Asianet News Hindi

जीतन राम मांझी ने इन 6 प्रत्याशियों दिया टिकट, समधन, दामाद और खुद भी लड़ेंगे इस सीट से चुनाव

First Published Oct 4, 2020, 3:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar) ।  आरजेडी (RJD) के महागठबंधन का साथ छोड़कर जेडीयू (JDU) के साथ दोस्ती करने वाले पूर्व सीएम जीतन राम मांझी  (Former CM Jeetan Ram Manjhi) अपने परिवार को राजनीति में सेट करने में जुटे हुए हैं। वे इस बार विधानसभा चुनाव (Assembly elections) में अपने ही परिवार के लोगों को ज्यादा से ज्यादा चुनाव लड़ाने की कोशिश कर रहे हैं। इस बीच आज उनकी पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा(Hindustani Awam Morcha) ने अपने 6 सीटों के लिए प्रत्याशियों के नाम का चयन किया है। इसमें तीन सीटों पर मांझी के ही परिवार के सदस्य चुनाव लड़ेंगे, जिसमें उनकी समधन और दामाद शामिल हैं। 

हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के मुताबिक इमामगंज से जीतन राम मांझी, बाराचट्टी से ज्योति देवी जो कि मांझी की समधीन हैं भी चुनाव लड़ेंगी। मखदुमपुर सीट से उनके दामाद देवेंद्र मांझी चुनाव लड़ेंगे। इनके अलावा कुटुंबा सीट से अजय भुइंया, कसबा से राजेंद्र यादव और टेकारी सीट से अनिल सिंह चुनाव लड़ेंगे।

हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के मुताबिक इमामगंज से जीतन राम मांझी, बाराचट्टी से ज्योति देवी जो कि मांझी की समधीन हैं भी चुनाव लड़ेंगी। मखदुमपुर सीट से उनके दामाद देवेंद्र मांझी चुनाव लड़ेंगे। इनके अलावा कुटुंबा सीट से अजय भुइंया, कसबा से राजेंद्र यादव और टेकारी सीट से अनिल सिंह चुनाव लड़ेंगे।


बताते चले कि पेशे से इंजीनियर रहे देवेंद्र मांझी अपने ससुर जीतन राम मांझी के मुख्यमंत्री काल में आप्तसचिव भी रह चुके हैं। उन्होंने कहा है कि मैंने 25 साल उनके साथ रहकर राजनीति सीखा है।

(फाइल फोटो)


बताते चले कि पेशे से इंजीनियर रहे देवेंद्र मांझी अपने ससुर जीतन राम मांझी के मुख्यमंत्री काल में आप्तसचिव भी रह चुके हैं। उन्होंने कहा है कि मैंने 25 साल उनके साथ रहकर राजनीति सीखा है।

(फाइल फोटो)


जीतन राम मांझी कहते हैं कि जब 8वीं और 9वीं पास लोग आगे बढ़ाए जा सकते हैं तो इंजीनियरिंग पास को आगे बढ़ाने में क्या दिक्कत है? क्या उसको परिवारवाद कहा जाएगा? वे चाहते हैं कि मखदुमपुर से उनके परिवार का सदस्य चुनाव लड़े, इसलिए वो अपने इंजीनियर दामाद देवेंद्र मांझी को चुनाव लड़ाना चाहते हैं।
(फाइल फोटो)


जीतन राम मांझी कहते हैं कि जब 8वीं और 9वीं पास लोग आगे बढ़ाए जा सकते हैं तो इंजीनियरिंग पास को आगे बढ़ाने में क्या दिक्कत है? क्या उसको परिवारवाद कहा जाएगा? वे चाहते हैं कि मखदुमपुर से उनके परिवार का सदस्य चुनाव लड़े, इसलिए वो अपने इंजीनियर दामाद देवेंद्र मांझी को चुनाव लड़ाना चाहते हैं।
(फाइल फोटो)


खबर है कि जीतन राम मांझी पार्टी बिहार में जनता दल यूनाइटेड के कोटे से 6 या सात सीटों पर चुनाव लड़ रही है। इनमें 6 प्रत्याशियों की सूची जारी भी कर दी गई, जिसमें जीतन राम मांझी के परिवार के तीन सदस्यों को टिकट दिया गया है। 
(फाइल फोटो)


खबर है कि जीतन राम मांझी पार्टी बिहार में जनता दल यूनाइटेड के कोटे से 6 या सात सीटों पर चुनाव लड़ रही है। इनमें 6 प्रत्याशियों की सूची जारी भी कर दी गई, जिसमें जीतन राम मांझी के परिवार के तीन सदस्यों को टिकट दिया गया है। 
(फाइल फोटो)


पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने दो दिन पहले कहा था कि नीतीश कुमार बिहार के पक्ष में काम कर रहे हैं, इस कारण मैं एनडीए में आया हूं। महागठबंधन में कोऑर्डिनेशन की कमी है और तेजस्वी कभी भी नीतीश कुमार का विकल्प नहीं हो सकते हैं। इतना ही नहीं उन्होंने वह यह भी कह रहे हैं कि इस बार विधानसभा चुनाव 2020 में एनडीए 220 सीट जीतेगी।
(फाइल फोटो)


पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने दो दिन पहले कहा था कि नीतीश कुमार बिहार के पक्ष में काम कर रहे हैं, इस कारण मैं एनडीए में आया हूं। महागठबंधन में कोऑर्डिनेशन की कमी है और तेजस्वी कभी भी नीतीश कुमार का विकल्प नहीं हो सकते हैं। इतना ही नहीं उन्होंने वह यह भी कह रहे हैं कि इस बार विधानसभा चुनाव 2020 में एनडीए 220 सीट जीतेगी।
(फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios