Asianet News HindiAsianet News Hindi

IIFT Exams: इस कारण से स्थगित हो गए IIFT एग्जाम, 5 दिसंबर को इन राज्यों में होने थे एग्जाम

परीक्षा स्थगित करना का कारण है जवाद चक्रवात (Cyclone Jawad) है। ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश के विभिन्न केंद्रों पर आयोजित होने वाली थी स्थगित की गई हैं। इन शहरों के लिए परीक्षा की संशोधित तारीख की घोषणा फिर से की जाएगी। 
 

IIFT Exams: odisha andhra pradesh and west bengal iift exam 2021 rescheduled due to jawad cyclone pwt
Author
New Delhi, First Published Dec 4, 2021, 9:48 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क.  भारतीय विदेश व्यापार संस्थान, (Indian Institute of Foreign Trade) आईआईएफटी (IIFT) की 5 दिसंबर को होने वाली परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है। ये परीक्षा पहले 5 दिसंबर को आयोजित की जानी थी। परीक्षा स्थगित करना का कारण है जवाद चक्रवात (Cyclone Jawad) है। ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश के विभिन्न केंद्रों पर आयोजित होने वाली थी स्थगित की गई हैं। इन शहरों के लिए परीक्षा की संशोधित तारीख की घोषणा फिर से की जाएगी। 

जवाद चक्रवात के लिए दोनों राज्यों को रेड अलर्ट जारी करने के बाद नेशनल टेस्टिंग एजेंसी, एनटीए की ओर से यह फैसला लिया गया है। इस परीक्षा के लिए अप्लाई करने वाले कैंडिडेट्स IIFT 2021 के बारे में अधिक जानकारी आधिकारिक वेबसाइट nta.ac.in और iift.nta.nic.in पर जाकर ले सकते हैं। आईआईएफटी परीक्षा 2021 कैंसल करने पर एनटीए (NTA) ने आधिकारिक नोटिस में कहा है कि चक्रवात को देखते हुए परीक्षा कैंसल कर दी गई है।

तटीय क्षेत्रों में आ सकता है तूफान
जवाद तूफान ओडिशा के तटीय क्षेत्रों में आने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि इस तूफान के कारण ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों में आने से जनजीवन पर असर पड़ सकता है। ऐसे में विजयवाड़ा, विशाखापत्तनम, भुवनेश्वर, संबलपुर, कटक, कोलकाता और दुर्गापुरी के शहरों में बने एग्जाम सेंटर भी प्रभावित हो सकते हैं और एग्जाम को अगली तारीख तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। 

एग्जाम पैटर्न

  • आईआईएफटी परीक्षा पैटर्न 2022
  • मौखिक क्षमता और पढ़ने की समझ - 35 प्रश्न
  • मात्रात्मक विश्लेषण - 25 प्रश्न
  • डाटा इंटरप्रिटेशन और लॉजिकल रीजनिंग - 30 प्रश्न
  • सामान्य जागरूकता (जीके) - 20 प्रश्न

क्या है जवाद चक्रवात
बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र चक्रवाती तूफान जवाद के रूप में बदल गया है। माना जा रहा है कि इसके ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल के तटों पर टकराने की संभावना है। इसकी वजह से बिहार और झारखंड में भी भारी बारिश की संभावना है।

इसे भी पढ़ें- NIOS में एडमिशन की प्रोसेस शुरू, कैंडिडेट्स ऐसे कर सकते हैं अप्लाई, जानें कितनी है फीस

Delhi University में बदल सकता है एडमिशन का नियम, अगले साल से इस तरह मिलेगा प्रवेश
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios