स्पोर्ट्स डेस्क : इंडिया-ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border-Gavaskar Trophy) का तीसरा टेस्ट मैच ड्रॉ हो गया। भारत की ओर से हनुमा विहारी और आर अश्विन ने कंगारूओं की जीत के मंसूबों पर पानी फेर दिया। इसी के साथ भारतीय टीम टेस्ट सीरीज जीतने से महज एक कदम ही दूर है। ब्रिसबेन में खेले जाने वाला चौथा टेस्ट मैच अगर भारत जीत लेता है, तो वह ऑस्ट्रेलिया की धरती पर दूसरी बार टेस्ट सीरीज जीतकर इतिहास बना लेगा। 

ऐसा रहा मैच का हाल
सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) में खेला गए तीसरे टेस्ट मैच के पांचवे दिन भारतीय टीम एक पहाड़ जैसे स्कोर का सामना करने उतरी थी। ऑस्ट्रेलिया के 407 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए रोहित शर्मा ने बेहतरीन शुरुआत की और 52 रन बनाए। इसके बाद ऋषभ पंत और चेतेश्वर पुजारा ने 148 रनों की पार्टनरशिप की। ऋषभ पंत ने 97 रन बनाए, जबकि पुजारा 77 रन बनाकर हेजलवुड का शिकार हो गए। इसके बाद अश्विन और हनुमा विहारी ने मिलकर मैच ड्रॉ करा दिया। आर अश्विन 39 और हनुमा विहारी 23 रन पर नॉटआउट पवेलियन लौटे। बता दें कि दूसरी पारी में भारत ने 5 विकेट के नुकसान पर 334 रन बनाए। 

चोट के बाद भी पंत ने दिखाया कमाल
ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान कई सारे भारतीय खिलाड़ी चोटिल हो गए थे। उन्हीं में से एक ऋषभ पंत भी है। पिछले मैच के दौरान ही पंत की बाईं कोहनी में गेंद लगी थी, जिसके चलते वह काफी तकलीफ में थे। हालांकि इस मैच में उन्होंने अपना दर्द भूलकर एक शानदार पारी खेली, फिर भी वह अपने दूसरे टेस्ट शतक से पीछे छूट गए। दरअसल, पांचवे दिन उन्होंने 118 गेंदों में शानदार 97 रन बनाए, जिसमें 12 चौके और 3 छक्के शामिल थे। अपने शतक से 3 रन दूर वो नाथन लॉयन का शिकार बने।

आखिरी टेस्ट मैच होगा निर्णायक
टेस्ट मैच में 1-1 की बराबरी से चल रही भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीम के लिए 15 जनवरी से ब्रिसबेन में खेला जाने वाला मैच निर्णायक होगा। अगर भारत ये आखिरी मैच जीतती है, तो वह ऑस्ट्रेलिया की धरती पर कंगारुओं को हराना का कारनामा दूसरी बार करेगी। साथ ही सीरीज पर भी कब्जा जमा लेगी। बता दें कि इससे पहले खेले गए वनडे और टी 20 सीरीज में भी भारत-ऑस्ट्रेलिया के पास 1-1 प्वाइंट है।