Asianet News HindiAsianet News Hindi

संकट से जूझ रहे देश के 16 सहकारी बैंकों के ग्राहकों को आज से मिलेगा 5-5 लाख का बीमा कवर

एक नए कानून (New Act) के तहत 16 तनावग्रस्त सहकारी बैंकों (cooperative banks) के ग्राहकों को सोमवार से पांच लाख रुपए तक का जमा बीमा कवर (Life Insurance Cover) मिलेगा। जमा बीमा एवं ऋण गारंटी निगम (DICGC) ने इसके लिए पहले 21 बैंकों की एक सूची बनाई थी। 
 

Customers of 16 stressed cooperative banks will get deposit insurance of Rs 5 lakh from today
Author
New Delhi, First Published Nov 28, 2021, 11:43 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। संकट से जूझ रहे देश के 16 सहकारी बैंकों (cooperative banks) के ग्राहकों (Customers) के लिए अच्छी खबर है। मोदी सरकार के नए संशोधित कानून के तहत इन बैंकों के ग्राहकों को सोमवार को 5-5 लाख रुपए का बीमा कवर मिलेगा। यह रकम डिपॉजिट इंश्योरेंस कवर स्कीम (Deposit Insurance Scheme) के तहत दी जाएगी। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की सहयोगी संस्था डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉर्पोरेशन  (DICGC) एक नए नियम के तहत यह राशि जारी करेगी। DICGC ने इसके लिए पहले 21 बैंकों की एक लिस्ट बनाई थी। लेकिन, पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक समेत 5 अन्य सहकारी बैंकों को समाधान प्रक्रिया से गुजरने के कारण इस लिस्ट से बाहर कर दिया गया। 

संसद से पिछले महीने पारित हुआ है संशोधन
संसद ने पिछले महीने जमा बीमा और क्रेडिट गारंटी निगम (संशोधन) विधेयक, 2021 पारित किया था। इसका मकसद यह सुनिश्चित करना है कि आरबीआई द्वारा बैंकों पर रोक लगाने के 90 दिनों के भीतर खाताधारकों को 5 लाख रुपए मिलें। यह कानून एक सितंबर 2021 से लागू हुआ है, और इससे 90 दिनों की समयावधि 30 नवंबर 2021 को पूरी होगी। पहले चरण में भुगतान के लिए 90 दिनों की अवधि 30 नवंबर को पूरा हो रही है। डीआईसीजीसी की तरफ से जारी एक नोटिस के अनुसार इन बैंकों के जिन ग्राहकों ने अभी तक अपने दावे जमा नहीं किए हैं, वे अपने संबंधित बैंकों से संपर्क कर सकते हैं। उसने कहा- जमाकर्ताओं को पहचान के लिए आधिकारिक रूप से वैध दस्तावेज तथा उनके खाते में जमा राशि प्राप्त करने के लिए लिखित सहमति देनी होगी, जो अधिकतम 5 लाख रुपए हो सकती है। ग्राहकों को अपने एक अलग बैंक खाते की जानकारी भी देनी होगी, जिसमें पैसे भेजे जा सकें। डीआईसीजीसी के अनुसार वैध दस्तावेज जमा करने वाले जमाकर्ताओं को आधार कार्ड से जुड़े दूसरे बैंक खाते में राशि भेजी जाएगी।

इन बैंकों के ग्राहक पाएंगे 5 लाख रुपए
1- अडूर कोऑपरेटिव अरबन बैंक- केरल
2- सिटी कोऑपरेटिव बैंक- महाराष्ट्र
3- कपोल कोऑपरेटिव बैंक- महाराष्ट्र
4- मराठा शंकर बैंक, मुंबई- महाराष्ट्र
5- मिलत कोऑपरेटिव बैंक- कर्नाटक
6- पद्मश्री डॉ. विठल राव विखे पाटिल- महाराष्ट्र
7-पीपल्स कोऑपरेटिव बैंक, कानपुर- उत्तर प्रदेश
8- श्री आनंद कोऑपरेटिव बैंक, पुणे- महाराष्ट्र
9- सिकर अरबन कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड- राजस्थान
10- श्री गुरुराघवेंद्र सहकार बैंक नियमित- कर्नाटक
11- मुधोई कोऑपरेटिव बैंक- कर्नाटक
12- माता अरबन कोऑपरेटिव बैंक- महाराष्ट्र
13- सरजेराओदादा नासिक शिराला सहकारी बैंक- महाराष्ट्र
14- इंडिंपेंडेंस कोऑपरेटिव बेंक, नासिक- महाराष्ट्र
15- दक्कन अरबन कोऑपरेटिव बैंक, विजयपुर- कर्नाटक
16- ग्रह कोऑपरेटिव बैंक, गुना- मध्यप्रदेश

यह भी पढ़ें
Tripura Civic Elections: बीजेपी की क्लीनस्वीप के बाद TMC का बन रहा सोशल मीडिया पर मजाक
राजस्थान में CM के सलाहकारों और संसदीय सचिवों को कुछ नहीं मिलेगा, खुद मुख्यमंत्री अशाेक गहलोत ने कही ये बात...

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios