंजाम देकर दोनों लोकमान्य तिलक ट्रेन से घर आ रहे थे। मुंगेर के जमालपुर स्टेशन से दोनों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार किए गए चोरों की पहचान साहिबगंज जिला के पियारपुर गांव निवासी रुस्तम रियाजुद्दीन एवं समरुल रियाजुद्दीन के रूप में हुई है। दोनों ने महाराष्ट्र में किए अपने अपराध को स्वीकार लिया। जिसके बाद महाराष्ट्र पुलिस दोनों को अपने साथ ले गई। चोरों को पकड़ने के लिए महाराष्ट्र से बिहार पहुंचे केस के आईओ एआर झाजुने ने बताया कि दोनों ने महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के सागरी थाना क्षेत्र में 16 दिसंबर को एक महिला के घर में चोरी व छिनतई की घटना को अंजाम दिया था। जिसके बाद दोनों चोर लोकमान्य तिलक ट्रेन से फरार हो गए थे। 

मोबाइल टावर लोकेशन से किया पीछा
फरार दोनों चोर की गिरफ्तारी के लिए महाराष्ट्र पुलिस लगातार टावर लोकेशन के आधार पर पीछा करते हुए जमालपुर स्टेशन पहुंची। महाराष्ट्र पुलिस की टीम फ्लाइट से पटना पहुंची और लोकमान्य तिलक ट्रेन से भाग रहे दोनों चोर की तलाश ट्रेन में शुरू कर दी। शातिर चोर ट्रेन की सीट बदलते रहे जिस कारण चोर की पहचान करने में थोड़ी परेशानी हुई। पर ट्रेन जब जमालपुर पहुंची तो रेल थानाध्यक्ष पुलेन्दु कुमार सिन्हा एवं एसआई सत्येंद्र कुमार सहित एएसआई युगल किशोर राय के सहयोग से आखिरकार दोनों चोर को एस-7 कोच से गिरफ्तार कर लिया गया।

प्रतीकात्मक फोटो 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios