Asianet News HindiAsianet News Hindi

5th And 8th Class Exams: MP में फिर बोर्ड पैटर्न पर हो सकती हैं 5वीं और 8वीं की परीक्षाएं, जल्द होगा फैसला

कोरोना संक्रमण के चलते बीते 2 साल से कक्षा पहली से लेकर आठवीं तक की एग्जाम रद्द होते रहे हैं। सत्र 2019-20 में बोर्ड परीक्षाएं शुरू हुई थी। लेकिन कोरोना के बढ़ते प्रभाव के चलते परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया था। 

mp 5th and 8th class exams may be according to board pattern state education center will conduct
Author
New Delhi, First Published Dec 3, 2021, 11:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में एक बार फिर से 5वीं और 8वीं की परीक्षाएं (5th And 8th Class Exams) बोर्ड पैटर्न (board pattern) पर कराने की  तैयारी हो रही है। राज्य शिक्षा केंद्र (state education center ) ने इसके लिए तैयारियां लगभग पूरी कर ली हैं। बोर्ड पैटर्न पर एग्जाम कराने को लेकर जल्द फैसला भी हो सकता है। ऐसा इसलिए की आरटीई अधिनियम में संशोधन होने से बोर्ड पैटर्न पर एग्जाम कराने का रास्ता साफ हो गया था। बता दें कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद 5वीं और 8वीं की बोर्ड एग्जाम को खत्म कर दिया गया था। कक्षा 05 वीं और आठवीं की बोर्ड पैटर्न परीक्षा राज्य शिक्षा केंद्र आयोजित करेगा। क्वेश्चन पेपर राज्य स्तर से सेट किया जाएगा। कॉपियों की जांच अन्य स्कूलों के शिक्षक से कराई जाएगी। 

कोरोना के चलते स्थगित हुई थी एग्जाम
कोरोना संक्रमण के चलते बीते 2 साल से कक्षा पहली से लेकर आठवीं तक की एग्जाम रद्द होते रहे हैं। सत्र 2019-20 में बोर्ड परीक्षाएं शुरू हुई थी। लेकिन कोरोना के बढ़ते प्रभाव के चलते परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया था। साल 2020 में कक्षा पांचवी से लेकर आठवीं तक की परीक्षा फिर से कोरोना के कारण रद्द कर दी गई थीं। अब 2020-2021 सेशन की एग्जाम बोर्ड पैटर्न पर करवाने के लिए तैयारियां की जा रही हैं। माना जा रहा है कि फाइनल एग्जाम मार्च 2022 तक हो सकते हैं।
 
शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद 05वी और 08वीं की बोर्ड परीक्षाओं को समाप्त कर दिया गया था। अधिनियम में किसी भी विद्यार्थी को कक्षा आठवीं तक फेल नहीं करने की बात कही गई थी इसके बाद शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाए रखने 2017-18 में अधिनियम में संशोधन किया गया। अधिनियम में संशोधन कर राज्यों को पांचवी और आठवीं की परीक्षाएं बोर्ड पैटर्न पर करवाने के अधिकार दिए गए थे। लेकिन अब 12 साल बाद एक बार फिर से पांचवी और आठवीं तक के एग्जाम को बोर्ड पैटर्न पर कराने के लिए पूरी तैयारी कर ली  गई है। 

इसे भी पढ़ें- Success Story: मैराथन की तरह होती है यूपीएससी की जर्नी... IAS प्रखर सिंह से जानिए सफलता के Do and Don'ts

Success Story: IITians विदेश क्यों जा रहे हैं? UPSC Interview के ऐसे सवालों का जवाब देकर बन गए IAS

Success Story: विदेश में जॉब का ऑफर छोड़ UPSC की शुरू की तैयारी, नतीजा- 2020 में मिली 29वीं रैक

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios