Asianet News Hindi

किसान बिल का विरोध कर रहे थे पप्पू यादव के कार्यकर्ता, दौड़ाकर पीटे गए; कांग्रेस ने ऐसे किया चुनाव का विरोध

First Published Sep 26, 2020, 11:22 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। बिहार में चुनाव आयोग ने 243 विधानसभा सीटों (Bihar Assembly Polls 2020) के लिए तीन चरण में चुनाव की घोषणा कर दी है। 10 नवंबर को नतीजे आएंगे। उससे पहले एनडीए (NDA) और विपक्षी दलों के बीच संघर्ष तेज हो गया है। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें किसान बिल का विरोध कर रहे पप्पू यादव (Farmers Bill Protest In Patna) की जन अधिकार पार्टी (JAP) के कार्यकर्ता सड़क पर पिटते दिख रहे हैं। पप्पू यादव ने वीडियो साझा कर बीजेपी (BJP) पर गुंडागर्दी का  आरोप लगाया है। हालांकि बीजेपी ने JAP कार्यकर्ताओं पर दफ्तर में घुसकर नारेबाजी-प्रदर्शन और उकसाने का आरोप लगाया। 

दरअसल, हाल ही में पास हुए किसानों के बिल के खिलाफ 25 सितंबर को बिहार समेत समूचे देश में विपक्षी पार्टियों ने बंद और विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया था। पटना में भी विपक्षी विरोध कर रहे थे। इसमें पूर्व सांसद पप्पू यादव (Pappu Yadav) की (JAP) के कार्यकर्ता भी शामिल थे। 

दरअसल, हाल ही में पास हुए किसानों के बिल के खिलाफ 25 सितंबर को बिहार समेत समूचे देश में विपक्षी पार्टियों ने बंद और विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया था। पटना में भी विपक्षी विरोध कर रहे थे। इसमें पूर्व सांसद पप्पू यादव (Pappu Yadav) की (JAP) के कार्यकर्ता भी शामिल थे। 

JAP के विरोध प्रदर्शन में पूर्व विधायक रामचंद्र यादव (MLA Ramchandra Yadav) भी एक गाड़ी पर बैनर और लाउडस्पीकर के साथ विरोध कर रहे थे। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में JAP कार्यकर्ताओं को लाठी डंडे से पीटते देखा जा सकता है। पिटाई के दौरान कुछ कार्यकर्ता सड़क पर भाग रहे हैं और उनके पीछे पड़े लोग दौड़ाकर पीटते दिख रहे हैं। हालांकि पीटने वाला कौन है और भागने वाला कौन है इस बारे में साफ-साफ कुछ नहीं कहा जा सकता। 
 

JAP के विरोध प्रदर्शन में पूर्व विधायक रामचंद्र यादव (MLA Ramchandra Yadav) भी एक गाड़ी पर बैनर और लाउडस्पीकर के साथ विरोध कर रहे थे। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में JAP कार्यकर्ताओं को लाठी डंडे से पीटते देखा जा सकता है। पिटाई के दौरान कुछ कार्यकर्ता सड़क पर भाग रहे हैं और उनके पीछे पड़े लोग दौड़ाकर पीटते दिख रहे हैं। हालांकि पीटने वाला कौन है और भागने वाला कौन है इस बारे में साफ-साफ कुछ नहीं कहा जा सकता। 
 

लेकिन ट्विटर पर वीडियो साझा करते हुए पप्पू यादव ने आरोप लगाया- "किसानों के लिए आंदोलन कर रहे हमारे माननीय पूर्व विधायक रामचंद्र यादव जी पर बीजेपी के गुंडों के हमले का करारा जवाब देगी बिहार की जनता।" वीडियो बीजेपी दफ्तर के सामने का बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि दोनों पक्षों में झड़प तब शुरू हुई जब JAP कार्यकर्ताओं का ग्रुप बीजेपी दफ्तर के सामने पहुंचा। 

लेकिन ट्विटर पर वीडियो साझा करते हुए पप्पू यादव ने आरोप लगाया- "किसानों के लिए आंदोलन कर रहे हमारे माननीय पूर्व विधायक रामचंद्र यादव जी पर बीजेपी के गुंडों के हमले का करारा जवाब देगी बिहार की जनता।" वीडियो बीजेपी दफ्तर के सामने का बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि दोनों पक्षों में झड़प तब शुरू हुई जब JAP कार्यकर्ताओं का ग्रुप बीजेपी दफ्तर के सामने पहुंचा। 

बीजेपी ने आरोप लगाया है कि दफ्तर के गेट पर खड़े होकर JAP कार्यकर्ता नारेबाजी कर उकसा रहे थे। पार्टी के मीडिया प्रभारी राजेश झा (Rajesh Jha) ने कहा- अगर कोई हमारे घर में घुसकर हमला करेगा तो कार्यकर्ता उसका जवाब देंगे ही। उन्होंने कहा- विरोध करने की इजाजत है मगर इसका यह मतलब नहीं कि किसी के दफ्तर में विरोध करेंगे। उधर, आरजेडी विधायक तेजप्रताप यादव ने तंज़ कसते हुए कहा कि जो बीजेपी दफ्तर से गुजर रहे हैं वो अपने पास लाठी डंडे भी रखें। 

बीजेपी ने आरोप लगाया है कि दफ्तर के गेट पर खड़े होकर JAP कार्यकर्ता नारेबाजी कर उकसा रहे थे। पार्टी के मीडिया प्रभारी राजेश झा (Rajesh Jha) ने कहा- अगर कोई हमारे घर में घुसकर हमला करेगा तो कार्यकर्ता उसका जवाब देंगे ही। उन्होंने कहा- विरोध करने की इजाजत है मगर इसका यह मतलब नहीं कि किसी के दफ्तर में विरोध करेंगे। उधर, आरजेडी विधायक तेजप्रताप यादव ने तंज़ कसते हुए कहा कि जो बीजेपी दफ्तर से गुजर रहे हैं वो अपने पास लाठी डंडे भी रखें। 

उधर, विपक्ष ने बिहार में चुनाव की तारीखों के ऐलान का स्वागत किया, मगर कोरोना महामारी के बीच चुनाव पर सवाल भी उठाए हैं। कांग्रेस (Congress) के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल (Shakti Singh Gohil) ने आशंका जताई कि चुनाव कोरोना फैलने की वजह न बन जाए। उन्होंने कोरोना पर नीतीश सरकार की भूमिका को लेकर भी सवाल उठाए। दिल्ली में गोहिल ने कहा कि जनता जेडीयू-बीजेपी (BJP-JDU) सरकार को बदलने के लिए तैयार है। 

उधर, विपक्ष ने बिहार में चुनाव की तारीखों के ऐलान का स्वागत किया, मगर कोरोना महामारी के बीच चुनाव पर सवाल भी उठाए हैं। कांग्रेस (Congress) के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल (Shakti Singh Gohil) ने आशंका जताई कि चुनाव कोरोना फैलने की वजह न बन जाए। उन्होंने कोरोना पर नीतीश सरकार की भूमिका को लेकर भी सवाल उठाए। दिल्ली में गोहिल ने कहा कि जनता जेडीयू-बीजेपी (BJP-JDU) सरकार को बदलने के लिए तैयार है। 

गोहिल ने एनडीए को झूठ की बुनियाद पर टिका गठबंधन बताया। उन्होंने कहा- जनता इस बार झांसे में नहीं आएगी। चुनाव बाद बिहार में सहयोगी दलों के साथ महागठबंधन की सरकार बनेगी। 

गोहिल ने एनडीए को झूठ की बुनियाद पर टिका गठबंधन बताया। उन्होंने कहा- जनता इस बार झांसे में नहीं आएगी। चुनाव बाद बिहार में सहयोगी दलों के साथ महागठबंधन की सरकार बनेगी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios