Asianet News Hindi

लॉकडाउन में शापिंग मॉल में रखे चमड़े के सामान हो सकते हैं जानलेवा, जानें क्या है इस वायरल तस्वीर का सच

मेसेज में लोगों को चेतावनी देते हुए कहा गया है कि लॉकडाउन खुलने के बाद कुछ वक़्त तक वो मॉल्स में न जाएं। लिखा है, “सोचिये जब मॉल खुलेंगे तो डक्ट्स में मौजूद फ़ंगस मॉल के बंद वातावरण में घूमता रहेगा। यहां से वो हमारे सांस लेने वाले सिस्टम में घुसेगा। इससे भयंकर इन्फ़ेक्शन हो सकते हैं।

Leather items kept in malls in lockdown can be fatal what is the truth of this viral picture kpl
Author
Delhi, First Published May 21, 2020, 9:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली . बीते कुछ दिनों में एक व्हाट्सऐप मेसेज ख़ूब वायरल हुआ है जिसमें बैग, जूते बेल्ट जैसे चमड़े के सामानों की तस्वीर साथ में है। वायरल हो रहे मेसेज का दावा है कि ये तस्वीरें फ़ेमस शॉपिंग स्टोर शॉपर्स स्टॉप से हैं। इस मेसेज में लोगों को चेतावनी देते हुए कहा गया है कि लॉकडाउन खुलने के बाद कुछ वक़्त तक वो मॉल्स में न जाएं। लिखा है, “सोचिये जब मॉल खुलेंगे तो डक्ट्स में मौजूद फ़ंगस मॉल के बंद वातावरण में घूमता रहेगा। यहां से वो हमारे सांस लेने वाले सिस्टम में घुसेगा। इससे भयंकर इन्फ़ेक्शन हो सकते हैं। ”

क्या है वायरल मैसेज 
बीते दिनों सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीरों में चमड़े के सामानों पर लगे खतरनाक फंगस को लेकर चेतावनी दी जा रही है। यूजर्स कह रहे हैं कि लॉकडाउन के बाद भी इस शापिंग माल में जाने पर खतरनाक फंगस की चपेट में आ सकते हैं। यूजर्स का कहना था कि लॉकडाउन में ये माल बंद हैं । ऐसे में फंगल वहां की हवा में घूम रहे होंगे। खुलने के बाद वहां जाने से खतरनाक वायरस फ़ैल सकता है। 

फैक्ट चेक 
मेसेज के साथ वायरल हो रही 7 तस्वीरों में से 1 को रिवर्स इमेज सर्च करने पर यूट्यूब पर चाइना ग्लोबल टेलिविज़न नेटवर्क (CTNG) का एक वीडियो और एक आर्टिकल मिला। 
CTNG के इस वीडियो में हमें मेसेज के साथ वायरल हो रहीं सातों तस्वीरें मिलीं। 12 मई को छपे आर्टिकल के मुताबिक़ ये तस्वीरें मलयेशिया के मेत्रोजय सेंटर की हैं. COVID-19 से जुड़े लॉकडाउन के चलते इस मॉल को 18 मार्च से बंद कर दिया गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ ह्यूमिडिटी और एयर कंडिशनिंग बंद होने के कारण चमड़े के सामान पर फ़ंगस लग गया था। 
इस घटना को एक और विदेशी न्यूज़ वेबसाईट ने दिखाया था। उन्होंने ये भी बताया कि सिनेमा हॉल में सीट्स और कारपेट पर भी यूं ही फ़ंगस मिला था क्यूंकि ये सब कुछ 2 महीनों से बंद पड़ा हुआ था।

 

ये निकला नतीजा 

फैक्ट चेक में ये सामने आया कि ये तस्वीरें चमड़े के प्रोडक्ट्स की ही हैं जो कि लॉकडाउन में दुकानों के बंद होने के कारण खराब हुईं लेकिन इनका इंडिया से कोई रिश्ता नहीं है। ये मलयेशिया के मेत्रोजय सेंटर में शॉपर्स स्टॉप की तस्वीरें हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios