Asianet News Hindi

आतंकी हमले में घायल हुआ था यह अंपायर, बहादुरी के साथ की मैदान पर वापसी

श्रीलंकाई टीम की बस पर मार्च 2009 में जब आलंकवादी हमला हुआ था तब अहसान को भी गोली लगी थी। वह रिजर्व अंपायर की भूमिका निभा रहे थे और बस के पीछे दूसरी गाड़ी में थे।

This umpire was injured in a terrorist attack, returned to the ground with bravery
Author
Karachi, First Published Sep 21, 2019, 6:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कराची. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने आस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज डेविड बून को श्रीलंका के पाकिस्तान दौरे पर खेली जानी वाली सीमित ओवरों की श्रृंखला के लिए मैच रैफरी नियुक्त किया है। आईसीसी ने शनिवार को कहा कि 27 सितंबर से नौ अक्टूबर के बीच कराची और लाहौर में खेली जाने वाली तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला और टी20 अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला के लिए बून मैच रैफरी होंगे। बून आईसीसी मैच रैफरियों के पैनल में सबसे अनुभवी अधिकारी है। 58 साल के बून ने 2011 से अब तब 135 एकदिवसीय और 51 टी20 अंतरराष्ट्रीय में मैच रैफरी की भूमिका निभाई है। उन्होंने 1984 से 1996 के बीच 107 टेस्ट और 181 एकदिवसीय मैचों में आस्ट्रेलिया का प्रतिनिधित्व किया है।

अंपायरों के एलीट पैनल में विल्सन और गॉफ 
आईसीसी ने इसके साथ ही श्रृंखला के लिए जोएल विल्सन और माइकल गॉफ को आईसीसी एलीट पैनल के अंपायर के तौर पर नियुक्त किया है। गॉफ इससे पहले पीएसएल के चौथे सत्र के फाइनल के लिए पाकिस्तान गये थे। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने घरेलू अंपायर के तौर पर एलीट पैनल के अंपायर अलीम डार के अलावा अहसान रजा, शोएब रजा और आशिफ याकूब के नामों की घोषणा की है। 

आतंकी हमले में घायल हुए थे अहसान 
श्रीलंकाई टीम की बस पर मार्च 2009 में जब आलंकवादी हमला हुआ था तब अहसान को भी गोली लगी थी। वह रिजर्व अंपायर की भूमिका निभा रहे थे और बस के पीछे दूसरी गाड़ी में थे। इसके बाद वह किडनी के आपरेशन और अन्य जटिल समस्याओं से उबर गये। उन्होंने फिर बहादुरी से अंपायर के तौर पर वापसी की।

[यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है]

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios