Asianet News HindiAsianet News Hindi

CBSE: बोर्ड ने जारी किया 10वीं और 12वीं के पहले टर्म के लिए सैंपल पेपर, जानें इस बार कैसी होगी मार्किंग स्कीम

पहले टर्म की परीक्षाएं नवंबर से दिसंबर 2021 में आयोजित की जाएंगी। स्टूडेंट्स मार्किंग स्कीम और सैंपल पेपर ऑफिशियल वेबसाइट cbse.gov.in पर जाकर देख सकते हैं। 

cbse board class 10th and 12th exam sample paper released Know Marking Scheme for this year
Author
New Delhi, First Published Sep 3, 2021, 11:51 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 2021-22 सेशन के लिए 10वीं और 12वीं क्लास के होने वाले टर्म-1 एग्जाम के लिए सैंपल पेपर और मार्किंग स्कीम किया है। अभी हाल ही में फैसला लिया गया था कि अब 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं दो टर्म में ली जाएंगी। पहले टर्म की परीक्षाएं नवंबर से दिसंबर 2021 में आयोजित की जाएंगी। स्टूडेंट्स मार्किंग स्कीम और सैंपल पेपर ऑफिशियल वेबसाइट cbse.gov.in पर जाकर देख सकते हैं। 

डायरेक्ट लिंक
छात्र इस डायरेक्ट लिंक के जरिए भी मार्किंग स्कीम और सैंपल पेपर देख सकते हैं। 10वीं क्लाल के छात्र यहां क्लिक करें। जबकि 12वीं क्लास के छात्र इस लिंक में क्लिक करके सैंपल पेपर देख सकते हैं।  

स्टूडेंट्स इसे डाउनलोड भी कर सकते हैं। पेपर डाउनलोड करने के बाद इस सैंपल पेपर के आधार पर तैयारी कर सकते हैं। सैंपल पेपर में परीक्षा में आने वाले सवालों सहित सवाल के टाइप का डिटेल्स दिया गया है। टर्म 1 में मल्टीपल जॉइस क्वेश्चन (MCQ) या ऑब्जेक्टिव पेपर होगा और 50 फीसदी सिलेबस पर आधारित होगा। परीक्षा ऑफलाइन या ऑनलाइन (कोरोना की स्थिति के आधार पर) कराई जाएगी। यह पेपर बोर्ड जारी करेगा।

इसे भी पढे़ं- Upsc Interview: अगर जोधपुर का विलय पाकिस्तान में हो जाता तो क्या नुकसान होता? ऐसा था कैंडिडेट्स का जवाब

दूसरे टर्म के एग्जाम का फैसला 2022 कोविड-19 स्थिति को ध्यान रखते हुए डिटेल्ड क्वीश्चन या MCQ आधारित होगा। पहले टर्म की परीक्षाएं एमसीक्यू आधारित होंगी, लेकिन अगर कोरोना का दौर मार्च-अप्रैल तक बना रहता है तो दूसरे टर्म की भी परीक्षाएं भी एमसीक्यू आधारित हो सकती हैं।

इसे भी पढे़ं-  भेल में अप्रेंटिसशिप के लिए निकली वैकेंसी, हम महीने मिलेगा इतना वेतन, ये कैंडिडेट्स कर सकते हैं अप्लाई

रद्द किए गए थे एग्जाम
कोरोना वायरस के कारण बोर्ड की तरफ से 10वीं और 12वीं 2021 की परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया था। इस बार रिजल्ट आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर बना था। इस बार छात्रों की मेरिट लिस्ट भी नहीं जारी की गई थी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios