नई दिल्ली. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के सामने एक मदरसा शिक्षक को भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला। वीडियो को कई पत्रकारों ने भी शेयर किया है। लेकिन वीडियो के साथ किया जा रहा दावा फेक है।

वायरल न्यूज में क्या है?
 

वायरल वीडियो में दिख रहा है कि भीड़ एक शख्स को बुरी तरह से पीट रही है। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है यह पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के सामने का है, जहां एक मदरसा शिक्षक को भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला। पोस्ट में यह भी लिखा गया कि दिल्ली पुलिस ने लल्लन और सरफराज नामक दो लोगों को इस घटना में शामिल होने के संदेह में गिरफ्तार किया।

वायरल न्यूज की पड़ताल
 

- वायरल वीडियो को ध्यान से देखने पर एक बोर्ड दिखता है, जिसपर  'सारा होटल बार एंड रेस्तरां' लिखा हुआ है। जब गूगल पर इस रेस्टोरेंट को खोजा गया तो तो वो मेरठ का निकला। 

- इस घटना के बारे में दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त डीसीपी हरेंद्र कुमार सिंह से बात की गई। उनसे पूछा गया कि क्या वायरल वीडियो मदरसा शिक्षक की पिटाई का है। उन्होंने कहा, यह वीडियो मेरठ का है। 

- गूगल पर 'Mob thrashed man in Meerut' सर्च किया गया तो बिजनेस स्टैंडर्ड और महाराष्ट्र टाइम्स सहित कई जगहों पर यह वायरल वीडियो मिला। 

- इन जगहों पर छपी खबर के मुताबिक शख्स ने चलती बस में लड़की से छेड़छाड़ की। जब बस रुकी तो लड़की ने अपने परिवारवालों को बता दिया। इसके बाद उन्होंने उस आदमी की पिटाई की। वह शख्स अब पुलिस की गिरफ्त में है। 

निष्कर्ष 
जो वीडियो ट्वीट किया गया है वह उत्तर प्रदेश के मेरठ का है न कि पुरानी दिल्ली का। चलती बस में एक लड़की से छेड़छाड़ करने के आरोप में उग्र भीड़ द्वारा उस व्यक्ति की बेरहमी से पिटाई की गई थी। लेकिन वीडियो के साथ जो लिखा गया है वो सच है। एक मदरसा शिक्षक को पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के पास दुकानदारों ने सोमवार रात (26 अगस्त, 2019) को पीटा था। विवाद हेडफोन की कीमत को लेकर हुआ था।