Asianet News HindiAsianet News Hindi

IIT placements: 60 छात्रों को 1 करोड़ रुपए का पैकेज, IIT रुड़की के स्टूडेंट्स को 2.15 करोड़ रुपये का ऑफर

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (IIT) में  प्लेसमेंट अभियान (IIT placements ) की शुरुआत हुई  आईआईटी रूड़की के एक छात्र को तकनीक के क्षेत्र में काम करने वाली एक अंतरराष्ट्रीय कंपनी ने 2.15 करोड़ रुपये का वार्षिक पैकेज दिया है। 
 

IIT placements iit students get a package of more than one crore rupees pwt
Author
New Delhi, First Published Dec 3, 2021, 11:43 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. कोरोना (Covid-19) के बाद एक अर्वव्यवस्था एक बार फिर से पटरी पर लौटने लगी है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (IIT) में  प्लेसमेंट अभियान (IIT placements ) की शुरुआत हुई और कई छात्रों को एक करोड़ रुपये से अधिक का वार्षिक पैकेज मिला है। अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि यह कोविड से पहले के समय से भी बेहतर प्रदर्शन है। आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi) में कम से कम 60 छात्रों को एक करोड़ रुपये का पैकेज मिला। आईआईटी रूड़की के एक छात्र को तकनीक के क्षेत्र में काम करने वाली एक अंतरराष्ट्रीय कंपनी ने 2.15 करोड़ रुपये का वार्षिक पैकेज दिया है। 


IT BHU के पांच छात्रों को अमेरिकी कंपनी ने दिया ऑफर
बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय  (IIT BHU) के पांच छात्रों ने अमेरिका की शीर्ष फर्मों में से एक ऊबर (Uber) में नौकरी मिली है। पांच में से एक छात्र को कंपनी के अमेरिकी कार्यालय में काम करने का प्रस्ताव मिला जबकि दूसरे को दो करोड़ रुपये का पैकेज मिला। कुल 55 कंपनियों ने IIT BHU के छात्रों को 32.89 लाख रुपये प्रति वर्ष और न्यूनतम 12 लाख रुपये के औसत पैकेज के साथ 232 ऑफर लेटर दिए। 

इसी प्रकार आईआईटी बॉम्बे के एक छात्र को उबर कंपनी ने लगभग 2.05 करोड़ रुपये के पैकेज का प्रस्ताव दिया जबकि आईआईटी गुवाहाटी के एक छात्र को दो करोड़ रुपये प्रतिवर्ष का पैकेज मिला। आईआईटी मद्रास की ओर से कहा गया कि प्लेसमेंट के पहले दिन पिछले साल के मुकाबले 43 प्रतिशत अधिक प्रस्ताव आए। आईआईटी बाजार में औसत वार्षिक वेतन में 16 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई।

आईआईटी दिल्ली में अब तक लगभग 180 पीपीओ प्राप्त हुए हैं और 7 छात्रों ने संस्थान की आस्थगित प्लेसमेंट सुविधा का विकल्प चुना है। संस्थान ने एक बयान में कहा कि स्थगित प्लेसमेंट की सुविधा उन छात्रों के लिए उपलब्ध है जो स्नातक होने के बाद स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं। ऑफिस ऑफ करियर सर्विसेज, आईआईटी दिल्ली के प्रमुख, अनीश ओबराई मदान ने कहा, हमें विश्वास है कि भर्ती के नए तरीके और हमारे शेड्यूलिंग प्रतिमान को देखते हुए, कंपनियां हायरिंग के अच्छे फैसले लेने में सक्षम होंगी। हम इस सकारात्मक भर्ती प्रवृत्ति को शेष सीज़न के लिए जारी रखने की आशा करते हैं।

इसे भी पढ़ें- Success Story: मैराथन की तरह होती है यूपीएससी की जर्नी... IAS प्रखर सिंह से जानिए सफलता के Do and Don'ts

Success Story: IITians विदेश क्यों जा रहे हैं? UPSC Interview के ऐसे सवालों का जवाब देकर बन गए IAS

Success Story: विदेश में जॉब का ऑफर छोड़ UPSC की शुरू की तैयारी, नतीजा- 2020 में मिली 29वीं रैक

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios