Asianet News HindiAsianet News Hindi

Schools Reopen: 20 महीने बाद इस राज्य में फिर से खुले स्कूल, स्टूडेंट्स खुश पैरेंट्स को चिंता

कॉलेजों और विश्वविद्यालयों ने भी मंगलवार को छात्रों के लिए अपने दरवाजे खोल दिए, हालांकि इनमें से कुछ संस्थानों के अधिकारियों ने कहा है कि विभिन्न संकायों के लिए अलग-अलग दिन निर्धारित किए जाएंगे ताकि परिसरों में भीड़ और मिलन कम हो सके।

Schools Reopen: West Bengal schools reopen for classes 9-12 after 20 months after  COVID-19 pandemic pwt
Author
New Delhi, First Published Nov 16, 2021, 7:17 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. कोरोना संक्रमण (Covid-19) के कारण लंबे समय से बंद स्कूल (Schools Reopen) एक बार फिर से खुल  गए हैं। लेकिन स्कूल खुलने के साथ ही जहां स्टूडेंट्स और टीचर्स खुश हैं वहीं,  पैरेंट्स के बीच घबराहट भी है। पश्चिम बंगाल में 9वीं से 12वीं तक के स्कूल मंगलवार को फिर से खुल गए, क्योंकि COVID-19 महामारी के कारण करीब 20 महीने से ऑफलाइन स्कूल बंद थे केवल ऑनलाइन क्लासेस चल रही थीं। जूनियर और मिडिल स्कूलों के छात्रों के लिए कक्षाएं फिलहाल ऑनलाइन मोड में जारी रहेंगी, यहां तक कि राज्य के शिक्षा मंत्री ने कहा है कि धीरे-धीरे सभी विद्यार्थियों को कक्षाओं में वापस लाने के प्रयास जारी हैं।

माध्यमिक और उच्च माध्यमिक वर्गों के लिए अलग-अलग समय में कक्षाएं आयोजित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा घोषित कार्यक्रम के अनुसार छात्र सुबह से पश्चिम बंगाल में स्कूल के गेट पर दिखाई दिए। शिक्षकों और कर्मचारियों ने अपने टैम्प्रेचर चेक कराया। वहीं, छात्र और छात्राओं के हैंड सैनिटाइज़र और थर्मल स्क्रीनिंग किया गया। इसके साथ ही स्टूडेंट्स को सलाह दी गई कि स्कूल के समय मास्क पहन कर रखें। 

शिक्षा मंत्री ने कहा- किसी भी छात्र को स्कूल आने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा और यह उन पर और उनके माता-पिता पर निर्भर है कि वे इस पर फैसला लें। कुछ माता-पिता स्कूलों को फिर से खोलने पर खुश थे, हालांकि पैरेंट्स ने आशंका व्यक्त की कि क्या उनके बच्चे COVID सुरक्षा के दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे क्योंकि छात्र एक-दूसरे को देखेंगे और बहुत लंबे समय के बाद कक्षाओं में एक साथ बैठेंगे। 

कॉलेजों और विश्वविद्यालयों ने भी मंगलवार को छात्रों के लिए अपने दरवाजे खोल दिए, हालांकि इनमें से कुछ संस्थानों के अधिकारियों ने कहा है कि विभिन्न संकायों के लिए अलग-अलग दिन निर्धारित किए जाएंगे ताकि परिसरों में भीड़ और मिलन कम हो सके। दक्षिण कोलकाता के एक निजी स्कूल की छात्रा ने कहा, मैं इतने लंबे समय के बाद स्कूल में वापस आकर रोमांचित हूं, ऑनलाइन बातचीत करना कभी भी दोस्तों और शिक्षकों से आमने-सामने बात करने जितना अच्छा नहीं हो सकता।

 

इसे भी पढ़ें- CBSE ICSE Exams: हाइब्रिड मोड से होगी आईसीएसई और सीबीएसई बोर्ड एग्जाम? जानें सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा

Upsc Interview Tricky Questions: कौन सी फिल्म में पत्नी का कद पति से बड़ा हो जाता है? IQ के लिए पूछा गया सवाल

UPSC Success Story 2020: 6 अटेम्पट देकर चौथे इंटरव्यू में IAS बन गईं मध्य प्रदेश की अहिंसा जैन

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios