नई दिल्ली. सोशल मीडिया पर एक लड़की का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि लड़की के साथ लव जिहाद किया गया। उसके साथ मारपीट की गई। साथ में लिखा गया है कि यह बहुत सेक्युलर बनती थी और अब खुद ही लव जिहाद की शिकार बन गई। 

वायरल न्यूज में क्या है?

वायरल पोस्ट में लिखा है, "#बहुतबहुत_बधाई हो, एक और मोहतरमा लव जिहाद में गईं। इनको मारा पीटा गया पेसाब पिलाई गई। ये सेक्युलर थी और बोलती थी ये बहुत अच्छे होते है tik tok पर सभी मुस्लिमों को करती थी फॉलो, वहीं से इन्हें फंसाया गया। 7 लड़कों ने।"

 

वायरल वीडियो की पड़ताल

- वायरल पोस्ट की पड़ताल करने के लिए वीडियो से स्क्रीन शॉट लेकर उसे गूगल पर रिवर्स इमेज में सर्ज किया गया। हमें पाकिस्तान के पत्रकार इकरार उल हसन सईद का एक ट्वीट मिला। पोस्ट उर्दू में लिखी गई थी, लेकिन वीडियो यही था। उर्दू में लिखा था, "यह वीडियो काफी दर्दनाक है। लड़की ने अपने पति का नाम अली जबेर मोती बताया है। मैं लड़की कि पहचान नहीं बता सकता।"

- इस ट्वीट के बाद हसन का एक और ट्वीट मिला, जिसमें उन्होंने लड़की के पति अली जबेर मोती के खिलाफ दर्ज एफआईआर की तस्वीरें शेयर की। इन तस्वीरों के साथ उन्होंने कैप्शन में पुलिस थाने का नाम दरखशान कराची बताया है।

- ट्विटर पर जबेर मोती के नाम से सर्चिंग की गई तो इस घटना से जुड़े और भी कई पोस्ट मिले। इसमें एक ट्वीट पाकिस्तान के राजनीतिज्ञ इरुम अजीम फारूकी का था। उन्होंने पोस्ट में लिखा था अली जबेर, जबेर मोती नामक शख़्स का बेटा है। जबेर मोती पहले से ही ड्रग स्मगलिंग के आरोप में यूके की जेल में बंद है और एफबीआई की वॉटेड लिस्ट में है।    

- एक ट्वीट इस्लामाबाद में इटली के राजदूत का मिला। राजदूत स्टेफनो पोंटेकारवो ने लिखा, "@इटलीइनकराची से खबर। एफआईआर दर्ज होगयी है, लेकिन पति अभी भी फरार है। जल्दी गिरफ्तारी हो जाएगी। लड़के की मां गिरफ्तार कर ली गयी है। पीड़ित अपनी मां के पास पहुंच गयी है एवं सुरक्षित है। @इटलीइनकराची पीड़ित से संपर्क में है। कराची पुलिस का धन्यवाद। 

निष्कर्ष 
वीडियो का भारत से कोई लेना देना नहीं है। यह कराची का है, जहां एक पत्नी को अपने पति के खिलाफ शिकायत करते हुए दिखाया गया है। यह दावा झूठा है कि महिला टिक टॉक के जरिए एक मुस्लिम लड़के से मिली और उससे शादी कर ली।