Asianet News HindiAsianet News Hindi

Career Tips: पांच सबसे बेस्ट कोर्स...सर्टिफिकेट हाथ में आते ही नौकरी पक्की !

समय बदल रहा है। अब स्टूडेंट्स कुछ अलग और नया करना चाहते हैं। मार्केट में कई तरह को कोर्स उपलब्ध हैं। लेकिन कुछ ऐसे कोर्स हैं, जिन्हें करने के बाद नौकरी की कमी नहीं होती है। ये कोर्स डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स होते हैं। 

Career Tips job oriented diploma training and certificate courses stb
Author
First Published Sep 5, 2022, 5:32 PM IST

करियर डेस्क : आज का समय तेजी से बदल रहा है। लाइफोस्टाइल बदल रही है तो नए-नए ऑप्शन भी सामने आ रहे हैं। ऐसे में युवा करियर बनाने सिर्फ एक फील्ड तक खुद को सीमित नहीं रखना चाहते। वे कुछ अलग करना चाहते हैं और करियर (Career) में आगे पढ़ना चाहते हैं। एकेडमिक कोर्स (Academic Course) की बजाय कुछ ऐसे डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स कर रहे हैं, जिससे उन्हें तुरंत नौकरी मिल जाए और कभी जॉब की कमी न हो। आज हम आपको बता रहे हैं पांच ऐसे कोर्स को बारें में, जिनकी डिग्री कंप्लीट होते ही जॉब पक्की हो जाती है...

Certification in Accounts and Finance
यह एक ऐसा कोर्स होता है, जिसके पूरा होने के बाद नौकरी तुरंत मिल जाती है। इस कोर्स के दौरान बिजनेस प्रॉसेस, बेसिक वॉइस ट्रेनिंग, एडवांस्ड वॉइस ट्रेनिंग और बेसिक फाइनेंस की ट्रेनिंग स्टूडेंट्स को दी जाती है। उन्हें फील्ड से जुड़ी बारीकियों और काम को सिखाया जाता है। छआत्रों को प्रैक्टिकल सेशन कर छोटी-छोटी चीजें समझाई जाती हैं। कोर्स कंप्लीट होते ही आईटी फाइनेंस, सर्विस सेक्टर या एफएमसीजी, सर्विस में नौकरी पक्की हो जाती है।

Diploma in Education Technology (DET)
इस कोर्स में एजुकेशनल सेटिंग्स में मल्टीमीडिया के बारे में जानकारी दी जाती है। बेसिकली यह कोर्स टीचर्स और एजुकेटर के लिए है। इसमें एमएस-ऑफिस, मल्टीमीडिया और ग्राफिक्स टूल्स के इस्तेमाल की ट्रेनिंग दी जाती है। इस कोर्स को करने के बाद नौकरी मिल जाती है।

PG Diploma in Preventive and Promotional Healthcare
इस कोर्स में आज के दौर में बदलती लाइफस्टाइल के हिसाब से होने वाली बीमारियों से कैसे लड़ा जाए, शरीर को कैसे फिट रखा जाए, सिखाया जाता है। इसके मैनेजमेंट की जानकारी दी जाती है। हेल्थ ऐंड डिजीज मैनेजमेंट, कैंसर रिस्क फैक्टर मैनेजमेंट, कार्डियक केयर, हेल्थ सायकोलॉजी ऐंड स्ट्रेस मैनेजमेंट, न्यूट्रिशन और डायटेटिक्स, एक्सरसाइज हेल्थ ऐंड लाइफस्टाइल असेसमेंट की जानकारी दी जाती है। इसके आप स्किल्ड होते हैं और कोर्स के बाद जॉब कर सकते हैं या खुद का काम भी शुरू कर सकते हैं। यह कोर्स ग्रेजुएशन के बाद किया जाता है।

Systematic Training And Education
सिस्टमेटिक ट्रेनिंग एंड एजुकेशन प्रैक्टिकल ट्रेनिंग प्रोग्राम है। स्टूडेंट्स को हाउस कीपिंग, फ्रंट ऑफिस, किचन सर्विस और फूड एंड बेवरेज के बारें में सिखाया जाता है। किचन ऑपरेशंस प्रोग्राम में इंडियन और वेस्टर्न किचन की अलग-अलग जानकारी दी जाती है। इस कोर्स के बाद छात्रों को बैचलर ऑफ टूरिजम की डिग्री दी जाती है। कोर्स के बाद होटल में ऑपरेशनल असिस्टेंट के तौर पर काम कर सकते हैं। इस कोर्स के बाद जॉब की कमी नहीं रहती।

Diploma in Food and Beverage Service Management
यह एक डिप्लोमा कोर्स है। इसमें फूड एंड वेबरेज सर्विस, फूड एंड वेबरेज सर्विस इक्वीपमेंट, मैथड, प्रैक्टिकल ट्रेनिंग फूड सर्विस मैथड संबंधी सभी जानकारी दी जाती है। यह कोर्स एक साल का होता है। कोर्स के बाद जॉब की ढेर सारी अपॉर्च्युनिटी मिलती है।  और उसकी टर्मिनोलॉजी के बारे में पढ़ाया जाता है. इस कोर्स का ड्यूरेशन करीब एक वर्ष होता है जिसे महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी, रोहतक से कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें
Career Guidance: शॉपिंग से कर सकते हैं कमाई, न डिग्री और ना ही कॉलेज की जरूरत, जानें कैसे

आपके पास भी हैं ये Skills तो नहीं होगी नौकरी की कमी, छप्पड़ फाड़ के आएंगे पैसे !

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios