Asianet News HindiAsianet News Hindi

Fact Check. भारत में कोरोना के मरीज न करवाएं टेस्ट; मास्क पहनना है घातक, डॉक्टर ने दी चेतावनी

सोशल मीडिया पर इंग्लिश में ये मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। डॉक्टर का नाम लेकर कहा गया कि भारत में कोरोना को लेकर लोग भ्रम में है। इतनी आबादी के मरीजों का टेस्ट करना मुश्किल है इसलिए हर दूसरा शख्स मामूली फ्लू होने पर टेस्ट करवाने न जाए।

fake audio clip attributed to dr devi shetty not getting test for coronavirus viral kpt
Author
New Delhi, First Published Mar 20, 2020, 3:57 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च रविवार को जनता कर्फ्यू लगा दिया है। कोरोना के भारत में संक्रमित लोगों की संख्या 193 पार कर गई है। इसके साथ ही सोशल मीडिया पर एक अॉडियो वायरल हो रहा है। नारायण हेल्थ के चेयरमैन और संस्थापक डॉ देवी शेट्टी के नाम ये Audio जमकर वायरल है जिसमें वो भारत में कोरोना के मरीजों को संबोधित कर रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि देवी शेट्टी ने इंडिया में कोरोना मरीजों को टेस्ट न करवाने की चेतावनी दी है। फैक्ट चेकिंग में आइए जानते हैं कि आखिर सच्चाई क्या है? 

सोशल मीडिया पर इंग्लिश में ये मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। डॉक्टर का नाम लेकर कहा गया कि भारत में कोरोना को लेकर लोग भ्रम में है। इतनी आबादी के मरीजों का टेस्ट करना मुश्किल है इसलिए हर दूसरा शख्स मामूली फ्लू होने पर टेस्ट करवाने न जाए।

वायरल पोस्ट क्या है? 

COVID-19 के प्रकोप के मद्देनजर 18 मार्च के आसपास चेन्नई के डॉ शेट्टी के नाम और फोटो के साथ चार मिनट की एक ऑडियो क्लिप वायरल हो गई है। वायरल क्लिप में व्यक्ति कहता है, "हर कोई जिसके पास कोरोनोवायरस है या इसके बारे में संदेह है, उसे परीक्षण करवाने के लिए नहीं जाना चाहिए।" ऑनलाइन वायरल ऑडियो क्लिप के कई वीडियो भी उपलब्ध हैं जिसपर डॉक्टर की तस्वीर लगी है।

 

पोस्ट में क्या दावा किया जा रहा है? 

ऑडियो क्लिप के साथ दावा किया जा रहा है कि चेन्नई के इस डॉक्टर ने भारत में कोरोना वायरस के मरीजों के लिए खास मैसेज दिया है। ये बहुत कारगर जानकारी है। इस मैसेज से भारत में कोरोना वायरस के मरीज खुद का परीक्षण कर सकते हैं सबको टेस्ट करवाने नहीं जाना है। मैसेज में शख्स कहता है कि चेहरे पर मास्क लगाना भा घातक है। 

दावे की सच्चाई क्या है? 

दरअसल 16 मार्च को देवी शेट्टी ने टाइम ऑफ के लिए एक लेख लिखा था, जिसका शीर्षक अपने परिवार को कोरोनावायरस से कैसे बचाएं, इसके बाद से ही उनके नाम से ये क्लिप वायरल कर दी गई। खुद नारायण अस्पताल ने इस मैसेज और क्लिप को खारिज किया है। नारायण हेल्थ के आधिकारिक फेसबुक पेज ने कर्नाटक मेडिकल एसोसिएशन के पोस्ट पर टिप्पणी की और कहा, “कृपया ध्यान दें कि यह ऑडियो क्लिप नारायण हेल्थ के अध्यक्ष और संस्थापक डॉ देवी शेट्टी की नहीं है।"

fake audio clip attributed to dr devi shetty not getting test for coronavirus viral kpt

नतीजा- 

डॉक्टर शेट्टी ने खुद इस क्लिप को फर्जी बताया। सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस को लेकर कई तरह की फेक खबरें फैलाई जा रही हैं। इन पर भरोसा करने से बचें। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios